scorecardresearch
 

पाकिस्तान एयरलाइंस ने नहीं चुकाया रूस का बकाया, बदलना पड़ा फ्लाइट का रूट

पाकिस्तान आर्थिक संकट का सामना कर रहा है. मार्च के अंत में स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार में 2.915 बिलियन अमरीकी डालर की भारी गिरावट आई है. महंगाई 13.8% पर आ गई है. डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया पिछले एक महीने में 186 से 202 तक पहुंच गया.

X
फाइल फोटो फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान
  • बकाया राशि का भुगतान न करने पर रूस ने नहीं दिया क्लीयरेंस

आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को एक बार फिर इंटरनेशनल बेइज्जती का सामना करना पड़ा. दरअसल, पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस द्वारा बकाया राशि का भुगतान न करने के चलते रूस ने फ्लाइट को ओवरफ्लाइंग क्लीयरेंस देने से इनकार कर दिया. इसके बाद इस्लामाबाद से टोरंटो जा रही फ्लाइट को रूट बदलना पड़ा. 

24NewsHD टीवी चैनल के मुताबिक, यह मामला 17 जून का है. पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस की इस्लामाबाद से टोरंटो जा रही फ्लाइट को ओवरफ्लाइंग क्लीयरेंस नहीं मिला. इसके बाद इस फ्लाइट को पहले कराची लाया गया. यहां से फ्लाइट ने रूस की वजह यूरोपीय देशों के एयर स्पेस का इस्तेमाल किया और फ्लाइट टोरंटो पहुंची. 

बताया जा रहा है कि पीआईए की फ्लाइट PK781 में  250 से ज्यादा यात्री थे. इन्हें कराची से रवाना किया गया. दरअसल, स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) को ओवरफ्लाइंग क्लीयरेंस के शुल्क के लिए पैसा ट्रांसफर करने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था. हालांकि, पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस का कहना है कि रूस को वैश्विक प्रतिबंधों के चलते पेमेंट प्राप्त करने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में पीआईए को वैकल्पिक रास्ता अपनाना पड़ा. 

एयरलाइंस की ओर से बताया गया कि टोरंटो के लिए उड़ान को ईरान, टर्की और यूरोप का रास्ते का इस्तेमाल करना पड़ा. विमान ने कराची से उड़ान भरी. वहीं, पाकिस्तान के एक पत्रकार ने ट्वीट कर लिखा, PIA की इस्लामाबाद से टोरंटो जाने वाली फ्लाइट लेट है, दरअसल, रूस ने पीआईए से बकाया राशि का भुगतान करने के लिए कहा है. 

उधर, सोशल मीडिया यूजर्स ने पाकिस्तानी सरकार से पूछा कि इस ''शर्मनाक स्थिति'' की वजह क्या है? यह सब ऐसे समय में हुआ, जब पाकिस्तान भारी आर्थिक संकट का सामना कर रहा है. इस बीच, मार्च के अंत में स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार में 2.915 बिलियन अमरीकी डालर की भारी गिरावट आई है. महंगाई 13.8% पर आ गई है. डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया पिछले एक महीने में 186 से 202 तक पहुंच गया. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें