scorecardresearch
 

IT स्टॉक्स में कहां लगाएं पैसे? Infosys, TCS या HCL Tech, जानें- एक्सपर्ट कमेंट

रूस-यूक्रेन के बीच जंग, आर्थिक सुस्ती, ग्लोबल मार्केट में उथल-पुथल, तिमाहियों में कमजोर होती कमाई आदि आईटी सेक्टर को लेकर धारणा खराब कर रहे हैं. इस बीच टॉप आईटी कंपनियों ने जून तिमाही का परिणाम जारी कर दिया है. आइए जानते हैं कि इन हालातों को देखते हुए आईटी स्टॉक्स के लिए आने वाले दिन कैसे होंगे.

X
लगातार गिरे हैं आईटी स्टॉक्स
लगातार गिरे हैं आईटी स्टॉक्स

शेयर बाजारों (Share Market) में पिछले कुछ महीनों के दौरान आई गिरावट का सबसे ज्यादा असर आईटी सेक्टर के स्टॉक्स पर देखने को मिला है. भारतीय आईटी कंपनियां भी इससे प्रभावित हुई हैं. आईटी सेक्टर (IT Sector) की बड़ी कंपनियां टीसीएस (TCS), इंफोसिस (Infosys), एचसीएल टेक (HCL Tech), विप्रो (Wipro), टेक महिंद्रा (Tech Mahindra) सभी के शेयरों के भाव अभी गिरे हुए हैं. दूसरी ओर ग्लोबल मार्केट के ऊपर मंदी (Global Recession) का खतरा मंडरा रहा है, जो आईटी कंपनियों के लिहाज से बुरी खबर है. रूस-यूक्रेन जंग, आर्थिक सुस्ती, ग्लोबल मार्केट में उथल-पुथल, कमजोर कमाई आदि आईटी सेक्टर को लेकर धारणा खराब कर रहे हैं. इस बीच टॉप आईटी कंपनियों ने जून तिमाही का परिणाम जारी कर दिया है. आइए जानते हैं कि इन हालातों को देखते हुए आईटी स्टॉक्स के लिए आने वाले दिन कैसे साबित होंगे...

इस तरह गिरे टॉप आईटी स्टॉक्स

पिछले एक साल के दौरान टॉप-3 आईटी कंपनियों टीसीएस, इंफोसिस और एचसीएल टेक के शेयरों में 22 फीसदी तक की गिरावट आई है. इस दौरान टीसीएस का शेयर 18.34 फीसदी टूटा है, जबकि इंफोसिस के शेयरों का भाव 15.33 फीसदी के नुकसान में है. वहीं एचसीएल टेक का शेयर पिछले एक साल में 21.72 फीसदी गिरा है. इस साल की शुरुआत से अब तक की बात करें तो इस दौरान टॉप-3 आईटी स्टॉक्स 30 फीसदी तक डाउन हैं. इस दौरान टीसीएस का शेयर 16.59 फीसदी, इंफोसिस का शेयर 23.54 फीसदी और एचसीएल टेक का शेयर 29.91 फीसदी गिरा है.

आईटी-बेस्ड सूचकांक भी रेड

टॉप आईटी कंपनियों के शेयरों में इस गिरावट का असर आईटी सेक्टर पर बेस्ड सूचकांकों पर भी हुआ है. बीएसई आईटी इंडेक्स इस साल अब तक 25.66 फीसदी गिरा है, जबकि पिछले एक साल के हिसाब से इसमें 18.43 फीसदी की गिरावट आई है. इसी तर्ज पर निफ्टी आईटी इंडेक्स में इस साल अब तक 29 फीसदी की गिरावट आई है. यह स्टॉक पिछले एक साल के दौरान 21 फीसदी के नुकसान में है. तीनों टॉप आईटी कंपनियों का परिणाम भी जून तिमाही में कुछ खास नहीं रहा है, जो आने वाले दिनों में शेयरों के भाव और सूचकांकों को प्रभावित करेगा.

मार्जिन और कम होने का रिस्क

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज (ICICI Securities) की एक रिपोर्ट के अनुसार, 'FY23 की पहली तिमाही में आईटी कंपनियों का EBIT मार्जिन और कम हुआ है. अब आईटी सेक्टर कि टिअर-1 कंपनियों के लिए यह मार्जिन कोविड से पहले के स्तर की तुलना में भी नीचे आ चुका है. कंपनियों ने FY23 की शुरुआत में ही मार्जिन को लेकर अपना अनुमान घटा दिया है. हमारा मानना है कि आईटी सेक्टर में नौकरी छोडड़ने की रफ्तार के बढ़े दबाव  का असर मार्जिन पर भी हो सकता है और अनुमान के निचले दायरे तक गिर सकता है.

एनालिस्टों ने दिया इतना टारगेट

Tips2Trades की को-फाउंडर व ट्रेनर पवित्रा शेट्टी की मानें तो इंफोसिस शेयर का भाव 1,630 रुपये से लेकर 1,700 रुपये तक पहुंच सकता है. इसे 1,445 रुपये के लेवल पर बढ़िया सपोर्ट मिल रहा है. इसी तरह एचसीएल टेक को 900 रुपये पर सपोर्ट मिल रहा है और यह आने वाले दिनों में 1,025-1,150 रुपये तक जा सकता है. Ashika Instituional Equities के लीड एनालिस्ट चिराग कचाडिया ने साल-दर-साल ग्रोथ के मामले में इंफोसिस ने पिछले पांच साल से टीसीएस को मात दी है, ऐसे में मैं इंफोसिस को चुनना पसंद करूंगा. Univest के हेड ऑफ रिसर्च केतन सोनलकर ने इंफोसिस को मिड टर्म में 1,900 रुपये का टारगेट दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें