scorecardresearch
 

जापान देगा चीन को मात, दुनिया की सबसे तेज गति वाली बुलेट ट्रेन का ट्रायल किया

जापान ने अपनी सबसे तेज बुलेट ट्रेन का ट्रायल शुरू कर दिया है. यह ट्रेन 400 किलोमीटर प्रति घंटे (249 मील प्रति घंटे) की रफ्तार से दौड़ सकती है. इस ट्रेन का ट्रायल जापान के सिदाई और ओमोरी शहरों के बीच होगा.

बुलेट ट्रेन (Photo- IANS) बुलेट ट्रेन (Photo- IANS)

जापान ने अपनी सबसे तेज बुलेट ट्रेन का ट्रायल शुरू कर दिया है. यह ट्रेन 400 किलोमीटर प्रति घंटे (249 मील प्रति घंटे) की रफ्तार से दौड़ सकती है. जापान ने अपनी इस बुलेट ट्रेन का नाम एएलएफए-एक्स यानी अल्फा-एक्स दिया है. शिनकानसेन ट्रेन के अल्फा-एक्स ट्रेन का ट्रायल शुक्रवार को शुरू हो गया. बताया जा रहा है कि इस ट्रेन का परिचालन 2030 में शुरू होगा.

सीएनएन के मुताबिक, इस शिनकानसेन ट्रेन के अल्फा-एक्स वर्जन का ट्रायल तीन साल से ज्यादा समय तक चलेगा, जिसकी शुरुआत 10 मई को हो गई. यह बुलेट ट्रेन चीन की चर्चित ट्रेन फुक्सिंग होआ के मुकाबले 10 किलोमीटर तेज गति से दौड़ेगी. बता दें कि फुक्सिंग ट्रेन का डिजाइन भी समान क्षमताओं के साथ अल्फा-एक्स वर्जन वाला है.

अल्फा-एक्स बुलेट ट्रेन का ट्रायल जापान के सिदाई और ओमोरी शहरों के बीच होगा, जिसके बीच की दूरी लगभग 280 किलोमीटर है. मिली जानकारी के मुताबिक, इस ट्रेन का ट्रायल आधी रात में किया जाएगा, जिस समय लाइन खाली रहेगी. इस ट्रेन का ट्रायल सप्ताह में दो बार होगा.

गौरतलब है कि जापान में पहली बार हाई स्‍पीड ट्रेन चलाने का विचार 1930 में आया था. 1964 में जब पहली बार हाई स्पीड ट्रेन चली तो लोगों ने उसे बुलेट ट्रेन कहना शुरू कर दिया. जापानी बुलेट ट्रेन नेटवर्क को शिनकासेन कहकर पुकारा जाता है जिसका मतलब नई मेन लाइन है. फिलहाल सबसे तेज बुलेट ट्रेन चीन में है. शंघाई मैग्लेव बुलेट ट्रेन रोजाना यात्रियों के साथ 268 मील प्रति घंटे की रफ्तार दूरी तय करती है.

भारत में 2017 में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने 320 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कोरिडोर की नींव रखी थी, जिसके तहत देश की पहली हाई स्पीड बुलेट ट्रेन चलेगी. इस ट्रेन के अगस्त 2022 तक चलने की उम्मीद है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें