scorecardresearch
 

ग्रामीण भारत

IIM ग्रेजुएट ने कॉर्पोरेट के जॉब ठुकराकर क्यों चुना खेती करना

11 अक्टूबर 2021

BAU के BPD यानी बिज़नेस प्रमोशन एंड डेवलपमेंट के यूनिट डायरेक्टर ने IIM अहमदाबाद से पढ़ने के बावजूद कॉर्पोरेट वर्ल्ड के ऑफर को क्यों ठुकरा दिया. IIM से 2008 में पास आउट होने के बावूजद रांची के सिदार्थ जायसवाल ने बड़े पैकेज का ऑफर छोड़कर किसानों से कदम मिलाकर चलने का फैसला किया और अपनी ज़िंदगी किसानों को शिक्षित करने और उनकी बेहतरी में लगा दी. उनका साफ मानना है कि जब तक देश का किसान विकसित नही होगा देश के विकास की परिकल्पना बेमानी है. देखिए आजतक संवाददाता सत्यजीत कुमार की रिपोर्ट.

Aloe Vera Cultivation

एलोवेरा की खेती बदल रही ग्रामीणों की किस्मत, PM ने की तारीफ

27 सितंबर 2021

Aloe Vera Farming: रांची से करीब 15 किलोमीटर दूर नगरी प्रखंड का देवरी गांव एलोवेरा विलेज (Aloe Vera Village) के नाम से मशहूर हो रहा है. यहां किसान बड़े पैमाने पर एलोवेरा की खेती में हाथ आजमा रहे हैं. किसानों से प्रभावित होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस गांव का जिक्र अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में कर चुके हैं.

Walnut Farming in Jammu & Kashmir

J-K: अखरोट की खेती से चमक रही किसानों की किस्मत, लाखों का मुनाफा

05 सितंबर 2021

Walnut Cultivation in Kashmir: जम्मू-कश्मीर के उधमपुर का पंचारी गांव किसान बहुल क्षेत्र माना जाता है. यहां के किसान पहले पारंपरिक खेती पर निर्भर थे लेकिन पिछले कुछ समय से वह अखरोट की खेती (Walnut Farming) से लाखों का मुनाफा कमा रहे हैं.

Padma Shri Kisan Chachi

पद्मश्री 'किसान चाची' ने समाज के खिलाफ जाकर की खेती, बदली महिलाओं की तकदीर

27 अगस्त 2021

Inspiring Story Of Kisan Chachi: वर्ष 1990 में परंपरागत तरीके से खेती करते हुए वैज्ञनिक तरीके को अपनाकर अपनी खेती-बाड़ी को उन्नत किया. इसके बाद उन्होंने अचार बनाने की शुरुआत की. साल 2000 से उन्होंने घर से ही अचार बनाना शुरू किया जो आज किसान चाची की अचार के नाम से पूरे देश में प्रसिद्ध हैं.

Cultivation of mushroom in home

कश्मीर: लड़की ने घर में ऐसे की मशरूम की खेती, बनाया कमाई का जरिया

03 अगस्त 2021

Mashroom Cultivation: पुलवामा के गंगू की रहने वाली एक लड़की ने घर में मशरूम की खेती कर उसे कमाई जरिया बना डाला और अब वो उसी से अपनी पढ़ाई और परिवार का खर्च उठा रही है. नेलोफर ने बताया कि उनके काम पर कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन का कोई प्रभाव नहीं पड़ा.

सरकार ने बताया- देश में कितने किसानों ने की आत्महत्या

कम नहीं हो रहे किसानों की खुदकुशी के केस, इस राज्य में दोगुने

28 जुलाई 2021

Farmers Suicide In India: संसद में मचे घमासान के बीच सरकार ने किसानों के आत्महत्या से जुड़े आंकड़े पेश किए हैं, जिससे पता चलता है कि साल 2017, 2018 और 2019 में किन राज्यों में कितने किसानों ने सुसाइड की. ये आंकड़े राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की रिपोर्ट पर आधारित हैं. 

मुजफ्फरपुर में धान की खेती करते किसान

एक महीने में दो बार बाढ़, फिर भी नहीं टूटा हौसला, धान की खेती शुरू

28 जुलाई 2021

ये किसान बाढ़ के कारण दलदल में तब्दील जमीन को ट्रैक्टर चलाकर फिर उसमें खेती करने कोशिश कर रहे हैं. वर्तमान में इन किसानों के पास न पैसे हैं और न धान की बीज. हालांकि, इसके बाद भी वो खेती के संकल्प को पूरा करने में जुटे हैं.

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi: कई राज्यों के किसानों से सरकार करेगी रिकवरी

42 लाख किसानों से करीब 3000 करोड़ वसूलेगी सरकार

23 जुलाई 2021

PM Kisan Samman Nidhi Yojana: साल 2019 में लॉन्च की गई पीएम किसान सम्मान निधि योजना (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi) के तहत सरकार सालाना किसानों को 6000 रुपये की आर्थिक सहायता देती है. ये राशि 2000-2000 रुपए की तीन किश्तों में सीधे किसानों के खातों में ट्रांसफर की जाती है.

Farmer plough field with bicycle

लॉकडाउन से तंगी, बेटे की साइकिल से खेत जोतने को मजबूर हुआ किसान

04 जुलाई 2021

नागराज और उनके परिवार ने कर्ज लेकर खेत की जमीन को समतल करना शुरू किया. छह महीने तक उन्होंने काम किया और पौधों के बड़े होने का इंतजार किया. दुर्भाग्य से जब फूलों की फसल तैयार हुई तो लॉकडाउन की वजह से मंदिरों को श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया.

Digital India के 6 साल, BharatNet से ऐसे बदलेगा गांवों का हाल

01 जुलाई 2021

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के देश को डिजिटल बनाने के सपने Digital India को शुरू हुए छह साल पूरे हो गए. इंटरनेट की ताकत को देश के हर गांव तक पहुंचाने के लिए सरकार BharatNet Project चला रही है. जानिए क्या खास है इस प्रोजेक्ट में और क्यों है ये चर्चा में..

Women Farmers Jharkhand

घने जंगलों के बीच लेमन ग्रास, इमली, करंज की खेती कर महिलाएं बन रही हैं आत्‍मनिर्भर

27 जून 2021

आजीविका वनोत्पज मित्र सुषमा समद ने बताया कि पहले क्षेत्र की महिलाएं काम के अभाव में शराब तक बेचती थीं, लेकिन आज परिस्थितियां बदली हैं. उन्‍होंने बताया कि महिलाएं संगठन से जुड़कर अब प्रतिवर्ष करीब 20 से 25 हजार रुपये अर्जन कर लेती हैं. 

उफान पर नदियां, बिहार में बाढ़ का संकट, जलमग्न हुए कई गांव

25 जून 2021

बिहार में कई जिलों में बाढ़ जैसी स्थिति है. कहीं पुल बह गया है, कहीं पूरा गांव ही टापू बना हुआ है, लोग अपनी तबाही देख रहे हैं. नावों पर लोग सवार होकर जा रहे हैं. पानी में सबकुछ डूबा हुआ है और प्रशासन को कोस रहे हैं. अमूमन हर साल राज्य में बाढ़ से ऐसा ही स्थिति बन जाती है. करोड़ों लोग प्रभावित होते हैं. उत्तर बिहार की लगभग 76 प्रतिशत आबादी हर साल बाढ़ से प्रभावित होती है. देखें वीडियो.

Image Credit: ICAR

खेती करके पा सकते हैं 2 लाख तक का पुरस्कार, किसानों को सरकार देती है ये अवॉर्ड्स

22 जून 2021

किसान फिर से खेती की तरफ रूख करें, इसके लिए केंद्र सरकार और कई निजी संस्थाएं जो कृषि की बेहतरी के लिए कार्य कर रही हैं, वह किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए समय-समय पर पुरस्कार भी देती हैं.

Image credit: Ministry of Agriculture & Farmers' Welfare

बांस की खेती पर किसानों को 50 हजार रुपये की सब्सिडी

23 जून 2021

भारत के कई राज्यों के किसान बंजर भूमि या मौसम की मार से परेशान रहते हैं. ऐसे में बांस की खेती उनके लिए वरदान साबित हो सकती है. विशेषज्ञों के अनुसार बांस के पौधों के लिए किसी खास तरह की उपजाऊ जमीन की आवश्यकता नहीं होती है.

Image credit: Deepak Shandil

मुनाफे का सौदा है स्ट्रॉबैरी की खेती, एक एकड़ में 15 लाख का फायदा!

24 जून 2021

इस फसल की खेती के लिए कोई मिट्टी तय नहीं है. फिर भी अच्छी उपज लेने के लिए बलुई दोमट मिट्टी को उपयुक्त माना जाता है. इसकी खेती के लिए  ph 5.0 से 6.5 तक मान वाली मिट्टी की जरूरत होती है.

बारिश में सड़क फिर खराब होने का डर है.

दशकों से कर रहे थे अफसरों से गुजारिश, फिर गांव वालों ने खुद पैसे जोड़कर बना लिया रास्ता

06 जून 2021

तमिलनाडु के कृष्णानगर जिले में पड़ने वाले ओंदियुर गांव में ग्रामीणों ने खुद से पैसे जुटाकर कच्चा रास्ता बनाया है. ग्रामीण दशकों से संकरे रास्ते से आना-जना करना पड़ रहा था. जब अधिकारियों ने उनकी नहीं सुनी तो उन्होंने खुद पैसे इकट्ठे कर एक कच्चा रास्ता तैयार कर लिया.

गरीब किसान की चमकी किस्मत, खेत में मिला 30 कैरेट का हीरा

28 मई 2021

तुगली मंडल के चिन्ना जोन्नागिरी के एक स्थानीय किसान को अपने कृषि क्षेत्र में काम करने के दौरान हीरा मिला है. बताया जा रहा है कि किसान ने कथित तौर पर 30 कैरेट वजन के हीरे को एक स्थानीय व्यापारी को 1.2 करोड़ रुपये में बेच दिया है.

बैल के मर जाने से अपने बेटे से खेत जुतवाने को मजबूर किसान (वीडियो ग्रैब)

बैल की जगह नौजवान बेटे से खेत की जुताई क्यों करवा रहा है किसान?

17 जून 2021

किसान का एक बैल रविवार को अचानक मर गया, उसके पास एक ही बैल बचा. उसके पास बैल खरीदने के पैसे भी नहीं थे और खेत की जुताई भी जरूरी थी.