scorecardresearch
 

ढाका में बंधक संकट खत्म, PM शेख हसीना बोलीं- ये कैसे मुसलमान हैं जो रमजान में कर रहे हैं हत्या?

बांग्लादेश की राजधानी ढाका के हाई प्रोफाइल गुलशन इलाके के एक एक रेस्टोरेंट पर शुक्रवार रात हथियारबंद आतंकी हमले के बाद कमांडो ऑपरेशन खत्म हो गया है. करीब 12 घंटे तक चला बंधक संकट अब खत्म हो गया है. रेस्टोरेंट से 13 बंधकों को छुड़ा लिया गया है.

बंधकों को बचाने के लिए कमांडो ऑपरेशन बंधकों को बचाने के लिए कमांडो ऑपरेशन

बांग्लादेश की राजधानी ढाका के उच्च सुरक्षा वाले राजनयिक क्षेत्र के एक लोकप्रिय रेस्तरां में बंधक संकट शनिवार को खत्म हो गया. आईएसआईएस के आतंकवादियों के निर्मम हमले में 20 विदेशी नागरिकों की हत्या कर दी गई. बांग्लादेशी कमांडो ने छह आतंकवादियों को भी मार गिराया और एक को जिंदा पकड़ लिया.

 20 विदेशी बंधकों की गला रेतकर हत्या
सैन्य अभियान महानिदेशक ब्रिगेडियर जनरल नईम अशफाक चौधरी ने बताया कि सशस्त्र बलों के नेतृत्व में साझा अभियान शुरू होने से पहले ही आतंकवादियों ने 20 बंधकों की निर्मम हत्या कर दी. जिन लोगों को मौत के घाट उतारा गया उनमें से ज्यादातर का गला काटा गया था. मारे गए सभी 20 बंधक विदेशी नागरिक थे, जिनमें ज्यादा जापानी या इतालवी हैं. मरने वालों में एक भारतीय लड़की भी शामिल है.

पीएम के आदेश के बाद सेना का दखल
चौधरी ने कहा, ‘आर्मी पैरा कमांडो यूनिट-1 ने अभियान का नेतृत्व किया और 13 मिनट के भीतर छह आतंकवादी मारे गए.’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने बंधक संकट खत्म करने के लिए सेना को दखल देने का निर्देश दिया, जिसके बाद ‘ऑपरेशन थंडरबोल्ट’ अभियान शुरू किया गया. शुक्रवार की रात गोलीबारी शुरू होने के बाद दो सीनियर पुलिस अधिकारी मारे गए थे.

पीएम बोलीं- आतंक के खिलाफ सबकुछ करेंगे
चौधरी ने कहा कि होले आर्टिजन बेकरी के परिसर में तलाशी के दौरान इन विदेशी नागरिकों के शव बरामद किए गए. शवों को पोस्टमार्टम और उनकी पहचान की पुष्टि के लिए संयुक्त सैन्य अस्पताल भेजा गया है. बंधक संकट खत्म होने के बाद बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना ने बांग्लादेश से ‘आतंकवादियों और हिंसक चरमपंथियों का सफाया करने’ के लिए सबकुछ करने का संकल्प लिया.

ये लोग किस तरह के मुसलमान हैं?
हसीना ने टेलीविजन पर अपने संबोधन में कहा, ‘यह बहुत भयावह कृत्य है. ये लोग किस तरह के मुसलमान हैं? उनका कोई धर्म नहीं है.’’ आतंकवादियों की मुस्लिम पहचान को लेकर सवाल करते हुए हसीना ने कहा, ‘उन्होंने रमजान की तरावीह (खास नमाज) के असल संदेश का उल्लंघन किया और लोगों की हत्या है. जिस तरह से उन्होंने लोगों की हत्या की वह बर्दाश्त करने लायक नहीं है. उनका कोई धर्म नहीं है...आतंकवाद ही उनका धर्म है।’’ हसीना के साथ सेना प्रमुख जनरल अबू बिलाल मुहम्मद शफीउल हक भी मौजूद थे.

इस्लामिक स्टेट ने अपनी समाचार एजेंसी अमाक के जरिए हमले के करीब चार घंटे बाद इसकी जिम्मेदारी ली. पुलिस की कार्रवाई के दौरान शहर में टीवी पर लाइव प्रसारण रोक दिया गया. आज सभी सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे.

रमजान में कौन मुसलमान हत्याएं करेगा
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि आतंकियों का कोई धर्म नहीं होता. ये आतंकी धर्म के दुश्मन थे. रमजान में कौन मुसलमान हत्या करेगा? हमें ऑपरेशन खत्म करने में कामयाबी मिली. 7 आतंकी हमले में शामिल थे. हमले में करीब 30 पुलिसवाले जख्मी हुए हैं. बहादुरी से लड़ने के लिए हमारे कमांडो का शुक्रिया. विदेशी मीडिया ऐसे किसी आतंकी हमले में मौत की तस्वीरें नहीं दिखाती, लेकिन हमारे यहां टीवी चैनलों में इस तरह की फोटो दिखाने में होड़ सी लग जाती है. इससे बचना चाहिए.

अमेरिकी सांसदों ने ढाका बंधक संकट की निंदा की है. वहीं आईएस की ओर से हमले को लेकर अमेरिका ने फिलहाल पुष्टि होने से इनकार कर दिया. भारत ने भी इस आतंकी हमले की निंदा की है. केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने कहा कि इस घटना का भारत ने संज्ञान लिया है. डिफेंस एक्सपर्ट कमर आगा ने कहा कि इस दुखद घटना के तार पाकिस्तान से भी जुड़ते हैं. आतंकियों को वहां से लगातार मदद मिल रही है.

भारतीय उच्चायोग के सभी कर्मचारी सुरक्षित
राजनयिक क्षेत्र में आतंकी हमला कर रेस्टोरेंट के अंदर करीब 20 लोगों को बंधक बनाया गया है. बंधक बनाए गए लोगों में कई विदेशी बताए जा रहे हैं. इसमें शामिल एक भारतीय राजनयिक के बारे में बताया जा रहा है कि वह सुरक्षित हैं. साथ ही इलाके में पड़ने वाले भारतीय उच्चायोग के सभी कर्मचारी भी सुरक्षित बताए जा रहे हैं. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारतीय उच्चायोग के सभी राजनयिक सुरक्षित हैं और किसी को भी किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है. मंत्रालय इस मामले पर पूरी तरह से नजर बनाए हुए है.

नारेबाजी के साथ आतंकियों ने की अंधाधुंध गोलीबारी
इससे पहले होली आर्टिसन बेकरी में घुसे कम से कम सात हथियारबंद आतंकी और बांग्लादेशी सुरक्षाबलों के बीच भीषण गोलीबारी हुई. गोलीबारी में दो पुलिसकर्मियों सहित चार लोगों की मौत हो गई और करीब 30 लोग घायल हो गए. जानकारी के मुताबिक सभी आतंकी नारे लगाते हुए रेस्टोरेंट में घुसे. स्थानीय समयानुसार रात करीब 9.20 बजे उन सबने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी.

मारे गए इटली के दो नागरिक
इस मशहूर रेस्टोरेंट में राजनयिक और विदेशी नागरिकों का आना जाना लगा रहता है. हमलावरों ने रेस्टोरेंट के अंदर से बम फेंके और रुक-रुककर गोलीबारी की. घटनास्थल के पास थोड़ी-थोड़ी देर में गोली चलने और विस्फोटों की आवाज सुनी गई. इटली के एक टीवी चैनल ने बताया है कि उसके 7 नागरिक भी बंधक बनाए गए हैं. बांग्लादेशी मीडिया के मुताबिक हमले में इटली के दो नागरिक मारे गए हैं.

पीएम कर रही हैं निगरानी, गृह मंत्री ने आपात बैठक बुलाई
मुठभेड़ के दौरान नजदीकी पुलिस थाना बनानी के इंचार्ज सलाहुद्दीन अहमद की मौत हो गई. हमले में मारे गए दूसरे अधिकारी अतिरिक्त पुलिस आयुक्त रबीउल हैं, जिनकी पहचान उनके पहले नाम से की गई है. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना घटना को लेकर सुरक्षा एजेंसियों से संपर्क बनाए हुए हैं. इस बीच बांग्लादेश के गृह मंत्री ने आपात बैठक बुलाई है.

हमलावरों ने किया था ग्रेनेड हमला
ढाका के जिसे इलाके में ये हमला हुआ है वहां पर करीब 34 देशों के दूतावास हैं. आतंकियों की फायरिंग से घायल लोगों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने इलाके को सील कर दिया है. बंधकों में कुछ राजनयिकों के भी होने की आशंका है. स्थानीय मीडिया के मुताबिक आतंकियों की संख्या 20 तक हो सकती है. पुलिसकर्मियों और रैपिड एक्शन बटालियन ने इलाके को घेर रखा है. सुरक्षाबलों को सुरक्षा घेरे से लोगों को अलग करते देखा गया. बम निरोधक दस्ता भी मौके पर पहुंच गया है.

चश्मदीदों ने सुनाई दहशत भरी दास्तां
रेस्टोरेंट का एक कुक किसी तरह बाहर निकल आया. उसने कहा कि रात करीब 8.45 बजे कई हथियारबंद लोग अंदर आए और चीफ शेफ को बंधक बना लिया. फिर उन्होंने कई बम धमाके किए. इसके बाद दहशत फैल गई. चश्मदीदों के मुताबिक उन्होंने सैकड़ों गोलियों चलने की आवाज सुनी. साथ ही ग्रेनेड फेंकने की खबर मिल रही है.

धार्मिक अल्पसंख्यकों की लगातार हत्या जारी
मुस्लिम बहुल देश बांग्लादेश में धार्मिक अल्पसंख्यकों और सेक्यूलर ब्लॉगरों पर इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों की ओर से हमले करने का सिलसिला बदस्तूर जारी है. शनिवार सुबह एक पुजारी पर सात-आठ अपराधियों के एक गिरोह ने हमला किया. वहीं शुक्रवार को ही दिन में एक हिंदू पुजारी और एक बौद्ध नेता की इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने बेरहमी से हत्या कर दी. सात जून को भी पश्चिमी बांग्लादेश में 65 साल के एक हिंदू पुजारी को जान से मार दिया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें