scorecardresearch
 

PAK में भी तालिबान इफेक्ट, इस्लामाबाद में महिला टीचर्स के जींस और टाइट कपड़े पहनने पर रोक

अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार आने के बाद जिस तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं, उसका कुछ असर अब पाकिस्तान में भी दिखने लगा है.  

X
पाकिस्तान के इस्लामाबाद में निकला फरमान (फाइल फोटो)
पाकिस्तान के इस्लामाबाद में निकला फरमान (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पाकिस्तान में दिखा तालिबान का इफेक्ट
  • महिला टीचर्स के जींस पहनने पर रोक

पाकिस्तान के इस्लामाबाद में सरकारी स्कूलों में अब महिला टीचर्स के जींस और टाइट कपड़े पहनने पर रोक लगा दी गई है. साथ ही पुरुष टीचर्स को लेकर भी कई तरह के नियम बनाए गए हैं. अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार आने के बाद जिस तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं, उसका कुछ असर अब पाकिस्तान में भी दिखने लगा है.  

इस्लामाबाद में फेडरल डायरेक्टेट ऑफ एजुकेशन की ओर से आदेश दिया गया है कि सभी टीचर्स को पर्सनल हाइजिन का ध्यान रखना होगा, लगातार हेयरकट, बीयर्ड ट्रिमिंग, नाखूनों का कटना और परफ्यूम के इस्तेमाल पर ध्यान जरूरी है. 

इस इलाके के सभी सरकारी स्कूल और कॉलेज के प्रिंसिपल को चिट्ठी लिख इस आदेश को लागू करने के लिए कह दिया गया है. सभी स्टाफ से फॉर्मल ड्रेस पहनने की अपील की गई है, साथ ही स्कूलों को अपनी एक ड्रेस बनाने की सलाह दी गई है. 

किस तरह का पहनावे का निर्देश?

महिला टीचर्स के लिए सलवार, कमीज़, दुपट्टा, शॉल पहनना जरूरी है. महिला टीचर्स हिजाब भी पहन सकती हैं. जींस या टाइट कपड़े पहनने की इजाजत नहीं है. चप्पल पहनकर स्कूल आने की इजाजत नहीं है, फॉर्मल जूते ही पहने जा सकेंगे. वहीं, पुरुष टीचर्स को जींस पहनने की इजाजत नहीं है. उन्हें भी फॉर्मल कपड़े ही पहनने होंगे. अगर कुर्ता-पायजामा पहनते हैं तो लंबा कोट डालना होगा. 

आपको बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार आने के बाद वहां अलग-अलग तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं. तालिबान ने कॉलेज में लड़के-लड़कियों की सीटों के बीच में परदा लगवा दिया है. लड़कियों के नौकरी करने पर अभी प्रतिबंध लगा हुआ है, वहीं कई जगह तालिबान के लड़ाकों द्वारा महिलाओं को निशाना भी बनाया जा रहा है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें