scorecardresearch
 

Ukraine crisis: यूक्रेन पर हमला किया तो बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी, US ने रूस को दी वार्निंग

Ukraine crisis: जो बाइडेन ने बताया कि मैं राष्ट्रपति पुतिन के साथ बिल्कुल स्पष्ट हूं. अगर रूसी सेना यूक्रेन की सीमा को पार करती हैं. इसे आक्रमण माना जाएगा और इसकी गंभीर और आर्थिक प्रतिक्रिया होगी. इसे लेकर मैंने अपने सहयोगियों से विस्तार से चर्चा की है. इसमें कोई संदेह नहीं है, अगर पुतिन ऐसा कदम उठाते हैं, तो रूस को इसकी भारी कीमत चुकानी होगी.

X
जो बाइडेन और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (फाइल फोटो) जो बाइडेन और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमेरिकी ने रूस के निर्देश पर काम करने वाले यूक्रेन के अधिकारियों पर लगाए प्रतिबंध
  • बाइडेन बोले- रूस ने अगर यूक्रेन पर हमला किया, तो बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी

Ukraine news: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रूस को खुली धमकी दी है. बाइडेन ने कहा, अगर रूसी सेना बॉर्डर पर कर यूक्रेन में घुसती है, तो इसे हमला माना जाएगा और इसके लिए रूस को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी.  

अमेरिकी ट्रेजरी विभाग ने गुरुवार को रूसी सरकार के निर्देश पर यूक्रेन में गतिविधियों को प्रभावित करने वाले व्यक्तियों पर प्रतिबंधों ऐलान किया. व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी जेन साकी ने कहा, यह कार्रवाई रूस के यूक्रेन को अस्थिर करने के खतरनाक और धमकी भरे अभियान को बेनकाब करने के हमारे लंबे समय से चल रहे प्रयासों का ही हिस्सा है. 
 
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ये व्यक्ति यूक्रेन में रूस के अस्थिर करने वाले अभियान में साथ दे रहे थे और हम यूक्रेनी सरकार के साथ एकजुट हैं. रूस की कार्रवाई जवाब देने के लिए अमेरिका इंतजार नहीं कर रहा है. 

वहीं, जो बाइडेन ने बताया कि  मैं राष्ट्रपति पुतिन के साथ बिल्कुल स्पष्ट हूं. अगर रूसी सेना यूक्रेन की सीमा को पार करती हैं. इसे आक्रमण माना जाएगा और इसकी गंभीर और आर्थिक प्रतिक्रिया होगी. इसे लेकर मैंने अपने सहयोगियों से विस्तार से चर्चा की है. इसमें कोई संदेह नहीं है, अगर पुतिन ऐसा कदम उठाते हैं, तो रूस को इसकी भारी कीमत चुकानी होगी. 

बाइडेन ने कहा, अगर रूस अपनी पुरानी आदत के मुताबिक, साइबर हमला या अपनी सीमा में रहते हुए नुकसान पहुंचाने वाले कदम उठाता है, तो उसे उसी तरीके से जवाब दिया जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि रूस का आक्रमण करने के लिए प्रत्यक्ष सैन्य कार्रवाई के अलावा अन्य उपायों का इस्तेमाल करने का एक लंबा इतिहास रहा है. 

जेन साकी ने कहा, बाइडेन प्रशासन राष्ट्रपति और उनकी विदेश नीति टीम के दशकों के अनुभव और अपने सहयोगियों के साथ सलाह के आधार पर फैसले ले रहे हैं. अब रूस के राष्ट्रपति पुतिन के पास विकल्प हैं कि उन्हें क्या करना हैं. या तो वे यूक्रेन पर हमला करें और कई आर्थिक नुकसान उठाएं या फिर वे इस पर फैसला करें कि वे बातचीत से इस मुद्दे को सुलझाएंगे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें