scorecardresearch
 

कौन है ये IAS? जिसे DM के पोस्ट से महज 6 दिन में हटा दिया गया

साल 2012 के UPSC एग्जाम के सेकंड टॉपर IAS श्रीराम वेंकिटरमण को एक पत्रकार की हत्या के मामले में विरोध का सामना करना पड़ रहा है. उन्हें हाल ही में अलपुझा जिला कलेक्टर के पद पर अप्वाइंट किया गया था. लेकिन इसके खिलाफ भारी प्रदर्शन होने लगा. फिर सरकार ने अपना फैसला बदल दिया और उन्हें जिला कलेक्टर के पद से हटा दिया गया.

X
IAS श्रीराम वेंकिटरमण को अलपुझा जिला केलक्टर के पद से हटाया गया (Credit-IndiaToday) IAS श्रीराम वेंकिटरमण को अलपुझा जिला केलक्टर के पद से हटाया गया (Credit-IndiaToday)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2012 के UPSC एग्जाम के सेकंड टॉपर हैं IAS श्रीराम
  • श्रीराम ने की है मेडिकल की भी पढ़ाई

केरल के एक IAS को DM के पद से सिर्फ 6 दिन में हटा दिया गया है. असल में 3 साल पहले एक पत्रकार की मौत के मामले में IAS को आरोपी बनाया गया था. इसी वजह से डीएम के पद पर तैनाती होते ही लोगों ने विरोध शुरू कर दिया. आखिर में केरल सरकार ने उन्हें DM के पद से हटा दिया. 

IAS श्रीराम वेंकिटरमण को अलपुझा जिला कलेक्टर बनाए जाने को लेकर जमकर प्रदर्शन हुआ था. इसके बाद केरल सरकार को अपना फैसला बदलना पड़ा है.

आरोप है कि IAS श्रीराम वेंकिटरमण ने नशे में गाड़ी से पत्रकार को टक्कर मार दी थी. एक्सीडेंट में मलयालम अखबार सिराज के ब्यूरो चीफ केएम बशीर की मौत हो गई थी.

3 अगस्त 2019 को हुई इस घटना में IAS श्रीराम वेंकिटरमण को मुख्य आरोपी बनाया गया था. अब हाल ही में उन्हें अलपुझा डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर नियुक्त किया था. लेकिन एक हफ्ते के अंदर ही उन्हें पद से हटा दिया गया.

IAS श्रीराम वेंकिटरमण के खिलाफ पत्रकारों का संगठन, कई मुस्लिम संगठन, यूथ कांग्रेस और कई दूसरे संगठन भी प्रदर्शन कर रहे थे. IAS को अब केरल स्टेट सिविल सप्लाईज कॉरपोरेशन लिमिटेड का जनरल मैनेजर बनाया गया है.

इससे पहले 24 जुलाई को उन्हें डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर नियुक्त किया गया था और उन्होंने 26 जुलाई को ज्वाइन किया था. 1 अगस्त को उन्हें इस पद से हटा दिया गया.

केरल सरकार की तरफ से जारी किए गए ऑर्डर के मुताबिक, 2015 बैच के IAS अफसर V R K Teja Mylavarapu अब अलपुझा डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर का पद संभालेंगे. इससे पहले वह शेड्यूल कास्ट्स डेवलपमेंट डिपार्टमेंट के डायरेक्टर थे.

कैसे हुई थी पत्रकार की मौत
3 अगस्त 2019 को देर रात पार्टी के बाद IAS श्रीराम वेंकिटरमण अपने दोस्त वहा फिरोज के साथ कार से घर लौट रहे थे. यह कार वहा फिरोज की ही थी. IAS फोन पर बात कर रहे थे. इसी दौरान एक्सीडेंट हो गया.

IAS Sriram Venkitaraman

आरोप है कि घटना के बाद जब पुलिसवालों को पता चला कि आरोपी एक IAS ऑफिसर है तो उन्होंने रोड एक्सीडेंट के बाद होने वाले जरूरी मेडिकल टेस्ट में देरी की.

बता दें कि IAS श्रीराम वेंकिटरमण साल 2012 के UPSC एग्जाम के सेकंड टॉपर हैं. उन्होंने मेडिकल की पढ़ाई भी की है.

इससे पहले इडुक्की जिले के देवीकुलम में सब-कलेक्टर के पद पर काम करते हुए IAS श्रीराम वेंकिटरमण ने एक लैंड माफिया पर कार्रवाई की थी. इस दौरान उन्होंने CPI(M) के विधायक के खिलाफ एक्शन लिया था. इस पर खूब विवाद हुआ था. इसके बाद देवीकुलम में अपना कार्यकाल खत्म करने से पहले ही उन्हें ट्रांसफर कर दिया गया था.

साल 2020 में केरल सरकार ने IAS श्रीराम वेंकिटरमण का सस्पेंशन रद्द कर दिया था. इसके बाद IAS श्रीराम को हेल्थ डिपार्टमेंट का ज्वाइंट सेक्रेटरी बना दिया गया था. इस फैसले के खिलाफ भी खूब प्रदर्शन हुआ था.

Report: Shibimol KG

TOPICS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें