scorecardresearch
 

Adani airport: जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी अडानी ग्रुप के पास आया, 50 साल की लीज पर मिला

अडानी समूह (Adani Group) ने जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नियंत्रण एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) से हासिल किया. सरकार ने अडानी समूह को 50 साल के लिए यह एयरपोर्ट लीज पर दिया है.

X
अडानी समूह को मिली एयरपोर्ट की कमान (फोटो:AAI) अडानी समूह को मिली एयरपोर्ट की कमान (फोटो:AAI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अडानी समूह करेगा अब एयरपोर्ट का विकास
  • 50 साल के लिए सरकार ने लीज पर दिया

अब जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नियंत्रण भी अडानी समूह (Adani Group) को मिल गया है. अडानी समूह ने सोमवार से इस एयरपोर्ट का नियंत्रण एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) से हासिल किया.

सरकार ने अडानी समूह को 50 साल के लिए यह एयरपोर्ट लीज पर दिया है. एयरपोर्ट के डायरेक्टर जेएस बलहाराने सोमवार को अडानी जयपुर इंटरनेशनल लिमिटेड के चीफ एयरपोर्ट ऑफिसर विष्णु झा को एयरपोर्ट की प्रतीकात्मक चाबी सौंपी. एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक बलहारा ने कहा कि अब जयपुर एयरपोर्ट का ऑपरेशन, मैनेजमेंट और डेवलपमेंट अडानी समूह द्वारा पीपीपी मॉडल पर किया जाएगा. 

एविएशन सेक्टर में पकड़ मजबूत

गौरतलब है कि अडानी ग्रुप के पास छह एयरपोर्ट पहले से ही हैं और इसके साथ ही उसके नियंत्रण में अब सातवां एयरपोर्ट आ गया है. अरबपति कारोबारी गौतम अडानी के Adani Group ने गत जुलाई महीने में ही मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का टेकओवर पूरा किया है. अडानी ग्रुप बीते कुछ सालों से एविएशन सेक्टर में अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है. 

देश के प्रमुख एयरपोर्ट का मैनेजमेंट प्राइवेट हाथों में देने के लिए केन्द्र सरकार ने वर्ष 2019 में बिडिंग मंगवाई थी. तब अडानी ग्रुप को अहमदाबाद, लखनऊ, जयपुर, मंगलुरू, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम के हवाईअड्डों का मैनेजमेंट और ऑपरेशन देने का फैसला हुआ था. समूह की 100% हिस्सेदारी वाली सब्सिडियरी अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (AAHL) ने GMR जैसे बड़े प्लेयर को पछाडते हुए 50 साल के लिए इन एयरपोर्ट को ऑपरेट करने का ठेका हासिल किया था.

इसके बाद अडानी ने मुंबई एयरपोर्ट को संचालित करने वाली कंपनी GVK Group से भी उसका यह कारोबार यानी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (MIAL) खरीद लिया. 

AAHL देश की सबसे बड़ी कंपनी

अडानी समूह की सब्सिडियरी AAHL अब देश की सबसे बड़ी एयरपोर्ट कंपनी बन गई है. जयपुर एयरपोर्ट के मिलने के बाद कंपनी के पास अब कुल 7 एयरपोर्ट का मैनेजमेंट आ गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें