scorecardresearch
 

Russia Ukraine War: यूक्रेन को रौंद रहे हैं रूसी टैंक, पीएम मोदी से लगाई मदद की गुहार

Russia Ukraine War: रूस ने यूक्रेन पर हमला बोल दिया है, इसमें मिसाइल अटैक के बाद शहरों में टैंक भी घुस गए हैं. इस बीच यूक्रेन की तरफ से भारत से मदद मांगी गई है.

X
यूक्रेन के शहर पर रूस के हमले के बाद भावुक हुई महिला (AP/PTI) यूक्रेन के शहर पर रूस के हमले के बाद भावुक हुई महिला (AP/PTI)
3:09
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूक्रेन के राजदूत ने भारत से मांगी मदद
  • रूस ने की जंग की शुरुआत, यूक्रेन में हो रहा मिलिट्री एक्शन

Russia Ukraine War: रूस के हमले के बीच यूक्रेन ने भारत से मदद मांगी है. यूक्रेन के राजदूत ने पीएम नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने की गुजारिश की है. यूक्रेन के राजदूत इगोर पोलिखा (Igor Polikha) ने कहा कि भारत और रूस के संबंध अच्छे हैं. नई दिल्ली (भारत) यूक्रेन-रूस विवाद को कंट्रोल करने में अहम योगदान दे सकता है. इगोर पोलिखा ने कहा कि हम पीएम नरेंद्र मोदी से गुजारिश करते हैं कि वह तत्काल रूस के राष्ट्रपति पुतिन और हमारे राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की से संपर्क करें.

उन्होंने हमले पर आ रहे रूस के बयानों की निंदा भी की. पोलिखा ने कहा कि रूस दावा कर रहा है कि सिर्फ मिलिट्री ठिकानों पर हमले हो रहे हैं, लेकिन हमले में आम लोग भी मारे गए हैं. आगे कहा गया कि बदले में यूक्रेन ने रूस के पांच से ज्यादा प्लेन मार गिराए हैं, इसके अलावा टैंक और ट्रकों को भी ढेर किया गया है.

यूक्रेन-रूस विवाद पर भारत के रुख की बात करें तो वह अबतक न्यूट्रल रहा है. मतलब भारत अभी तक युद्ध या गतिरोध में किसी की तरफ नहीं है. विदेश मंत्रालय की तरफ से गुरुवार सुबह भी कहा गया कि भारत का स्टैंड इस जंग पर न्यूट्रल है और उनको शांतिपूर्ण समझौते की उम्मीद है. इससे पहले संयुक्त राष्ट्र की आपातकालीन मीटिंग में भी भारत ने कहा था कि उसका चिंता 20 हजार भारतीय लोगों की सुरक्षा को लेकर है, जो यूक्रेन में पढ़ाई करते हैं या काम से गए हैं.

मोदी वैश्विक स्तर पर सबसे शक्तिशाली और सम्मानित नेता हैं. मुझे नहीं पता कि पुतिन कितने नेताओं की सुनेंगे. लेकिन मोदी के साथ उनकी स्पेशल पार्टनरशिप है. वह एक रोल अदा कर सकते हैं. आशा है भारत सरकार अनुकूल भूमिका निभाएगी.

यूक्रेन के राजदूत Igor Polikha का बयान

राजदूत ने कहा कि यूक्रेन भारत की तरह लोकतांत्रिक देश है. भारत UN की सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य भी है और प्रभावी ग्लोबल प्लेयर है.

यूक्रेन में बिगड़ते हालातों के बीच भारत ने वहां मौजूद लोगों के लिए नई एडवाइजरी भी जारी की है. इसमें कहा गया है कि स्थिति अभी खराब है, ऐसे में जहां हैं, वहीं रहें. लोगों से अपने घरों, हॉस्टल आदि में ही रुकने को कहा गया है. साथ ही कहा गया है कि जो लोग यूक्रेन की राजधानी कीव या वेस्टर्न कीव की तरफ गए हैं तो वापस अपने घरों की तरफ लौट जाएं.

यह भी पढ़ें- Russia-Ukraine War: आग, धुआं, धमाका और बर्बादी...रूस के हमले से यूक्रेन में तबाही का मंजर

यूक्रेन में मौजूद भारतीय दूतावास ने कहा कि यूक्रेन के हवाई क्षेत्र को बंद करने के मद्देनजर विशेष फ्लाइटों को रद्द कर दिया गया है. भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है. दूतावास की वेबसाइट, सोशल मीडिया पोस्ट और नीचे दिए गए नंबरों पर संपर्क करें.

विदेश मंत्रालय का दिल्ली में मौजूद कंट्रोल रूम अब 24x7 काम करेगा. यहां से यूक्रेन में फंसे भारतीय स्टूडेंट्स, नागरिकों की मदद की जाएगी. बता दें कि यूक्रेन से अबतक एअर इंडिया की दो फ्लाइट्स भारतीय लोगों को लेकर लौटी हैं. तीसरी फ्लाइट अब जानी थी, लेकिन यूक्रेन की राजधानी कीव का एयरपोर्ट रूसी हमले के बाद बंद हो गया है. इसलिए उस फ्लाइट को खाली हाथ रास्ते से ही वापस लौटना पड़ा. वह फ्लाइट अब दिल्ली लौट आई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें