scorecardresearch
 

Explainer: दिखने में लगभग एक जैसी, फिर क्यों अलग होती हैं MPV और SUV?

अगर आपका परिवार बड़ा है और आप कोई बड़ी कार खरीदना चाहते हैं, तो संभव है कि आप भी SUV और MPV में कंफ्यूज हो जाएं. ये सामान्य भी है क्योंकि एक तो ये दिखने में काफी समान होती हैं, वहीं अगर आप ऑटो फ्रीक नहीं है तो इनके बीच में अंतर कर पाना थोड़ा मुश्किल काम है. आप की इसी मुश्किल को हम यहां आसान बना देते हैं.

X
Maruti Ertiga है एक MPV Maruti Ertiga है एक MPV
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फैमिली और सिटी कार होती है एक MPV
  • SUV में होती है ऑफ-रोड ड्राइविंग कैपेबिलिटी
  • SUV के मुकाबले MPV का मेंटिनेेंस खर्च कम

अगर आपका परिवार बड़ा है और आप कोई बड़ी कार खरीदना चाहते हैं, तो संभव है कि आप भी SUV और MPV में कंफ्यूज हो जाएं. ये सामान्य भी है क्योंकि एक तो ये दिखने में काफी समान होती हैं, वहीं अगर आप ऑटो फ्रीक नहीं है तो इनके बीच में अंतर कर पाना थोड़ा मुश्किल काम है. आप की इसी मुश्किल को हम यहां आसान बना देते हैं.

दिखने में एक जैसी हैं ये गाड़ियां

सबसे पहले तो ये जान लीजिए कि SUV और MPV ही नहीं, बल्कि गाड़ियों की एक और कैटेगरी Crossover दिखने में लगभग एक जैसी होती है. इनमें काफी समानताएं भी हैं, लेकिन इनके बीच का अंतर भी स्पष्ट है. ऐसे में SUV और MPV का अंतर समझ आप अपने और अपने परिवार के लिए बेहतर गाड़ी का चुनाव कर सकते हैं.

समझें SUV और MPV का अंतर

SUV यानी स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल और MPV यानी मल्टी-पर्पज व्हीकल. जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि SUV ऐसी गाड़ियां होती हैं जिनमें एडवेंचर, स्पोर्ट्स से जुड़ी क्षमताएं होती है. वहीं MPV ऐसी गाड़ियां हैं जो कई काम में उपयोग की जा सकती है. तो अब सवाल ये है कि इनके अंतर को पहचाना कैसे जाए?

SUV कार का सबसे क्लियर फीचर होता है, उनकी ऑफ-रोड ड्राइविंग कैपेबिलिटी. इसी के साथ इनका एक्सटीरियर लुक एग्रेसिव और ग्राउंड क्लियरेंस ऊंचा होता है. ये गाड़ियां अलग-अलग तरह की मौसमी एवं भौगोलिक परिस्थितियों में कुलांछे मारकर भाग सकती हैं.आम तौर पर ये बड़े साइज की कार होती हैं, लेकिन अब मार्केट में मिड-साइज एसयूवी, कॉम्पैक्ट एसयूवी के साथ-साथ माइक्रो एसयूवी भी मौजूद हैं. 

वहीं MPV को एक सिटी कार या फैमिली कार के तौर पर देखें तो सामान्य बात होगी. ये कार एक मिनीवैन की तरह होती हैं जो ज्यादा लोगों या सामान को कैरी करने के हिसाब से डिजाइन होती हैं. पहले इनका एक्सटीरियर सामान्य ही होता था, लेकिन अब Maruti Ertiga, Renault Triber जैसी गाड़ियों ने इसे थोड़ा इंप्रेसिव बनाया है.

आम तौर पर MPV 5-सीटर या 7-सीटर ऑप्शन में आती हैं. इनकी मिड-रो पर कैप्टन सीट का ऑप्शन मिलता है. वहीं थर्ड-रो पर फोल्डेबल सीट होती हैं, जिसकी वजह से एक्स्ट्रा बूट स्पेस मिलता है. इनका ग्राउंड क्लियरेंस फैमिली कार के हिसाब से होता है, यानी कि एक छोटी हाइट का बच्चा भी इसमें आसानी से चढ़ सकता है. इनका इंटीरियर काफी स्पेशियस होता है, खासकर के थर्ड-रो में, जिसके चलते ये एसयूवी को थोड़ा पीछे छोड़ देती हैं , क्योंकि उनमें थर्ड-रो का बड़ा स्पेस टायर-बंप खा जाते हैं.

SUV या MPV में से किसे चुनें?

इस सवाल का जवाब आपकी जरूरत में छिपा है. अगर आप बहुत ज्यादा ऑफ-रोड ट्रैवलिंग नहीं करते हो. शहर के जीवन में आपका वक्त ज्यादा बीतता है या घंटो ट्रैफिक जाम में गुजारना होता है, तो MPV आपके लिए सही विकल्प हो सकता है. वहीं आपका परिवार और जिंदगी इसके उलट है तो आप SUV को चुन सकते हैं.

वहीं आपका बजट क्या है उस पर भी कार खरीदने का निर्णय निर्भर करता है. MPV की कीमत SUV की तुलना में कम होती है. इंडियन मार्केट में 6 से 7 लाख रुपये की कीमत में MPV के बेस मॉडल मिल जाएंगे. जबकि ठीक-ठाक SUV की रेंज 9 लाख से ज्यादा से शुरू होगी. हालांकि Tata ने 5 लाख रुपये की रेंज में Punch लॉन्च करके नई माइक्रो एसयूवी कैटेगरी शुरू की है. इसके अलावा MPV का मेंटिनेंस SUV के मुकाबले काफी कम होता है.

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें