scorecardresearch
 

डोमिनिका कोर्ट में मेहुल चोकसी पर फैसला कल तक के लिए टला

एंटीगुआ से फरार होकर डोमिनिका पहुंचे मेहुल चोकसी को लेकर आज वहां की स्थानीय अदालत ने अपना फैसला कल तक के लिए टाल दिया है. अब कल यह तय होगा कि मेहुल की भारत वापसी होगी या नहीं.

X
मेहुल चोकसी. (फाइल फोटो) मेहुल चोकसी. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीएनबी स्कैम मामले में आज का दिन अहम
  • डोमिनिका की कोर्ट में मेहुल चोकसी पर सुनवाई
  • भारत लाने पर कल होगा फैसला

पंजाब नेशनल बैंक स्कैम मामले में आरोपी भगोड़े मेहुल चोकसी के मामले में डोमिनिका की कोर्ट ने फैसला कल तक के लिए टाल दिया है.बीते दिनों एंटीगुआ से फरार होकर डोमिनिका पहुंचे मेहुल चोकसी को लेकर वहां की स्थानीय अदालत अपना फैसला  कल सुनाएगी. 

कोर्ट में इस मामले पर सुनवाई की गई. जूम ऐप के जरिए मेहुल भी सुनवाई में शामिल हुआ. इस सुनवाई में ईडी और सीबीआई की टीम भी मौजूद रही. सुनवाई के दौरान डोमिनिका सरकार ने कोर्ट में कहा कि मेहुल चोकसी की याचिका सुनवाई के योग्य नहीं है. डोमिनिका सरकार ने कहा कि चोकसी को भारत को सौंपा जाए. कोर्ट में बहस खत्म हो गई है. जज ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनीं. अब इस मामले पर कल फैसला आने की उम्मीद है. 

सुनवाई से पहले मेहुल के वकील विजय अग्रवाल ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि मेहुल के भाई डोमिनिका में विपक्षी पार्टियों से बातचीत कर रहे हैं. यह अफवाह है. मेहुल के भाई डोमिनिका में यह देखने आए हैं कि क्या मेहुल चोकसी के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा रहा है या नहीं.

सुनवाई से पहले क्या बोलीं मेहुल की पत्नी

मेहुल की पत्नी प्रीति चोकसी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा कि मेरे पति को स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं हैं. वह एंटीगुआ के नागरिका हैं और उन्हें बारबुडा के संविधान के तहत सभी अधिकार और सुरक्षा का लाभ लेने का हक है. प्रीति ने कहा कि मुझे कैरेबियाई देशों के कानून में पूरा विश्वास है. हम मेहुल के सुरक्षित और जल्द से जल्द एंटीगुआ वापसी का इंतजार कर रहे हैं.

मेहुल की पत्नी ने कहा कि वो महिला मेरे पति को जानती थी, जब वह एंटीगुआ आती थी तो वह मेरे पति से मिलने जाती थी.जो लोग उनसे मिले हैं. उससे मुझे जो समझ आया है वो ये है कि  मीडिया चैनलों पर दिखाई गई महिला वह महिला नहीं है जिसे वे बारबरा के नाम से जानते थे. प्रीति ने कहा कि मेहुल को दी गई शारीरिक प्रताड़ना से परिवार चिंतित है. अगर कोई वास्तव में मेहुल को जिंदा वापस लाना चाहता है तो फिर उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित क्यों किया गया?

भगोड़े मेहुल चोकसी की पत्नी ने 'आजतक' से कहा- भारत भेजा गया तो होगा कानूनों का उल्लंघन

भारत की ओर से भी डोमिनिका पहुंचीं टीमें
भारतीय एजेंसियों की कोशिश है कि मेहुल चोकसी को सीधे डोमिनिका से भारत ही लाया जाए. ऐसे में भारत से कई टीमें डोमिनिका पहुंची हैं. बुधवार को सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय (ED) कोर्ट में ये दलील देगी कि मेहुल चोकसी भारतीय नागरिक है, वह यहां पर जुर्म करके भागा है ऐसे में उसे भारत को ही सौंपा जाए.

भारत की कई एजेंसियां और अधिकारी डोमिनिका प्रशासन के संपर्क में है. अगर इंटरपोल के नोटिस के आधार पर बात करें तो मेहुल चोकसी की भारत वापसी पक्की है. क्योंकि मौजूदा वक्त में मेहुल चोकसी अभी एंटीगुआ का नागरिक है, लेकिन उसने अपनी भारतीय नागरिकता कभी छोड़ी ही नहीं, ऐसे में वह भारत का नागरिक भी सिद्ध होगा. 

पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रुपये का स्कैम करने के बाद मेहुल चोकसी और नीरव मोदी फरार हो गए थे. नीरव मोदी को लंदन में पकड़ लिया गया था, लेकिन मेहुल चोकसी लगातार एंटीगुआ में छिपा हुआ था. लेकिन जब वो 23 मई को डोमिनिका पहुंचा तो पुलिस के हत्थे चढ़ गया और अब वहां जेल में बंद है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें