scorecardresearch
 

तालिबान के पंजशीर 'फतह' के दावे पर सस्पेंस, ताजिकिस्तान में अफगान राजदूत बोले- झड़प हुई लेकिन कब्जा नहीं

तालिबान की ओर से दावा किया गया है कि पंजशीर पर कब्जा कर लिया गया है. तालिबान के एक प्रवक्ता ने रविवार को कहा कि पंजशीर जिला, पुलिस मुख्यालय और सभी दफ्तरों पर कब्जा कर लिया गया है.

तालिबान ने किया पंजशीर पर कब्जे का दावा (फाइल फोटोः एपी) तालिबान ने किया पंजशीर पर कब्जे का दावा (फाइल फोटोः एपी)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तालिबान के एक प्रवक्ता ने किया दावा
  • कहा- सभी दफ्तरों पर हो गया कब्जा

पूरे अफगानिस्तान पर नियंत्रण के बावजूद एक इलाका ऐसा था जो तालिबान के नियंत्रण से बाहर था. तालिबान ने अब उस इलाके पर भी नियंत्रण का दावा किया है. तालिबान की ओर से दावा किया गया है कि पंजशीर पर कब्जा कर लिया गया है. तालिबान के एक प्रवक्ता ने रविवार को कहा कि पंजशीर के हर जिला मुख्यालय, पुलिस मुख्यालय और सभी दफ्तरों पर कब्जा कर लिया गया है.

दूसरी तरफ, ऐसी जानकारियां भी आ रही हैं कि सेंट्रल पंजशीर पर तालिबान का कब्जा हो गया है. जनरल जरात ने फ्रंट को धोखा दिया जिसके बाद तालिबान ने सेंट्रल पंजशीर पर कब्जा कर लिया. पंजशीर रोड पर तालिबान का कब्जा है जबकि घाटी अब भी नॉर्दन फ्रंट के कब्जे में ही है. अहमद मसूद और अमरुल्लाह सालेह पंजशीर घाटी में ही हैं.

पंजशीर पर कब्जे के तालिबान के दावे का नॉर्दन अलायंस की ओर से खंडन कर दिया गया है. नॉर्दन अलायंस का समर्थन कर रहे ताजिकिस्तान में अफगानिस्तान के राजदूत जहीर अघबर ने आजतक से बात करते हुए कहा कि भीषण झड़प हुई है लेकिन वे (तालिबान) यहां (पंजशीर पर) कब्जा नहीं कर पाए हैं.

हालांकि, एक फेसबुक पोस्ट के जरिए नॉर्दन फ्रंट की अगुवाई कर रहे अहमद मसूद ने धार्मिक स्कॉलर्स की ओर से शांति के लिए की गई पेशकश का स्वागत किया है. अहमद मसूद ने कहा है कि अगर तालिबान पंजशीर और अंदराब से अपने लड़ाकों को वापस बुला लेता है तो वे शांति के लिए तैयार हैं. तालिबान ने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जे का दावा किया है लेकिन पंजशीर अब भी उसके लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है.

तालिबान के लड़ाकों को पंजशीर में भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. 'पंजशीर के शेर' अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद के नेतृत्व में नॉर्दन अलायंस के लड़ाकों ने पंजशीर तक पहुंचने के लिए तालिबान की हर कोशिश को नाकाम कर दिया था. तालिबान ने बातचीत से लेकर हमले तक, हर दांव चला लेकिन उसकी हर चाल विफल रही.

तालिबान ने किया था गवर्नर हाउस पर कब्जे का दावा

गौरतलब है कि एक दिन पहले भी तालिबान ने पंजशीर के गवर्नर हाउस पर कब्जे का दावा किया था. पंजशीर पर कब्जे की खुशी में तालिबान लड़ाकों ने देशभर में हवाई फायरिंग भी की थी जिसमें कई लोग मारे गए थे. पंजशीर पर कब्जे के तालिबान के दावे को अहमद मसूद ने खारिज कर दिया था. अहमद मसूद की ओर से दावा किया गया था कि पंजशीर पर उनका नियंत्रण है.

अहमद मसूद ने कहा था कि जिस दिन तालिबान पंजशीर को जीत लेगा, वो घाटी में उनका आखिरी दिन होगा. बता दें कि अफगानिस्तान के स्वघोषित कार्यवाहक राष्ट्रपति अहमद सालेह ने भी पंजशीर में ही शरण ले रखी है. अहमद मसूद के लड़ाकों ने पंजशीर की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाली थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×