scorecardresearch
 

Aloe Vera Cultivation: एलोवेरा की खेती बदल रही है झारखंड के इन ग्रामीणों की किस्मत, PM मोदी ने भी की तारीफ

Aloe Vera Farming: रांची से करीब 15 किलोमीटर दूर नगरी प्रखंड का देवरी गांव एलोवेरा विलेज (Aloe Vera Village) के नाम से मशहूर हो रहा है. यहां किसान बड़े पैमाने पर एलोवेरा की खेती में हाथ आजमा रहे हैं. किसानों से प्रभावित होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस गांव का जिक्र अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में कर चुके हैं.

Aloe Vera Cultivation Aloe Vera Cultivation
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2018 में गांव वालों ने शुरू की थी एलोवेरा की खेती
  • पीएम मोदी भी 'मन की बात' में कर चुके हैं तारीफ

Aloe Vera Cultivation: भारतीय किसानों के बीच में परंपरागत खेती का चलन ज्यादा है. लेकिन पिछले कुछ सालों में किसान पहले से ज्यादा जागरूक हो रहे हैं. यही वजह है कि उन्होंने मुनाफे वाली फसलों की खेती की तरफ अपना रूख किया है. रांची से करीब 15 किलोमीटर दूर नगरी प्रखंड का देवरी गांव एलोवेरा विलेज (Aloe Vera Village) के नाम से मशहूर हो रहा है. यहां किसान बड़े पैमाने पर एलोवेरा की खेती में हाथ आजमा रहे हैं. किसानों से प्रभावित होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस गांव का जिक्र अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में कर चुके हैं.

40 परिवार अपना चुके हैं एलोवेरा की खेती

गांव की मुखिया मंजू कश्यप बताती हैं कि साल 2018 में कई ग्रामीणों ने एलोवेरा खेती की ट्रेनिंग लेकर इसकी खेती शुरू की. हर्बल बाजार मे एलोवेरा की मांग बढ़ने से कई और किसान इसकी खेती से जुड़ गए. फिलहाल, गांव के लगभग 40 परिवार इसे व्यवसाय के रूप मे अपना चुके हैं.

Aloe Vera Cultivation

एलोवेरा की खास बात ये है कि उसके एक पौधे से कई बार पत्तियां निकाली जा सकती है. इन पत्तियों की अच्छी-खासी कीमत मिल जाती है. यही कारण है दूसरे गांवों के किसान भी अब एलोवेरा की खेती की ओर रूख कर रहे हैं. 

लॉकडाउन में मुनाफा

मुखिया मंजू कश्यप के पति बताते हैं कि कोरोना के दौरान बाजार में सैनिटाइजर और कॉस्मेटिक्स की मांग बढ़ गई थी. इस दौरान हमने बड़े पैमाने पर एलोवेरा की खेती शुरू की. हर्बल कंपनियों ने हमसे संपर्क कर एलोवेरा की पत्तियों को अच्छे दाम पर खरीद लिया. वे आगे बताते हैं कि किसानों ने अब प्रायोगिक तौर पर एलोवेरा के साथ-साथ तुलसी, बिच्छू बूटी, गिलोय और चिरैता जैसे अन्य औषधीय पौधों की खेती में हाथ आजमाना शुरू कर दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें