scorecardresearch
 

गांधी जयंती: ट्विटर पर ट्रेंड हुआ 'गोडसे जिंदाबाद', वरुण गांधी बोले- यही लोग देश को शर्मसार कर रहे

वरुण गांधी ने ट्वीट किया, भारत हमेशा से आध्यात्मिक महाशक्ति रहा. लेकिन यह महात्मा (महात्मा गांधी) हैं जिन्होंने हमारे राष्ट्र के आध्यात्मिक आधार को अपने अस्तित्व के माध्यम से व्यक्त किया और हमें एक नैतिक अधिकार दिया जो आज भी हमारी सबसे बड़ी ताकत है.

X
फाइल फोटो फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गांधी जयंती पर Twitter पर ट्रेंड हुआ 'गोडसे जिंदाबाद
  • वरुण गांधी ने कहा- भारत हमेशा से आध्यात्मिक महाशक्ति रहा

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने गांधी जयंती के मौके पर सोशल मीडिया पर 'गोडसे जिंदाबाद' के ट्रेंड होने पर नाराजगी जाहिर की है. वरुण गांधी ने कहा कि जो लोग 'गोडसे जिंदाबाद' ट्वीट कर रहे हैं, ये लोग देश को गैर जिम्मेदाराना तरीके से शर्मसार कर रहे हैं. बता दें नाथूराम गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. गोडसे को इसके लिए फांसी की सजा दी गई.  

वरुण गांधी ने ट्वीट किया, भारत हमेशा से आध्यात्मिक महाशक्ति रहा. लेकिन यह महात्मा (महात्मा गांधी) हैं जिन्होंने हमारे राष्ट्र के आध्यात्मिक आधार को अपने अस्तित्व के माध्यम से व्यक्त किया और हमें एक नैतिक अधिकार दिया जो आज भी हमारी सबसे बड़ी ताकत है. 

 


गांधी जयंती पर ट्रेंड हुआ 'गोडसे जिंदाबाद'

2 अक्टूबर का दिन भारत के लिए काफी अहम है. आज ही के दिन 1869 में गुजरात के पोरबंदर में महात्मा गांधी का जन्म हुआ था. 2 अक्टूबर को हर साल गांधी जयंती के रूप में मनाया जाता है. गांधी जयंती के मौके पर ट्विटर पर नाथूराम गोडसे जिंदाबाद ट्रेंड कर रहा है. इस पर 61 हजार से ज्यादा लोग ट्वीट कर चुके हैं. ये लोग नाथूराम गोडसे के समर्थन में ट्वीट कर रहे हैं. हालांकि, सोशल मीडिया पर तमाम लोगों ने इस ट्रेंड की आलोचना भी की. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें