scorecardresearch
 

उत्तर कोरिया ने किया शक्तिशाली हाइड्रोजन बम का परीक्षण, 5.1 तीव्रता का आया भूकंप

परमाणु कार्यक्रमों को लेकर दुनिया भर के निशाने पर रहे उत्तर कोरिया ने दावा किया है कि उसने शक्तिशाली हाइड्रोजन बमों का परीक्षण किया है.

X
उत्तर कोरिया ने किया परीक्षण का दावा उत्तर कोरिया ने किया परीक्षण का दावा

अपने परमाणु कार्यक्रमों को लेकर दुनिया भर के निशाने पर रहे उत्तर कोरिया ने फिर नया विवाद छेड़ दिया है. उत्तर कोरिया ने दावा किया है कि उसने शक्तिशाली हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया है. इससे पहले खबर आई थी कि बुधवार सुबह उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण केंद्र के नजदीक 5.1 तीव्रता का भूकंप दर्ज किया गया है. हालांकि, चीन में भूकंप की घटनाओं पर नजर रखने वाली संस्था ने इसे संदिग्ध परमाणु परीक्षण बताया था.

इस रिपोर्ट के आने के साथ ही जापान और अमेरिका ने भी कहा था कि वह मामले पर नजर बनाए हुए है और यह परमाणु परीक्षण ही हो सकता है. हालांकि जल्द ही उत्तर कोरिया ने आधिकारिक रूप से कह दिया कि उसने शक्तिशाली हाइड्रोजन बम का सफल परीक्षण किया है.

उत्तर कोरिया ने कहा है कि उसने अपने पहले हाइड्रोजन बम का सफलतापूर्व परीक्षण किया है. उत्तर कोरिया के सरकारी टीवी चैनल ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि परीक्षण सुबह 10 बजे किया गया. इससे पहले, अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण ने उत्तर कोरिया में रिक्टर पैमाने पर 5.1 तीव्रता के 'झटके' रिकॉर्ड किए थे. हालांकि दक्षिण कोरिया के मौसम विभाग के मुताबिक़ इन 'झटकों' की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.2 थी.

जिस जगह पर ये झटके रिकॉर्ड किए गए हैं, वो उस जगह के पास है जिसका इस्तेमाल पहले परमाणु परीक्षण के लिए किया जाता था. चीन और दक्षिण कोरिया के अधिकारियों के मुताबिक़, 'इस तरह के संकेत हैं कि इसकी वजह प्राकृतिक नहीं है. इसका मतलब ये निकाला जा सकता है कि उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण किया हो.'

जापान के प्रधामनंत्री शिंजो आबे ने इस परीक्षण को अपने देश के लिए सुरक्षा खतरा करार दिया है. अमेरिका ने कहा कि यह खतरा पूरी दुनिया के लिए है और इसपर विश्व समुदाय उचित प्रतिक्रिया देगा. दक्षिण कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसियों के मुताबिक़ उनके देश के मंत्रियों ने एक आपात बैठक बुलाई है. माना जाता है कि 2006 से लेकर अब तक उत्तर कोरिया ने पुनगेई-री परीक्षण स्थल में 3 बार भूमिगत परमाणु परीक्षण किए हैं. उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण का असर जापान के शेयर बाज़ार पर भी दिखा. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक जापान के निक्केई शेयर सूचकांक में बुधवार दोपहर तक 1.7 फ़ीसदी की गिरावट दर्ज की गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें