scorecardresearch
 

US ने लॉन्च किया स्पेस कमांड, ट्रंप चाहते हैं सबसे ताकतवर अंतरिक्ष सेना बनाना

पिछले साल जून में नेशनल स्पेस काउंसिल की तीसरी बैठक के दौरान राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि वह रक्षा मंत्रालय को तुरंत अमेरिकी सेना की छठी शाखा के तौर पर स्पेस फोर्स का गठन करने के लिए जरूरी प्रक्रिया शुरू करने का आदेश देते हैं. स्पेस फोर्स अमेरिका की एयर फोर्स से अलग, लेकिन उसकी जैसी ही होगी.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

  • SPACECOM अमेरिकी सेना की 11वीं लड़ाकू कमान
  • पिछले साल ट्रंप ने स्पेस फोर्स के गठन की बात कही थी
  • अंतरिक्ष में यूएस स्पेस फोर्स अमेरिकी सेना की छठी शाखा

अंतरिक्ष में अपनी स्थिति बेहद मजबूत करने के मकसद से अमेरिका ने आज गुरुवार को आधिकारिक तौर पर स्पेस कमांड लॉन्च कर दिया. ट्रंप प्रशासन की ओर से नई यूएस स्पेस फोर्स के गठन की दिशा में यह बेहद अहम कदम माना जा रहा है. यूएस स्पेस फोर्स अमेरिकी सेना की छठी शाखा होगी जो अंतरिक्ष जगत में देश का दबदबा बढ़ाएगी.

लॉन्चिंग के समय राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उपराष्ट्रपति माइक पेंस भी इस खास पल के गवाह बने. जॉन रेमंड को स्पेस कमांड का पहला प्रमुख बनाया गया है. अमेरिकी स्पेस कमांड (SPACECOM) लॉन्चिंग के दौरान रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और स्पेस कॉम के कमांडर एयर फोर्स जनरल जॉन रेमंड ने भी हिस्सा लिया.

अमेरिकी सेना ने 2009 में अमेरिकी साइबर कमांड की स्थापना के बाद से कोई और कमांड नहीं बनाया था. SPACECOM सेना की 11वीं लड़ाकू कमान है और प्रत्येक के पास सैन्य अभियानों के लिए एक भौगोलिक या कार्यात्मक मिशन तय है.

स्पेस कमांड के लॉन्च से अंतरिक्ष में अमेरिकी सेना की तकनीकी क्षमताओं के पुनर्गठन और सुधार के लिए दशकों से चल रहे प्रयास में तेजी आएगी.

पिछले महीने सीनेट में मार्क एस्पर ने कहा था, 'मुझे लगता है कि हमें युद्ध लड़ने वाले डोमेन के रूप में अंतरिक्ष के क्षेत्र को पूरी तरह से विकसित करने की आवश्यकता है.'

SPACECOM के स्थायी मुख्यालय को लेकर अभी कुछ भी तय नहीं किया गया है. हालांकि माना जा रहा है कि यह अल्बामा, कैलिफोर्निया या कोलोराडो में से कहीं पर हो सकता है.

पिछले साल जून में नेशनल स्पेस काउंसिल की तीसरी बैठक के दौरान राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था, 'मैं रक्षा मंत्रालय को तुरंत अमेरिकी सेना की छठी शाखा के तौर पर स्पेस फोर्स का गठन करने के लिए जरूरी प्रक्रिया शुरू करने का आदेश देता हूं. स्पेस फोर्स एयर फोर्स से अलग, लेकिन उसकी जैसी ही होगी.'

तब अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था, 'जब बात अमेरिका की सुरक्षा की आती है तो अंतरिक्ष में हमारी केवल मौजूदगी ही काफी नहीं है, अंतरिक्ष में अमेरिका का वर्चस्व भी होना चाहिए.'

राष्ट्रपति ट्रंप ने अंतरिक्ष को राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा मसला बताया था. तब उन्होंने साफ कहा था कि वह नहीं चाहते कि अंतरिक्ष में चीन, रूस या फिर दूसरा कोई देश हमें लीड करे.

मई में कांग्रेस के बजट ऑफिस की ओर से कहा गया था कि एक स्पेस फोर्स के गठन पर प्रतिवर्ष पेंटागन के सालाना बजट में 1 अरब डॉलर से 2 अरब डॉलर का अतिरिक्त खर्च शामिल हो सकता है. इसकी शुरुआती खर्च करीब 5 अरब डॉलर तक हो सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें