scorecardresearch
 

'भारत रत्न' नेल्सन मंडेला के निधन से दुनिया भर में शोक की लहर, PM-मोदी ने दी श्रद्धांजलि

रंगभेद के खिलाफ ऐतिहासिक संघर्ष करने वाले वयोवृद्ध दक्षिण अफ्रीकी नेता 'भारत रत्न' नेल्सन मंडेला के निधन से दुनिया भर में शोक की लहर दौड़ गई है. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा, अभिनेता अमिताभ बच्चन समेत राजनीति, फिल्म और सामाजिक जगत की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय हस्तियों ने मंडेला को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

लंबे समय से अस्पताल में थे मंडेला लंबे समय से अस्पताल में थे मंडेला

रंगभेद के खिलाफ ऐतिहासिक संघर्ष करने वाले वयोवृद्ध दक्षिण अफ्रीकी नेता 'भारत रत्न' नेल्सन मंडेला के निधन से दुनिया भर में शोक की लहर दौड़ गई है. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा, अभिनेता अमिताभ बच्चन समेत राजनीति, फिल्म और सामाजिक जगत की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय हस्तियों ने मंडेला को श्रद्धांजलि अर्पित की है. दक्षिण अफ्रीका में आखिरी विदाई की रस्म तक देश का झंडा झुका दिया गया है.

इंसानों के बीच महान शख्स था वो: मंडेला
प्रधानमंत्री ने बयान जारी कर कहा, 'ईश्वर, यहां-वहां, जब-तब, इंसानों के बीच कुछ महान लोगों को बनाता है. मंडेला उनमें से एक थे. मंडेला लड़े ताकि दूसरे लोग समानता, अवसर और गौरव के साथ जी सकें.' प्रधानमंत्री ने कहा कि मंडेला ने देश का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' स्वीकार कर भारत का मान बढ़ाया है. वह सच्चे गांधीवादी थे. उनका जाना भारत, दक्षिण अफ्रीका और पूरी दुनिया के लिए जबरदस्त नुकसान है.'

राष्ट्रपति और मोदी ने भी जताया शोक
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी शोक संदेश जारी कर कहा है कि मंडेला मानवता की प्रेरणा थे. बीजेपी की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, 'हम में से बहुतों को गांधी जी को जिंदा देखने का सौभाग्य नहीं मिला. लेकिन हम खुशनसीब हैं कि हम नेल्सन मंडेला के जीवन के गवाह बने. हमने अहिंसा और शांति का एक प्रतीक खो दिया है.'

मैंने ली मंडेला से प्रेरणा: ओबामा
खुद को मंडेला से प्रेरणा लेने वाले लाखों लोगों में से एक बताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी उनके निधन पर शोक जताया और कहा कि दुनिया को उनके जैसा नेता दोबारा नहीं मिल सकता.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ' मेरा पहला राजनैतिक कार्य-ऐसी पहली चीज, जो मैंने कभी किसी नीति, मुद्दे या राजनीति से जोड़ी हो, वह रंगभेद का विरोध था. एक कैदी से लेकर राष्ट्रपति तक का उनका सफर यह वादा करता है कि इंसान और देश बेहतर तब्दीली ला सकते हैं.'

आज हर देश है दुखी
ब्रिटेन के प्रिंस विलियम ने भी मंडेला को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनका योगदान भूला नहीं जा सकता. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने कहा कि मंडेला ने कई देशों को शांतिपूर्ण आंदोलन की प्रेरणा दी. लंदन में मंडेला की बेटी जिंडजी ने बताया कि एक दिन पहले तक उनके पिता ठीक-ठाक थे. 'मडिबा' के नाम से मशहूर मंडेला लंबे समय से फेफड़ों के संक्रमण से जूझ रहे थे.

सयुक्त राष्ट्र संघ ने भी मंडेला के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता नहीं रहे. ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टॉनी एबॉच ने उन्हें याद करते हुए सदी का सबसे बड़े नेता बताया है.

अमिताभ ने साझा की अपनी और मंडेला की तस्वीर
मंडेला के निधन से फेसबुक-ट्विटर पर भी शोक संदेशों की बाढ़ आ गई. अभिनेता अमिताभ बच्चन ने भी मंडेला से मुलाकात की अपनी पुरानी तस्वीर ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा, 'क्या क्षण था. नेल्सन मंडेला का ऑटोग्राफ और उनसे मुलाकात की तस्वीर!'.

बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने ट्विटर पर लिखा कि वह आदर्श नेतृत्व की मिसाल थे. अभिनेता मनोज वाजपेयी ने भी लिखा कि दुनिया उस संत को हमेशा याद रखेगी.

राजनाथ-शिवराज ने भी जताया शोक
बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, 'सुबह नेल्सन मंडेला जी के निधन के बारे में पता चला. वह एक प्रेरक हीरो थे, जिन्होंने लोगों को न्याय दिलाने और भेदभाव मिटाने की जंग लड़ी.'

उद्योगपति रतन टाटा ने ट्वीट किया, 'दुनिया ने एक महान नेता खो दिया है. नेल्सन मंडेला उस दक्षिण अफ्रीका के जनक थे जहां लोगों समान अधिकार मिले. उन्हें हमेशा याद किया जाएगा.'

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्विटर पर लिखा, 'यह मानवता के लिए एक दुखद दिन है. दुनिया कभी भी नेल्सन मंडेला को नहीं भूलेगी. उनके विचार और शिक्षा हमारे साथ हमेशा रहेगी.'

क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने लिखा, 'मैं 1993 में मंडेला से मिला. उन्होंने गांधी के बारे में बातें की. एक महान आदमी के मुख से दूसरे महान आदमी के बारे में सुनना शानदार अनुभव था.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें