scorecardresearch
 

सुषमा से मिलीं सोनिया, PM के इस्तीफे पर अड़ी BJP

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज से मुलाकात कर कोयला आवंटन के मुद्दे पर संसद में चल रहे गतिरोध को दूर करने का रास्ता निकालने का प्रयास किया लेकिन उनका यह प्रयास उस समय विफल होता दिखा जब भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने दो टूक शब्दों में कहा कि प्रधानमंत्री के इस्तीफे के बाद ही संसद चलेगी.

सुषमा स्वराज सुषमा स्वराज

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज से मुलाकात कर कोयला आवंटन के मुद्दे पर संसद में चल रहे गतिरोध को दूर करने का रास्ता निकालने का प्रयास किया लेकिन उनका यह प्रयास उस समय विफल होता दिखा जब भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने दो टूक शब्दों में कहा कि प्रधानमंत्री के इस्तीफे के बाद ही संसद चलेगी.

सूत्रों के मुताबिक सोनिया ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करने के बाद सुषमा से मुलाकात की और गतिरोध तोड़ने का प्रयास किया. हालांकि सुषमा ने इस मुलाकात में स्पष्ट कर दिया कि पार्टी अपने रुख पर कायम है.

ज्ञात हो कि इस मुद्दे पर हंगामे के चलते संसद में पिछले दो हफ्ते से कार्यवाही नहीं हो रही है. भाजपा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे पर अड़ी हुई है जबकि कांग्रेस ने दो टूक कहा है कि प्रधानमंत्री के इस्तीफे का सवाल ही पैदा नहीं होता.

भाजपा ने प्रधानमंत्री के इस्तीफे के अलावा दो अन्य मांगें भी रखी हैं, जिनमें सभी कोयला ब्लॉक आवंटन रद्द किया जाना और इनकी जांच कराना शामिल है.

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एम. वेंकैया नायडू ने चेन्नई में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जब तक प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इस्तीफा नहीं दे देते तब तक उनकी पार्टी संसद नहीं चलने देगी.

उन्होंने कहा कि जब तक प्रधानमंत्री इस्तीफा नहीं दे देते, सभी कोयला ब्लॉक आवंटन रद्द नहीं किए जाते और निष्पक्ष जांच नहीं कराई जाती तब तक भाजपा इस लड़ाई को सड़कों पर लड़ेगी. नायडू ने कहा कि जब तक प्रधानमंत्री अपना इस्तीफा नहीं दे देते हम संसद की कार्यवाही बाधित करते रहेंगे.

उन्होंने कहा कि इस सरकार को जाना चाहिए क्योंकि उसके राज में एक से बढ़कर एक घोटाले हुए हैं और वह आर्थिक और कृषि के मोर्चे पर भी विफल रही है.

उन्होंने कहा कि जनता अब तय करेगी। इस गतिरोध को दूर करने की जिम्मेदारी सरकार की है. उन्होंने कहा कि भाजपा जनता के समक्ष जाने को तैयार है जबकि कांग्रेस डरी हुई है.

भाजपा प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कोलकाता में कहा कि पार्टी तब तक संसद की कार्यवाही नहीं चलने देगी जब तक कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कोयला ब्लॉक आवंटन के मुद्दे पर इस्तीफा नहीं दे देते. हुसैन ने वामपंथी दलों और समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव की भी आलोचना की. उन्होंने कहा कि ये सभी दिखावे के लिए सरकार का विरोध कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें