scorecardresearch
 

Air India का प्राइवेटाइजेशन ‘ट्रैक’ पर; 15 सितंबर के बाद तय होगा भविष्य : ज्योतिरादित्य सिंधिया

Air India का विनिवेश कार्यक्रम सही दिशा में आगे बढ़ रहा है. ये कहना है नए नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का, जानें और क्या बोले सिंधिया...

X
Air India का प्राइवेटाइजेशन ‘राइट ट्रैक’ पर (File Air India का प्राइवेटाइजेशन ‘राइट ट्रैक’ पर (File
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 15 सितंबर तक Air India की फाइनेंशियल बिड्स
  • ‘ड्रोन उड़ाने के नियमों का ब्लूप्रिंट भी तैयार’
  • ‘बड़े ड्रोन के लिए पहले से तय होंगे रूट्स’

सरकार Air India के विनिवेश पर सही दिशा में आगे बढ़ रही है. नए नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को ये बात कही. साथ ही उन्होंने देश में ड्रोन उड़ाने के नियम तैयार होने की भी जानकारी दी.

Air India के लिए फाइनेंशियल बिड्स
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यहां संवाददाताओं से एक बातचीत में कहा कि Air India के प्राइवेटाइजेशन की प्रोसेस सही ट्रैक पर है. अभी 15 सितंबर तक इसके लिए फाइनेंशियल बिड्स आनी है. उसके बाद सरकार ही सरकार इसके लिए भविष्य के कदम की जानकारी देगी.

ज्योतिरादित्य सिंधिया को हाल में केन्द्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. वह कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं. उन्हें मोदी मंत्रिमंडल के हालिया विस्तार में नागर विमानन मंत्री का पद सौंपा गया. उनसे पहले मंत्रालय का प्रभार हरदीप सिंह पुरी के पास था.

ड्रोन उड़ाने के नियम बने
पीटीआई की खबर के मुताबिक ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि देश में ड्रोन उड़ाने के नियमों का ‘ब्लूप्रिंट’ तैयार हो गया है. इसे रक्षा और गृह मंत्रालय के साथ बातचीत करने के बाद तैयार किया गया है. देश में ड्रोन उड़ाने के लिए उनका रजिस्ट्रेशन कराना होगा और इनके फ्लायर्स को लाइसेंस जारी किए जाएंगे.

तय होंगे ड्रोन के रूट्स
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अगर बड़े ड्रोन उड़ाने की बात की जाए तो उनके लिए भी रूट पहले से तय होंगे और लोग ड्रोन को सॉफ्टवेयर की मदद से एक निश्चित एरिया में ही उड़ा सकेंगे.

इंदौर, भोपाल, खजुराहो की फ्लाइट्स बढ़ेंगी
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने गृह राज्य मध्यप्रदेश को भी कई सौगात दीं. उन्होंने कहा कि इंदौर, भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर और खजुराहो से फ्लाइट की संख्या बढ़ेगी. अभी इन जगहों से 424 उड़ानें संचालित होती हैं जो 1 सितंबर से बढ़कर 738 हो जाएंगी.

वहीं उड़ान योजना के तहत 2025 तक 100 एयरपोर्ट और 1000 हवाई मार्गों को लाया जाएगा.

ये भी पढ़ें: 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें