scorecardresearch
 

Gmail और Outlook यूजर्स सावधान! इस नए ईमेल स्कैम के जरिए हैकर्स यूजर्स को बना रहे हैं शिकार

Email स्कैम्स काफी तेजी से बढ़ रहे हैं. हैकर्स और फ्रॉडस्टर्स नए-नए तरीके से यूजर्स को इस स्कैम का शिकार बना रहे हैं.

Cyber Attack Cyber Attack
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अब लेटेस्ट ईमेल स्कैम में Gmail और Outlook यूजर्स को टारगेट किया जा रहा है
  • इस तरह का पहला स्कैम सबसे पहले जून में स्पॉट किया गया था
  • यूजर्स को किसी अनजान अटैचमेंट्स को भी ओपन करने के लिए नहीं कहा गया है

Email स्कैम्स काफी तेजी से बढ़ रहे हैं. हैकर्स और फ्रॉडस्टर्स नए-नए तरीके से यूजर्स को इस स्कैम का शिकार बना रहे हैं. Email के जरिए स्कैमर्स यूजर्स को मैलेशियस लिंक पर क्लिक करवाते हैं और फिर उनकी पर्सनल जानकारी चुरा लेते हैं. 

अब लेटेस्ट ईमेल स्कैम में Gmail और Outlook यूजर्स को टारगेट किया जा रहा है. ये मेल सुपरमार्केट की ओर से आने का दावा करते हैं और यूजर्स को लिंक पर क्लिक करने पर मजबूर करते हैं. लिंक पर क्लिक करने से यूजर्स अपने पैसे, प्राइवेट डेटा या दोनों को खो सकते हैं.

पॉपुलर ईमेल सर्विस Gmail और Outlook के कस्टमर्स को इन ईमेल्स के जरिए टारगेट किया जाता है. ईमेल में कस्टमर्स को प्राइज का लालच दिया जाता है. इसमें कहा जाता है इन गिफ्ट कार्ड्स के जरिए वो स्टोर्स से खरीदारी कर सकते हैं. 

इन गिफ्ट कार्ड्स को क्लेम करने के लिए स्कैमर्स यूजर्स को शॉर्ट सर्वे में हिस्सा लेने के लिए कहते हैं. यूजर्स जो इन लिंक्स पर क्लिक करते हैं उन्हें एक वेबसाइट पर ले जाया जाता है. लेकिन, सर्वे में भाग लेने पर भी यूजर्स को कुछ नहीं मिलता है. इससे वो अपनी पर्सनल डिटेल्स को खो देते हैं. 

Express UK के अनुसार इस तरह का पहला स्कैम सबसे पहले जून में स्पॉट किया गया था. इसके जरिए स्कैमर्स को यूजर्स के लॉगिन डिटेल्स और बाकी दूसरी जानकारी को हासिल कर लेते हैं. इससे बचने के लिए यूजर्स को किसी भी अनजान मेल में मिले लिंक पर क्लिक करने की सलाह नहीं दी गई है. 

इसके अलावा यूजर्स को किसी अनजान अटैचमेंट्स को भी ओपन करने के लिए नहीं कहा गया है. अनजान वेबसाइट्स पर पर्सनल जानकारी ना दें.  
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें