scorecardresearch
 

पेगासस मामला: फ्रांस के राष्ट्रपति ने इजरायल के PM से की बात, रखी ये मांग

फ्रांस (France) के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (President Emmanuel Macron) ने इजरायल (Israel) के प्रधानमंत्री नेफ्टाली बेनेट (Naftali Bennett) से फोन पर बातचीत की है.

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों. (फाइल फोटो) फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राष्ट्रपति मैक्रों के भी संभावित टारगेट में होने की खबर
  • फ्रांस के राष्ट्रपति ने इजरायल के PM से की बात
  •  राष्ट्रपति मैक्रों ने इजरायल के पीएम से कहा- मामले को गंभीरता से लें

फ्रांस (France) के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (President Emmanuel Macron) ने इजरायल (Israel) के प्रधानमंत्री नेफ्टाली बेनेट (Naftali Bennett) से फोन पर बातचीत की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मोरक्को के सुरक्षा बलों द्वारा पेगासस स्पाइवेयर (Pegasus Spyware) के जरिए मैंक्रों के मोबाइल फोन की जासूसी करने के खबरों के बीच यह बातचीत हुई है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक एक वैश्विक मीडिया संघ ने हाल ही में दावा किया था कि पेगासस मालवेयर का इस्तेमाल कर 50,000 से अधिक मोबाइल फोन नंबरों की जासूसी की जा रही है. इस मालवेयर को इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ ग्रुप ने बनाया है. मीडिया संघ के अनुसार मैक्रों और उनकी सरकार के 15 सदस्य जासूसी के संभावित टारगेट में से एक हैं.

इजरायल चैनल 12 ने शनिवार को रिपोर्ट किया था कि राष्ट्रपति मैंक्रों ने पीएम बेनेट को गुरुवार को फोन किया और उनसे कहा कि वह इस बात का भरोसा दिलाएं कि इस मुद्दे को गंभीरता से लिया जा रहा है. इजरायल के पीएम बेनेट ने कहा कि इस मामले के आरोप उनके कार्यकाल से पहले सामने आए हैं. हालांकि उन्होंने भरोसा दिलाया कि इस मामले में उचित कदम उठाया जाएगा और निष्कर्ष पर पहुंचा जाएगा.

इसपर भी क्लिक करें- इजरायली सॉफ्टवेयर Pegasus कैसे करता है ये काम? एक्सपर्ट की क्या है राय
 

मैक्रों ने गुरुवार की शाम नेशनल सिक्योरिटी अर्जेंट मीटिंग बुलाई थी. इस मीटिंग में पेगासस स्पाईवेयर को लेकर चर्चा की गई. वहीं, मोरक्को सरकार ने इन खबरों का खंडन किया है कि देश के सुरक्षा बलों ने फ्रांस के राष्ट्रपति और अन्य लोगों के सेलफोन पर नजर रखने के लिए पेगासस स्पाइवेयर इस्तेमाल नहीं किया. एनसओ ने ग्रुप ने भी इस बात से इनकार किया कि फ्रेंच प्रेसिंडेंट को टारगेट किया गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें