scorecardresearch
 

मिस्र में जमीन के नीचे से निकला प्राचीन 'सूर्य मंदिर'! है 4500 साल पुराना

मिस्र की राजधानी काहिरा में पुरातत्व विभाग ने एक सूर्य मंदिर ढूंढ निकाला है. बताया जा रहा है कि यह मंदिर करीब 4500 साल पुराना है. इसके कुछ हिस्सों को तोड़कर प्राचीन मिस्र के 5वें साम्राज्य के छठे राजा ने अपना मंदिर बनवा दिया था. लेकिन अब पुरातत्व विभाग ने दावा किया है कि उन्होंने इस मंदिर के कुछ हिस्सों को ढूंढ निकाला है.

X
King Nyuserre के मंदिर के नीचे से मिला अवशेष (Credit- Egyptian Ministry of Antiquities and Tourism)
King Nyuserre के मंदिर के नीचे से मिला अवशेष (Credit- Egyptian Ministry of Antiquities and Tourism)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • King Nyuserre के मंदिर के नीचे मिले अवशेष
  • बिल्डिंग के अंदर मिट्टी के बर्तन-बियर ग्लास भी मिले

पुरातत्व विभाग ने मिस्र में एक और पुराना सूर्य मंदिर ढूंढ निकाला है. यह 4500 साल पुराना समझा जा रहा है. अवशेषों को देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि कच्ची ईंटों से बना यह बिल्डिंग एक ‘सूर्य मंदिर’ का है जो कि प्राचीन मिस्र के 5वें साम्राज्य (2465 to 2323 BC) का हो सकता है. इससे पहले, पिछले साल भी मिस्त्र में एक सूर्य मंदिर के अवशेष मिले थे. बता दें कि इटली और पोलैंड की ओर से संयुक्त खोज अभियान मिस्त्र में चलाया जा रहा है.

मिस्र के पुरावशेष और पर्यटन मंत्रालय ने इस खोज के बारे में इंस्टाग्राम पर 30 जुलाई को बताया. मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया- यह ज्वाइंट इटालियन-पॉलिश आर्कियोलॉजिकल मिशन है. जो कि King Nyuserre के मंदिर पर काम कर रही है. इस मंदिर के नीचे कच्ची ईंटों की एक बिल्डिंग के अवशेष मिले हैं.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Ministry Tourism & Antiquities (@ministry_tourism_antiquities)

यह मंदिर मिस्र की राजधानी काहिरा के दक्षिणी हिस्से में बसे अबुसीर इलाके से मिला है. यह King Nyuserre के मंदिर के नीचे था.

मंत्रालय की तरफ से आगे कहा गया- यह बिल्डिंग पांचवें साम्राज्य के खोए हुए सूर्य की 4 मंदिरों में से एक हो सकती है जिसका उल्लेख कई ऐतिहासिक किताबों में किया गया है.

Egyptian Ministry of Antiquities and Tourism

मंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि मंदिर की इमारत के कुछ हिस्सों को पांचवें साम्राज्य के छठे शासक pharaoh ने अपने शासन के दौरान धवस्त करवा दिया था. ताकि वह वहां अपना मंदिर बनवा सके.

रिसर्च के दौरान आर्कियोलॉजिकल विभाग के लोगों को बिल्डिंग के अंदर से मिट्टी के कुछ बर्तन और बियर ग्लास भी मिले हैं, जो कि उन्हें उनके रिसर्च में मदद कर सकती है.

जमीन के अंदर से कुछ टिकट भी मिले हैं जिन पर पांचवें साम्राज्य के राजाओं के नाम हैं. फोटो में मंत्रालय ने उन जगहों को भी दिखाया है जहां आर्कियोलॉजिकल विभाग अभी भी काम कर रहा है.

Egyptian Ministry of Antiquities and Tourism

19वीं सदी में भगवान Ra का पहला सूर्य मंदिर मिला था. इसलिए इसे भी एक महत्वपूर्ण खोज माना जा रहा है, जिससे मिस्र के प्राचीन इतिहास को समझने में इतिहासकारों को मदद मिल सकती है. देश में मौजूद इन 6 या 7 मंदिरों में से अब तक 2 को ही खोजा जा सका है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें