scorecardresearch
 

सिक्योरिटी एजेंसियों को रास नहीं आ रहा है व्हाट्सएप का नया एन्क्रिप्शन सिस्टम

व्हाट्सएप का नया एंड टु एंड एन्क्रिप्शन सिक्योरिटी एजेंसियों को रास नहीं आ रहा है. एक अधिकारी ने कहा कि इससे खतरा बढ़ने की संभावना है.

X
व्हाट्सएप में एंड टु एंड एन्क्रिप्शन व्हाट्सएप में एंड टु एंड एन्क्रिप्शन

व्हाट्सएप ने चैट्स के लिए एंड टु एंड एन्क्रिप्शन का ऐलान किया है. यानी अब सरकार से लेकर खुद व्हाट्सएप को भी किसी यूजर्स के व्हाट्सएप चैट्स पढ़ने का अख्तियार नहीं है.

ऐसे में सिक्योरिटी एजेंसियों ने व्हाट्सएप के इस एन्क्रिप्शन पर आपत्ति जताई है. उनका मानना है इसका यूज करके ऐंटी नेशनल एलिमेंट्स अपने खतरनाक मंसूबों को अंजाम दे सकते हैं.

आपको बता दें कि व्हाट्सएप के मैसेज, फोटोज और वीडियोज को कंपनी ने 256 बिट सिक्योरिटी से एन्क्रिप्ट करने का ऐलान किया है. इसके बाद अब सिक्योरिटी एजेंसियों को भी इसका एक्सेस मिलना नामुमकिन हो गया है.

एक सिक्योरिटी ऑफिशियल के मुताबिक व्हाट्सएप का यह कदम संभावित सिक्योरिटी थ्रेट है.

सैंद्धांतिक रूप से भारत में अवैध है व्हाट्सएप
आपको बता दें कि भारत में इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलोजी से जुड़े कोई भी ऐसे ऐक्ट नहीं हैं जिनमें किसी प्राइवेट सर्विस को 256-bit एन्क्रिप्शन की परमिशन दी गई हो. ऐसे में जाहिर है इसे अवैध माना जाएगा.

डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम ने 2007 में एक नियम बनाया था जिसके मुताबिक, बिना सरकार के परमिशन के कोई भी प्राइवेट इंटरनेट प्लेयर एन्क्रिप्शन के लिए 40-बिट से ज्यादा का यूज नहीं कर सकता है. गौरतलब है कि व्हाट्सएप में दिया गया एंड टु एंड एन्क्रिप्शन 256 बिट सिक्योर है.

देखना दिलचस्प होगा कि क्या सरकार इसके खिलाफ कोई कदम उठाती है या नहीं. हालांकि हाल ही में सरकार ने व्हाट्सएप के चैट्स डिलीट करने के खिलाफ एक ड्राफ्ट लाया था जिसे भारी हंगामें के बाद हटा लिया गाया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें