scorecardresearch
 

बांग्लादेश ने कहा, अनुच्छेद 370 हटाना भारत का आंतरिक मामला

बांग्लादेश ने कहा कि अनुच्छेद 370 पर भारत का फैसला उसका आंतरिक मामला है. क्षेत्रीय शांति, स्थिरता और विकास हम सभी देशों की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

कश्मीर मसले पर पाकिस्तान को एक और झटका लगा है. अनुच्छेद 370 पर मोदी सरकार के फैसले को बांग्लादेश ने आंतरिक मसला बताया है. बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने कहा कि अनुच्छेद 370 पर भारत का फैसला उसका आंतरिक मामला है. क्षेत्रीय शांति, स्थिरता और विकास हम सभी देशों की पहली प्राथमिकता है.

इससे पहले फ्रांस ने भी कुछ ऐसा ही बयान दिया. फ्रांसीसी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि मंगलवार को विदेश मंत्री जिन ले ड्रायन की पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से फोन पर बात हुई. कुरैशी ने कश्मीर का मुद्दा उठाया. इस पर फ्रांस ने अपनी पुरानी नीति को दोहराते हुए कहा कि यह मसला दोनों देशों (भारत-पाकिस्तान) के बीच का है. उन्हें परस्पर वार्ता जारी रख कर शांति से यह मसला सुलझाना चाहिए.

भारतीय सरकार ने अभी हाल में जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को समाप्त करते हुए जम्मू कश्मीर को दो अलग भागों में बांट दिया. एक हिस्सा जम्मू-कश्मीर का और दूसरा हिस्सा लद्दाख का है. लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है जबकि जम्मू-कश्मीर विधानसभा के साथ केंद्र शासित के दर्जे में रहेगा. भारत के इस कदम पर पाकिस्तान में बौखलाहट है. उसने दुनिया के कई देशों से संपर्क किया है लेकिन कहीं से समर्थन मिलता नहीं दिखता. सिर्फ चीन ने उसके समर्थन में थोड़ी से हामी भरी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें