scorecardresearch
 

इस तारीख से पहले आ सकता है 'ग्रेट इंडियन आईपीओ', जानें क्या है सरकार का प्लान

LIC IPO Latest News: रिटेल इंवेस्टर्स लंबे समय से LIC के आईपीओ का इंतजार कर रहे हैं. ये इंतजार जल्द खत्म हो सकता है. ताजा रिपोर्ट्स की मानें तो ये आईपीओ जल्द आ सकता है.

X
LIC देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी है LIC देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 12 मई से पहले आ सकता है ऑफर
  • विनिवेश लक्ष्य के लिए जरूरी

LIC के आईपीओ (LIC IPO) का लंबे समय से चल रहा इंतजार जल्द खत्म हो सकता है. देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी का इनिशियल पब्लिक ऑफर (LIC IPO) अगले महीने आ सकता है. न्यूज एजेंसी ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में ये बात कही गई है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत सरकार मई में LIC का करीब 50,000 करोड़ रुपये का आईपीओ ला सकती है. इस रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि सरकार देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी की सात फीसदी हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर रही है.

12 मई से पहले आ सकता है ऑफर

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार शेयर बाजार में लिस्टिंग के जरिए LIC में अपनी सात फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार की कोशिश मार्केट रेगुलेटर सेबी की मंजूरी की मियाद खत्म होने से पहले LIC का पब्लिक ऑफर लाने की है. सेबी की मंजूरी की मियाद 12 मई को समाप्त हो जाएगी. अगर इस तारीख तक आईपीओ नहीं आता है तो कंपनी को सेबी से दोबारा मंजूरी लेनी होगी. 

विनिवेश लक्ष्य के लिए जरूरी

LIC का आईपीओ केंद्र सरकार के विनिवेश लक्ष्य (Disinvestment Target) के लिहाज से काफी अहम है. इसकी वजह ये है कि मार्केट अनुकूल नहीं होने के कारण एलआईसी के आईपीओ में देरी की वजह से पिछले वित्त वर्ष में भी सरकार संशोधित विनिवेश लक्ष्य से पिछड़ गई थी. 

सरकार चाहती है इतना वैल्यूएशन

बकौल रिपोर्ट्स, सरकार और उसके एडवाइजर LIC के इम्बेडेड वैल्यू से 1.25-1.5 गुना वैल्यूएशन चाहते हैं. अधिकारी अब भी ऑफर से जुड़ी संभावित शर्तों को लेकर बातचीत कर रहे हैं और फंड जुटाने के टार्गेट में अब भी बदलाव संभव है.

लोग लंबे वक्त से कर रहे हैं LIC IPO का इंतजार

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने फाइनेंशियल ईयर 2021-22 का बजट भाषण पढ़ते हुए LIC का आईपीओ (LIC IPO) लाने का ऐलान किया था. इसके बाद से ही लोग देश की सबसे बड़े इंश्योरेंस कंपनी का शेयर खरीदने के मौका का इंतजार कर रहे हैं. LIC ने 13 फरवरी, 2022 को आईपीओ के लिए ड्राफ्ट हेयरिंग प्रॉस्पेक्ट्स (DRHP) जमा किया था. इसके बाद मार्च में सेबी ने LIC के ड्राफ्ट पेपर को स्वीकृति दे दी थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें