scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

राजस्थानः 14 छात्रों ने पॉकेट मनी से तैयार की ई-साइकिल, एक बार चार्ज करने पर चलेगी 25 km

14 स्टूडेंट्स ने महज 8 दिन में बनाई ई-साइकिल
  • 1/5

राजस्थान के बाड़मेर जिले के पॉलिटेक्निक कॉलेज के फाइनल ईयर में पढ़ने वाले 14 स्टूडेंट्स ने महज 8 दिन में अपनी पॉकेट मनी से एक ई-साइकिल बनाई है. इस साइकिल को बनाने का खर्चा 12 हजार रुपये आया है. छात्रों का कहना है कि इसे चलाने का खर्च  20 पैसे प्रति किलोमीटर आएगा. 

14 स्टूडेंट्स ने महज 8 दिन में बनाई ई-साइकिल
  • 2/5

इन दिनों पेट्रोल और डीजल के भाव आसमान छू रहे हैं, ऐसे में यह साइकिल पूरे बाड़मेर में चर्चा का विषय बनी हुई है. एक बार चार्ज करने पर यह साइकिल 25 किलोमीटर चलेगी. इसमें 12 वाट की दो बैटरी के अलावा एक स्पीड कंट्रोलर भी लगा है. 

14 स्टूडेंट्स ने महज 8 दिन में बनाई ई-साइकिल
  • 3/5

इस ई- साइकिल की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें 12 वोल्ट की दो लेड एसिड बैटरी लगी हैं. बैटरी खत्म होने पर इसे पैडल माकर भी आसनी से चलाया जा सकता है. रिसर्च के दौरान एक ई-साइकिल में 15 हजार खर्चा लगने का अनुमान था. जब इस साइकिल को बनाने का काम शुरू किया गया तो 12 हजार रुपये में यह बनकर तैयार हो गई. एक बार चार्ज करने पर इसे 25 किमी. तक आसानी ले जा सकेंगे. 

14 स्टूडेंट्स ने महज 8 दिन में बनाई ई-साइकिल
  • 4/5

साइकिल की सीट के नीचे एक कंट्रोलर लगा हुआ है. जो स्पीड को बढ़ाने- कम करने के साथ स्पीड को कंट्रोल करेगा. बैटरी को चार्ज करने के लिए 7 घंटे का समय लगेगा. दो 12 वाट की बैटरी  के अलावा 250 वाट की मोटर लगी हुई है. कॉलेज में इसका ट्रायल काफी सफल रहा. सभी छात्र अपनी इस कामयाबी से बेहद खुश हैं. 

14 स्टूडेंट्स ने महज 8 दिन में बनाई ई-साइकिल
  • 5/5

इस साइकिल को बनाने में इलेक्ट्रिक एचओडी अमृतलाल जांगिड़ का भी सहयोग रहा है. उन्होंने बताया कि यह साइकिल ईको फ्रेंडली है. इस कोई भी बड़ी आसानी से चला सकता है.