scorecardresearch
 

संजय सिन्हा की कहानी: जानें, खुशहाल शादीशुदा जिंदगी का मूल मंत्र

रविवार छुट्टी का दिन था. कल मेरे पास तीन फोन आए. पहला फोन मेरे उस दोस्त का था जो दिल्ली में ही रहता है. उसने कल की अपनी कहानी मुझे सुनाई. कहा- संजय, आज मैंने पत्नी और बच्चों के साथ नया मकान देखने का कार्यक्रम बनाया था. मैं गाड़ी लेकर मकान देखने निकला भी, सोचा था दोपहर में पत्नी और बच्चों को बाहर कहीं खाना खिला दूंगा और घूम-फिर कर घर लौट जाऊंगा. पर अचानक हमारे एक दोस्त का फोन आ गया कि आज दोपहर में हमें कहीं जाना है. मैंने दोस्त से हां कह दिया. देखें- क्या है ये पूरी कहानी.

Marriage is a part of life and if someone gets a perfect life partner life becomes happy and easy, but many of us does not understand the meaning of marriage. Everybody needs to understand that there are two people in a marriage and if they are they can not be same. Their choice, life, decisions, hearts and brains are different. Today in this episode of Sanjay Sinha Ki Kahani we will tell you the basics of a happy married life. Watch this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें