scorecardresearch
 
ऑटो न्यूज़

एक नया प्रयोग...Hydrogen से चलेगी कार, भूल जाएंगे महंगे पेट्रोल-डीजल!

हाइड्रोजन से चलने वाली कार
  • 1/7

जल्द ही बाजार में एक ऐसी कार आने वाली है जो हाइड्रोजन से चलेगी. ये कार पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से होने वाली टेंशन को भुला देगी और हर तरह के मौसम में सरपट भागेगी.

लैंड रोवर पर बेस्ड होगी SUV
  • 2/7

Jaguar Land Rover का कहना है कि वो एक हाइड्रोजन फ्यूल सेल इलेक्ट्रिक व्हीकल (FCEV) पर काम कर रही है. ये वीकल Land Rover Defender एसयूवी पर बेस्ड होगी.

ऐसे काम करती है हाइड्रोजन कार
  • 3/7

FCEV में हाइड्रोजन से इलेक्ट्रिसिटी जेनरेट की जाती है जो कार में लगी इलेक्ट्रिक मोटर को पावर देती है. ये बैटरी से चलने वाले इलेक्ट्रिक व्हीकल का एक विकल्प है. इस तरह ये ‘जीरो एमिशन’ व्हीकल बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम है.

सर्द या गरम इलाकों की गाड़ियों वाली टेक्नोलॉजी
  • 4/7

FCEV कम तापमान में रेंज की कमी को पूरा करती हैं. ऐसे में इनकी हाई एनर्जी डेंसिटी और तेजी से रीफ्यूलिंग होने की क्षमता के चलते ये ज्यादा गर्म या सर्द इलाकों में चलने वाली गाड़ियों के लिए अच्छी टेक्नोलॉजी है. वहीं ज्यादा पावरफुल या बड़े वाहनों के लिए भी ये एकदम मुफीद है.

इसी साल शुरू होगी टेस्टिंग
  • 5/7

JLR ने अपने हाइड्रोजन व्हीकल की टेस्टिंग इसी साल की शुरू करने का लक्ष्य रखा है. ये उसकी पिछले महीने घोषित Reimagine Strategy का हिस्सा है.

2036 तक ‘जीरो एमिशन’ वाहन का लक्ष्य
  • 6/7

कंपनी 2036 तक जीरो एमिशन वाले वाहन लाने का लक्ष्य लेकर चल रही है. कंपनी के हाइड्रोजन एंड फ्यूल सेल के प्रमुख राल्फ क्लाग का कहना है कि हम जानते हैं कि फ्यूचर में बैटरी व्हीकल के साथ-साथ हाइड्रोजन भी ऑटो इंडस्ट्री में एक अहम रोल अदा करेगी. इसलिए हम जीरो एमिशन के लक्ष्य को लेकर चल रहे हैं.

2018 से अब तक दोगुनी हो चुकी है FCEV
  • 7/7

ऑटो विशेषज्ञों का कहना है कि दुनियाभर में FCEV गाड़ियों की संख्या 2018 की तुलना में दोगुनी हो चुकी है. वहीं हाइड्रोजन रीफ्यूलिंग स्टेशन की संख्या भी 20% से अधिक बड़ी है. 2030 तक दुनियाभर में FCEV गाड़ियों की संख्या के 1 करोड़ और रीफ्यूलिंग स्टेशन के 10,000 की संख्या को पार कर जाने का अनुमान है.