scorecardresearch
 

140 देशों में बिकता है इस कंपनी का कंडोम, लॉकडाउन से डिमांड रह गई आधी

कंपनी सीईओ का कहना है कि पिछले दो साल में उनके कंडोम की बिक्री करीब 40 फीसदी कम हो गई है. उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा कारण लॉकडाउन में घरों में बंद होने के बाद लोगों के द्वारा कंडोम का इस्तेमाल कम कर देना है.

X
घट गई बिक्री (Getty Images) घट गई बिक्री (Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लॉकडाउन के चलते 40 फीसदी घट गई डिमांड
  • कम विकसित देशों में होटल-मोटल बंद होने का असर

कोरोना महामारी के चलते दुनिया भर में लगे लॉकडाउन (Lockdown) और सप्लाई चेन (Supply Chain) में आई रुकावट से कई इंडस्ट्री बर्बाद हो गई. टूरिज्म (Tourism) और हॉस्पिटलिटी (Hospitality) जैसे सेक्टर महामारी के चलते तबाह हो गए. दुनिया के 140 देशों में कंडोम बेचने वाली कंपनी Karex Bhd भी इसकी मार से नहीं बच पाई. पिछले दो साल में दुनिया की सबसे बड़ी कंडोम कंपनी (Condom Company) की बिक्री करीब आधी रह गई है.

दो साल में इतना कम हुआ कंडोम का इस्तेमाल

एशियाई अर्थव्यवस्था पर फोकस्ड मैगजीन Nikkei Asian Review की एक रिपोर्ट में Karex Bhd के सीईओ Goh Miah Kait के हवाले से यह जानकारी दी गई है. कंपनी सीईओ का कहना है कि पिछले दो साल में उनके कंडोम की बिक्री करीब 40 फीसदी कम हो गई है. उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा कारण लॉकडाउन में घरों में बंद होने के बाद लोगों के द्वारा कंडोम का इस्तेमाल कम कर देना है.

हर साल इतने अरब कंडोम बेचती है कंपनी

मलेशियाई कंपनी Karex Bhd अपने ब्रांड नाम से भी कंडोम की बिक्री करती है और अन्य कंपनियों के ब्रांड के लिए थर्ड पार्टी मैन्यूफैक्चरर के रूप में भी काम करती है. यह कंपनी सालाना 5.5 अरब से अधिक कंडोम मैन्यूफैक्चर करती है. यह नजदीकी कंपटीटर कंपनी Thai Nippon Rubber के करीब 2 अरब की मैन्यूफैक्चरिंग से बहुत ज्यादा है. Karex Bhd का सबसे ज्यादा बिकने वाला ब्रांड Durex है, जो अकेले कंडोम की कुल बिक्री में 17 फीसदी हिस्सा रखता है. Karex Bhd के कंडोम दुनिया के 140 देशों में बिकते हैं.

कम विकसित देशों में होटल-मोटल बंद होने का असर

कंपनी के सीईओ Goh Miah Kait ने निक्की के साथ इंटरव्यू में बताया कि कंडोम की बिक्री में गिरावट के पीछे कई कारण जिम्मेदार हैं. विकासशील और कम विकसित देशों में लॉकडाउन के कारण होटल और मोटल आदि बंद रहे, जबकि ऐसी इकोनॉमीज में इंटीमेसी के लिए लोग इन्हीं जगहों पर जाते हैं. लॉकडाउन के चलते परिवार के सभी सदस्य घर में कैद हो गए, जिससे प्राइवेसी की समस्या आई.

सेक्स इंडस्ट्री के बंद होने से हुआ नुकसान

उन्होंने दूसरा कारण सेक्स इंडस्ट्री का बंद हो जाना बताया. Kait की मानें तो कंडोम की सबसे ज्यादा खपत इसी इंडस्ट्री में होती है. कोरोना के चलते जब पाबंदियां लगीं तो इस इंडस्ट्री पर काफी बुरा असर हुआ. कोविड-19 के दौरान सरकारों के द्वारा चलाए जाने वाले कंडोम डिस्ट्रीब्यूशन प्रोग्राम धीमा हुआ, इस फैक्टर ने भी बिक्री गिराने में योगदान दिया.

10 साल में पहली बार हुआ कंपनी को घाटा

Goh Miah Kait ने अंत में मलेशिया में लॉकडाउन के चलते प्लांट बंद होने को भी एक कारण बताया. उन्होंने कहा कि मलेशिया में लॉकडाउन के कारण Karex को जून 2020 में समाप्त हुए वित्त वर्ष में 1 मिलियन रिंगिट (2.4 लाख डॉलर) का नेट लॉस हुआ. कंपनी को नवंबर 2013 में पब्लिक होने के बाद पहली बार कभी घाटे का सामना करना पड़ा. उन्होंने आने वाले समय में कंडोम की मांग में सुधार आने की उम्मीद जाहिर की.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें