scorecardresearch
 

Crypto Queen: FBI की टॉप मोस्ट वांटेड लिस्ट में 'क्रिप्टो क्वीन', 1 लाख डॉलर का इनाम

Crypto Queen: रुजा इग्नातोवा मूल रूप से बुल्गारिया की रहने वाली है और पेशे से डॉक्टर थीं. बिटक्वॉइन (Bitcoin) की सफलता को देखने के बाद रुजा ने वनक्वॉइन लॉन्च किया था. रुजा का दावा था कि एक समय में वनक्वॉइन दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी हो जाएगी और लोग इससे कई गुना मुनाफा कमाएंगे.

X
रुजा इग्नातोवा (फाइल फोटो) रुजा इग्नातोवा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रुजा इग्नातोवा पर 32 हजार करोड़ की ठगी का आरोप
  • रुजा इग्नाटोवा पर धोखाधड़ी समेत 8 मामले दर्ज

क्रिप्टोक्वीन नाम से चर्चित रुजा इग्नातोवा को अमेरिका की जांच एजेंसी FBI ने टॉप मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल कर लिया है. रुजा इग्नातोवा पर क्रिप्टोकरेंसी में निवेश के नाम पर 32 हजार करोड़ रुपए ठगने का आरोप है. 

मूल रूप से बुल्गारिया की रहने वाली रुजा इग्नातोवा पेशे से डॉक्टर थीं. बिटक्वॉइन (Bitcoin) की सफलता को देखने के बाद रुजा ने वनक्वॉइन लॉन्च किया था. रुजा का दावा था कि एक समय में वनक्वॉइन दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी हो जाएगी और लोग इससे कई गुना मुनाफा कमाएंगे.

रुजा इग्नाटोवा पर धोखाधड़ी समेत 8 मामले दर्ज हैं. आरोप है रुजा इग्नातोवा की कंपनी ने क्रिप्टोक्यूरेंसी खरीदने के लिए दूसरों को लुभाने के लिए एजेंट्स को कमीशन की पेशकश की थी. रुजा 2017 से फरार हैं. उन्होंने बुल्गारिया से ग्रीस की फ्लाइट की पकड़ी थी. इसके बाद से उनका कुछ पता नहीं है. 

एफबीआई ने रुसा इग्नाटोवा की जानकारी देने वाले को  100,000 डॉलर का इनाम देने का ऐलान किया है. एफबीआई ने रुसा इग्नाटोवा को टॉप मोस्ट वांटेड भगोड़ों की लिस्ट में शामिल किया है. एफबीआई का मानना है कि इस लिस्ट में नाम शामिल करने से रुजा इग्नातोवा को पकड़ने में आम जनता भी मदद कर सकती है. 

रुजा इग्नातोवा पर  'वनकॉइन' क्रिप्टोकरेंसी के जरिए लोगों की कमाई लूटने का आरोप है. रुजा ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी की है. उन्होंने अपने शातिर दिमाग का इस्तेमाल लोगों को ठगने के लिए किया. 
 
Cryptocurrency OneCoin scam

इस घोटाले की शुरुआत 2016 में हुई थी. तब रुजा इग्नातोवा ने वनक्वॉइन को लेकर रुजा इग्नातोवा ने लंदन से लेकर दुबई समेत कई देशों में सेमिनार किए. हर सेमिनार में वह कहती थी कि एक दिन वनक्वॉइन बिटक्वॉइन को पीछे छोड़ देगा. दुनिया भर के कई देशों से वनक्वॉइन में निवेश भी हुआ.  खास बात है कि लोगों ने केवल रुजा की बातों में आकर निवेश किया, वरना वनक्वॉइन के पास वह ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी ही नहीं थी, जिस पर बिटक्वॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी काम करती हैं. रुजा ने वनक्वॉइन को ब्लॉकचेन से जोड़ने की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रहीं.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें