scorecardresearch
 

Business Idea: बकरी पालन के लिए मिलता है इतने रुपये तक का लोन, किसान कमा सकते हैं मुनाफा

Goat Farming Loan: ज्यादातर पशुपालक बकरियों का पालन दूध उत्पादन के लिए करते हैं. हालांकि, इसके बाजार में इसके मांस की मांग भी ज्यादा है. ऐसे में पशुपालक बकरी पालन से डबल मुनाफा हासिल कर सकते हैं और इसमें लागत भी कम आती है.

X
Loan for Goat Farming Loan for Goat Farming
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बकरी पालन से डबल मुनाफा
  • सरकार की ओर से दी जाती है सब्सिडी

Loan for Goat Farming: किसानों के बीच बकरी पालन को लेकर चलन बेहद तेजी से बढ़ा है. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह लगने वाली कम लागत बताई जा रही है. सरकार भी इसे बढ़ावा देने के लिए अपने स्तर पर तमाम तरह के प्रयास करती है. इसके अलावा बैंक द्वारा भी बकरी पालन करने वाले किसानों को अच्छा खासा लोन दिया जाता है.

ज्यादातर पशुपालक बकरियों का पालन दूध उत्पादन के लिए करते हैं. हालांकि, इसके बाजार में इसके मांस की मांग भी काफी है. ऐसे में पशुपालक बकरी पालन से डबल मुनाफा हासिल कर सकते हैं और इसमें लागत भी कम आती है.

बकरी पालन व्यवसाय के लिए मिलती है सब्सिडी 

बकरी पालन व्यवसाय के लिए सरकार की ओर से सब्सिडी भी दी जाती है. सरकार इसके व्यवसाय के लिए 90 प्रतिशत वित्त पोषण भी देती है. इसके अलावा हरियाणा में मवेशियों की आय बढ़ाने के लिए सरकारी अनुदान प्रदान किया जाता है.

बता दें कि बकरी पालन व्यवसाय के लिए दो तरीकों से लोन प्राप्त किया जा सकता है. बिजनेस लोन ऑपरेशंस के लिए वर्किंग कैपिटल लोन और दूसरी बकरी होल्डिंग्स.  एक व्यापार ऋण एक बंधक ऋण से 50,000 रुपये से 10 लाख रुपये तक का लोन मिलता है. इसके अलावा, कई बैंकों की ओर से बकरी पालन व्यवसाय के लिए 26 लाख तक का लोन मिल सकता है. इसके लिए पशुपालकों को अपने नजदीकी बैंक से संपर्क करना होता है.

किसान बकरियों के पालन के लिए मुद्रा योजना के तहत लोन ले सकते हैं. इसमें बैंकों की मदद से मुद्रा गैर-कृषि क्षेत्र में लगे व्यक्यिों और उद्यमों को सेवा और विनिर्माण क्षेत्रों में आय उत्पन्न करने वाली गतिविधियों के लिए 10 लाख रुपये तक का लोन देने का प्रावधान है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें