scorecardresearch
 

विप्रो

विप्रो

विप्रो

विप्रो 

विप्रो लिमिटेड (Wipro Limited) एक भारतीय बहुराष्ट्रीय समूह है (Indian multinational conglomerate) जिसका मुख्यालय बैंगलोर, कर्नाटक में है (Wipro headquarter in Bangalore). इसके विविध व्यवसायों में एफएमसीजी, प्रकाश व्यवस्था, सूचना प्रौद्योगिकी और परामर्श शामिल हैं. फॉर्च्यून इंडिया 500 ने इसे कुल राजस्व के हिसाब से 29वीं सबसे बड़ी भारतीय कंपनी का दर्जा दिया है (29th largest Indian company). यह 221,000 से अधिक कर्मचारियों के साथ भारत में 9वां सबसे बड़ा नियोक्ता भी है (9th largest employer in India).

कंपनी को 29 दिसंबर 1945 को भारत के अमलनेर में मोहम्मद प्रेमजी द्वारा "वेस्टर्न इंडिया प्रोडक्ट्स" के नाम से शुरू किया गया था (Incorporated in Amalner by Mohamed Premji as Western India Products), जिसे "विप्रो" के रूप में जाना जाता है. इसे शुरू में रिफाइंड तेलों के निर्माता के रूप में स्थापित किया गया था (initially manufacturer of vegetable and refined oils). 1966 में, मोहम्मद प्रेमजी की मृत्यु के बाद, उनके बेटे अजीम प्रेमजी ने 21 साल की उम्र में विप्रो के अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाला.

1970 और 1975 के दौरान कंपनी ने अपना ध्यान आईटी और कंप्यूटिंग उद्योग की ओर किया. 7 जून 1977 को कंपनी का नाम वेस्टर्न इंडिया वेजिटेबल प्रोडक्ट्स लिमिटेड से बदलकर विप्रो प्रोडक्ट्स लिमिटेड कर दिया गया. 1982 में, नाम फिर से विप्रो प्रोडक्ट्स लिमिटेड से बदलकर विप्रो लिमिटेड कर दिया गया (Renaming of Wipro). 1988 में विप्रो अमेरिका की जनरल इलेक्ट्रिक के साथ एक संयुक्त उद्यम कंपनी बनी. 1990 में शिशु प्रसाधनों के तहत "संतूर" टैल्कम पाउडर और "विप्रो बेबी सॉफ्ट" को लॉन्च किया. 1995 में, विप्रो ने विदेशी ग्राहकों की परियोजनाओं के लिए एक विदेशी डिजाइन केंद्र, ओडिसी 21 की स्थापना की. उसी साल, विप्रो इन्फोटेक और विप्रो सिस्टम्स को विप्रो के साथ मिला दिया गया. 1999 में, विप्रो ने विप्रो एसर का अधिग्रहण किया, और विप्रो सुपरजीनियस पर्सनल कंप्यूटर (PC) जैसे नए उत्पाद जारी किए (History of Wipro).
 
साल 2000 में, विप्रो न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हुई (Wipro listed in NYSE). फरवरी 2002 में, विप्रो भारत में आईएसओ 14001 प्रमाणित पहली सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी और सेवा कंपनी बन गई. विप्रो 1997-2002 में सबसे तेज धन निर्माता कंपनी थी. 2004 में विप्रो बिलियन डॉलर क्लब में शामिल हो गया (Wipro in billion dollar club). 2012 में, विप्रो ने अमेरिका में 70,000 से अधिक अस्थायी कर्मचारियों को नियुक्त किया. 2012 में, विप्रो ने अपने गैर-आईटी व्यवसायों का विप्रो एंटरप्राइजेज (Wipro Enterprises) नामक एक अलग कंपनी में विलय कर दिया. 

2014 में, विप्रो ने कैलगरी, अल्बर्टा में स्थित एक कनाडाई ऊर्जा और उपयोगिता निगम, एटीसीओ के साथ 10 साल के 1.2 अरब डॉलर के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए. यह विप्रो के इतिहास में सबसे बड़ा सौदा था (Largest deal in Wipro's history). 

विप्रो मार्च 2020 से वर्क फ्रॉम एनीवेयर मॉडल में शिफ्ट हो गया है. इस मॉडल के अनुसार विप्रो के कर्मचारी विप्रो कार्यालय परिसर को छोड़कर दुनिया में कहीं से भी काम कर सकते हैं. भारत में विप्रो के 215,876 कर्मचारी हैं (Work from Anywhere model). 

विप्रो के इक्विटी शेयर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हैं. कंपनी के अमेरिकी डिपॉजिटरी शेयर अक्टूबर 2000 से NYSE में सूचीबद्ध हैं (Wipro Listing and Shareholding).
 

और पढ़ें
Follow विप्रो on:

विप्रो न्यूज़