scorecardresearch
 

Pegasus जासूसी: नई लिस्ट में मैक्रों, इमरान समेत 14 विश्व नेताओं के नाम, अमेरिका ने दी ये प्रतिक्रिया

पेगासस (Pegasus Spyware) जासूसी मामले में टैपिंग के टारगेट वाले नामों के लिस्ट लंबी होती जा रही है. विश्व के 14 नेताओं (14 Leaders) से जुड़े नंबर भी इस लिस्ट में शामिल थे. 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान. (फाइल फोटो) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सात पुराने नेताओं के नाम भी शामिल
  • अमेरिका ने कहा, हम सुरक्षा संबंधी चीजों साझा नहीं करते
  • नई लिस्ट में मैक्रों, इमरान समेत 14 विश्व नेताओं के नाम

पेगासस (Pegasus Spyware) जासूसी मामले में टैपिंग के टारगेट वाले नामों के लिस्ट लंबी होती जा रही है. विश्व के 14 नेताओं (14 Leaders) से जुड़े नंबर भी इस लिस्ट में शामिल थे. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan), फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ( Emmanuel Macron) और दक्षिण अफ्रीकी के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा समेत 14 विश्व नेताओं का नाम इस लिस्ट में शामिल होने की बात कही जा रही है. लीक हुए डेटाबेस पर 50,000 नंबरों में से कुछ ऐसे लोग भी शामिल हैं जिनके फोन पेगासस स्पाइवेयर द्वारा हैकिंग के लिए टारगेट पर थे.

मंगलवार को नामों की लिस्ट पर जवाब देते हुए एनएसओ की तरफ से कहा गया कि "कम से कम तीन नाम" की पहचान की गई है, मैक्रों, मोरक्को के राजा मोहम्मद VI और डब्ल्यूएचओ के निदेशक एनएसओ ग्रुप कस्टमर के तौर पर कभी टारगेट पर नहीं थे.

लीक हुए डेटाबेस में फोन नंबरों में मोरक्को के मोहम्मद VI, तीन राष्ट्रपति - फ्रांस के इमैनुएल मैक्रों, इराक के बरहम सालिह और दक्षिण अफ्रीका के सिरिल रामफोसा. इसके अलावा तीन प्रधानमंत्री- पाकिस्तान के इमरान खान, मिस्र के मुस्तफा मदबौली और मोरक्को के साद-एडिन एल ओथमानी का नाम शामिल है जो अभी भी अपने पद पर हैं.

इसपर भी क्लिक करें- Pegasus: 1 व्यक्ति की जासूसी करने का खर्च लगभग 70 लाख रुपये, ऐसे करता ये स्पाईवेयर काम
 
लिस्ट में सात पुराने नेताओं का भी नाम शामिल है, इन लोगों को तब चुना गया था जब ये लोग कार्यभार संभाल रहे थे. इसमें लेबनान के साद हरिरि, युगांडा के रूहाकाना रुगुंडा,अल्जीरिया के नौरेडिन बेडौई और बेल्जियम के चार्ल्स मिशेल शामिल हैं.

अमेरिका की प्रतिक्रिया
पेगासस स्पाईवेयर सर्विलांस पर अमेरिकी दूतावास के प्रवक्ता ने कहा कि हम सुरक्षा प्रोटोकॉल, प्रक्रियाओं या क्षमताओं पर चर्चा नहीं करते हैं. हम अपने कर्मियों के लिए किसी भी खतरे के विशिष्ट विवरण या उन्हें संबोधित करने के लिए हमारे द्वारा उठाए गए कदमों पर टिप्पणी नहीं कर सकते.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें