scorecardresearch
 

‘दुनिया की रोशनी खो गई’ नहीं रहे दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्‍ट्रपति नेल्‍सन मंडेला

रंगभेद के खिलाफ जंग लड़ने वाले और दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला नहीं रहे. दुनिया के सबसे बड़े हीरो मंडेला ने गुरुवार देर रात लंबी बीमारी के बाद आखिरी सांस ली. मंडेला 95 वर्ष के थे.

नेल्‍सन मंडेला नेल्‍सन मंडेला
25

रंगभेद के खिलाफ जंग लड़ने वाले और दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला नहीं रहे. दुनिया के सबसे बड़े हीरो मंडेला ने गुरुवार देर रात लंबी बीमारी के बाद आखिरी सांस ली. मंडेला 95 वर्ष के थे.

राष्ट्रपति जैकब जूमा राष्ट्रीय टेलीविजन पर यह घोषणा करते हुए कहा, ‘दक्षिण अफ्रीकी देशवासियों, हमारे प्यारे... हमारे लोकतांत्रिक राष्ट्र के संस्थापक राष्ट्रपति चल बसे.’ जूमा ने बताया कि उनका निधन 5 दिसंबर को रात 8.50 मिनट (स्थानीय समयानुसार) पर निधन हो गया.

राजकीय सम्मान के साथ होगा मंडेला का अंतिम संस्कार
राष्ट्रपति जूमा ने कहा कि मंडेला का निधन हो गया है. हमारे राष्ट्र ने अपना महान सपूत खो दिया. हमारे अवाम ने एक पिता को खो दिया है. बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि मंडेला का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ होगा. जूमा ने अंतिम संस्कार होने तक आज से राष्ट्र के सभी झंडे झुका देने के आदेश जारी किए हैं.

प्यार से मदिबा पुकारे जाने वाले मंडेला हाल के दिनों में फेफेड़ों में संक्रमण सहित स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याओं से जूझ रहे थे जिसके कारण उन्हें कई बार अस्पतालों में भर्ती कराया गया था. बुधवार से ही मंडेला के दोस्त और परिजन उनके जोहांसबर्ग स्थित आवास पर जमा होने लगे थे क्योंकि बताया जा रहा था कि ‘लोकतांत्रिक दक्षिण अफ्रीका के संस्थापक’’ मृत्युशैया पर हैं.

राष्ट्रीय प्रसारक एसएबीसी के साथ एक साक्षात्कार में उनकी बेटी मकाजिवे मंडेला ने बताया कि 95 वर्षीय विश्वनेता ने बीमारियों से लगातार संघर्ष किया. उनके पोते नदाबा मंडेला ने भी कल उनकी खराब सेहत पर मलाल जताया था. मंडेला को जून में प्रीटोरिया हार्ट क्लीनिक में भर्ती कराया गया था जहां उनके फेफड़े में संक्रमण का इलाज किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें