scorecardresearch
 

गिरफ्तारी के खिलाफ सोमवार को नवाज शरीफ करेंगे अपील

पनामा पेपर्स काण्ड मामले मे रावलपिंडी के अदियाला जेल मे कैद पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और बेटी मरियम नवाज की तरफ से 16 जुलाई को इस्लामाबाद हाई कोर्ट मे अपील दाखिल होगी. हालांकि अभी इस बात को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है कि अदालत इनकी अपील पर नियमित तौर पर सुनवाई करेगी या नहीं.

X
नवाज शरीफ और बेटी मरियम नवाज नवाज शरीफ और बेटी मरियम नवाज

पनामा पेपर्स काण्ड मामले मे रावलपिंडी के अदियाला जेल मे कैद पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और बेटी मरियम नवाज की तरफ से 16 जुलाई को इस्लामाबाद हाई कोर्ट मे अपील दाखिल होगी. हालांकि अभी इस बात को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है कि अदालत इनकी अपील पर नियमित तौर पर सुनवाई करेगी या नहीं.

पाकिस्तानी अखबार डॉन की खबर के मुताबिक नवाज शरीफ के वकीलों की एक टीम वकालतनामे पर हस्ताक्षर करवाने अदियाला जेल गई थी. सूत्रों के मुताबिक नवाज शरीफ की लीगल टीम न सिर्फ पाकिस्तान की एहतिसाब (अकाउंटेबिलिटी) अदालत के 6 जुलाई के फैसले को चुनौती देगी बल्की वे पाकिस्तान की अंतरिम सरकार के कानून मंत्रालय के जेल ट्रायल संबंधी अधिसूचना को भी चुनौती देगी.

बता दें कि 6 जुलाई के फैसले मे पाकिस्तान की एहतिसाब (अकाउंटेबिलिटी) अदालत ने इवनफील्ड संपत्ति भ्रष्टाचार के मामले मे नवाज शरीफ को 10 साल, मरियम नवाज को 7 साल व दामाद कैप्टन (रिटायर्ड) सफदर को एक साल की सजा सुनाई थी. सूत्रों के मुताबिक सोमवार को नवाज शरीफ खानदान के वकील तीनों के दोषी करार दिए जाने के फैसले के खिलाफ अलग-अलग तीन अपील इस्लामाबाद हाई कोर्ट मे दाखिल करेंगे. साथ ही तीन अन्य अपील पाकिस्तान की एहतिसाब (अकाउंटेबिलिटी) अदालत के फैसले को स्थगित करने के लिए भी हाई कोर्ट मे सोमवार को ही दाखिल होगी.

इससे पहले पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार द्वारा अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के समर्थन में लाहौर में रैली निकालने के मामले में पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी और नवाज के भाई व पीएमएल-एन के मौजूदा अध्यक्ष शाहबाज शरीफ के साथ कई अन्य नेताओं समेत 1500 कार्यकर्ताओ पर आतंकवाद और अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है.

आपको बता दे कि इनमे कई नेता ऐसे हैं जो पाकिस्तान मे 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावो में हिस्सा ले रहे हैं. जिसपर पीएमएल-एन के प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने आरोप लगाते हुए कहा है कि पंजाब सरकार की यह कार्रवाई  पार्टी नेताओं को चुनाव में हिस्सा लेने से रोकने का प्रयास व चुनाव से पहले हेराफेरी की साजिश है. 

दरअसल पीएमएल-एन के हजारों कार्यकर्ताओं ने पार्टी के शीर्ष नेताओं के नेतृत्व मे नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम की पाकिस्तान वापसी पर स्वागत मे रैली निकाली थी. जिसमे कार्यकर्ताओं और स्थानीय पुलिस के बीच हिंसक झड़पें हुई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें