scorecardresearch
 

पाकिस्तान को भारी पड़ेगा तालिबान का साथ? अमेरिका बोला- PAK के साथ रिश्तों का रिव्यू करने का वक्त

अमेरिका जल्द ही पाकिस्तान के साथ अपने संबंधों का रिव्यू करने का विचार कर रहा है. दो दशक की जंग खत्म कर अफगानिस्तान से वापस लौटे अमेरिका ने अब इस ओर कदम भी बढ़ा दिए हैं.

पाकिस्तान को झटका देगा अमेरिका (फोटो: इमरान खान) पाकिस्तान को झटका देगा अमेरिका (फोटो: इमरान खान)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पाकिस्तान संग रिश्तों का रिव्यू करेगा अमेरिका
  • PAK के कई हितों में हमारा नुकसान: USA

अफगानिस्तान से वापसी के बाद अमेरिका ने एक बार फिर इस क्षेत्र को लेकर अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के मुताबिक, अमेरिका आने वाले दिनों में पाकिस्तान के साथ अपने रिश्तों का रिव्यू करने जा रहा है. 

अमेरिकी संसद में अफगानिस्तान के मसले पर बहस के दौरान एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि पाकिस्तान के हित के ऐसे कई मामले हैं, जिनका हमारे से विरोध होता है. ऐसे में आने वाले दिनों में इस बात को ज़रूर देखा जाएगा कि पाकिस्तान के साथ किस तरह के संबंध स्थापित किए जाते हैं. 

एंटनी ब्लिंकन के मुताबिक, पाकिस्तान लगातार अफगानिस्तान के मसले में शामिल रहा, तालिबान के लोगों को पनाह देने में भी वह शामिल रहा. जब अमेरिकी संसद में सवाल उठा कि क्या अमेरिका पाकिस्तान के साथ अपने रिश्तों का रिव्यू करेगा, जो अमेरिकी विदेश मंत्री ने हां में जवाब दिया.

एंटनी ब्लिंकन के मुताबिक, पाकिस्तान ने पिछले 20 साल में जिस तरह का रोल प्ले किया और आने वाले वक्त में वह किस भूमिका में होगा, इस सबका रिव्यू किया जाएगा. 

तालिबान का समर्थक है पाकिस्तान

गौरतलब है कि अमेरिका ने 30 अगस्त 2021 को पूरी तरह से काबुल से वापसी कर ली और अपनी 20 साल से जारी इस जंग का अंत किया. अमेरिका ने जब वापसी का ऐलान किया था, तब से ही तालिबान का कब्जा बढ़ रहा था और उसके जाते-जाते पूरा अफगानिस्तान तालिबान के पास था. 

अगर पाकिस्तान की बात करें तो वह लंबे वक्त से खुले तौर पर तालिबान का समर्थन करता आया है, कई तालिबान के नेताओं को उसने पनाह दी और तालिबान के आतंकियों को ट्रेनिंग दी. यही वजह है कि अमेरिका जैसा देश भी अब पाकिस्तान को सख्त रुख से देख रहा है. 

खास बात ये भी है कि जिस ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए अमेरिका ने अफगानिस्तान में एंट्री ली थी, वह आखिरकार पाकिस्तान के एबटाबाद में ही मिला था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें