scorecardresearch
 

इंडोनेशिया विमान हादसा: 116 मौतों की आशंका, PM-राहुल ने जताया शोक

इंडोनेशियाई वायुसेना का एक परिवहन विमान मंगलवार को उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद एक शहर के ऊपर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. विमान में आग लग गई और विस्फोट हो गया जिसमें कम से कम 116 लोगों की मौत होने की आशंका है.

Indonesia Indonesia

इंडोनेशियाई वायुसेना का एक परिवहन विमान मंगलवार को उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद एक शहर के ऊपर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. विमान में आग लग गई और विस्फोट हो गया जिसमें कम से कम 116 लोगों की मौत होने की आशंका है.

सुमात्रा द्वीप स्थित 20 लाख की आबादी वाले मेडन शहर पर जलता हुआ हर्क्युलिस सी-130 विमान गिरने से कई इमारतें बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गईं और कारों में आग लग गई. वायुसेना प्रमुख अगुस सुप्रियतना ने बताया कि विमान की सूची के अनुसार विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के समय उसमें 113 व्यक्ति सवार थे जिसमें 12 चालक दल के सदस्य और 101 यात्री थे. उन्हें नहीं लगता कि उसमें से कोई भी जीवित बचा है.

PM और राहुल ने किए ट्वीट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इंडोनेशिया विमान हादसे पर शोक जताया है. प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा कि उनकी संवेदनाएं पीड़ितों के परिजनों के साथ हैं.

वायुसेना प्रमुख ने कहा, 'नहीं, नहीं. कोई भी जीवित नहीं बचा है, मैं अभी तत्काल दुर्घटनास्थल से लौटा हूं.' अभी तक 49 शव निकालकर अस्पताल पहुंचाए जा चुके हैं. मेडल हवाई ठिकाने के प्रवक्ता जहां से विमान ने उड़ान भरी ने कहा कि यात्रियों में कई के सैन्यकर्मियों के परिवार के सदस्य होने का अनुमान है. इस दुर्घटना में अभी तक एक बच्चे की मौत होने की पुष्टि हो गई है.

51 साल पुराना था विमान
स्थानीय खोज एवं बचाव एजेंसी ने भी कहा कि जब 51 साल पुराना विमान एक रिहायशी क्षेत्र के पास जमीन पर गिरा तो जमीन पर तीन लोगों की मौत हो गई. दुर्घटना के बाद व्यापक पैमाने पर राहत और बचाव अभियान शुरू हो गया. दुर्घटनास्थल से शवों को ले जाने के लिए एंबुलेंसें लगाई गईं. वहीं दूसरी ओर घबराए लोगों की भीड़ दुर्घटनास्थल के आस-पास जमा हो गई लेकिन पुलिस ने घेराबंदी कर दी थी.

दुर्घटनास्थल के निकट एक अंतरराष्ट्रीय विद्यालय में कार्यरत नोवी ने बताया कि उन्होंने एक विमान को अपने कार्यालय की खिड़की से बहुत कम ऊंचाई पर उड़ता हुआ देखा जिसके बाद विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. उन्होंने कहा, वह बहुत डरावना दृश्य था. एक अन्य स्थानीय निवासी 26 वर्षीय जनुआर ने कहा कि दुर्घटना के पहले विमान मुश्किल में फंसा लग रहा था. उन्होंने कहा, 'मैंने विमान को हवाईअड्डे की दिशा से देखा और वह पहले ही झुक रहा था, उसके बाद मैंने उसमें से धुआं निकलते देखा.'

स्थानीय पुलिस प्रमुख ने बताया कि शव इमारतों के मलबे और विमान के मलबे से दब गए हैं. इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विदोडो ने दुर्घटना पर दुख जताया और ट्वीट किया, 'परिवारों को धैर्य और शक्ति मिले. कामना करता हूं कि हम आपदा से सुरक्षित रहें.'

सेना के अनुसार विमान ने स्थानीय समय के मुताबिक दोपहर 12:08 मिनट पर हवाई ठिकाने से उड़ान भरी और दो मिनट बाद ही वहां से करीब पांच किलोमीटर की दूरी पर शहर में दुर्घटनाग्रस्त होकर गिर गया. सुप्रियतना ने बताया कि उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद पायलट ने ठिकाने पर वापस लौटने की इजाजत मांगी. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि विमान के इंजन में कुछ खराबी आ गई हो. उन्होंने हालांकि कहा कि विमान बहुत अच्छी स्थिति में था और मेडन पहुंचने से पहले कई जगह रुका था.

(इनपुट: भाषा)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें