scorecardresearch
 

iPhone 13 Review: बोरिंग डिजाइन, लाइटनिंग फास्ट स्पीड और शानदार कैमरा

iPhone 13 Review: इस स्मार्टफोन के डिजाइन को लेकर शायद आपके मन में हो कि ये तो iPhone 12 से ज्यादा अलग नहीं लगता है. लेकिन रिव्यू के बाद हमने पाया है कि परफॉर्मेंस और कैमरा के मामले में शायद ये आपकी राय बदल सकता है.

iPhone 13 iPhone 13
स्टोरी हाइलाइट्स
  • iPhone 13 रिव्यू - दो रियर कैमरे, OLED डिस्प्ले
  • iPhone 13 रिव्यू - डिजाइन में कोई खास बदलाव नहीं.

iPhone 13 सीरीज मार्केट में उपलब्ध हैं. iPhone 13 के PRODUCT Red वेरिएंट को पिछले कुछ समय से प्राइमरी डिवाइस के तौर पर यूज किया है. इस आधार पर आपको इस iPhone 13 के हर पहलूओं के बारे में बताता हूं. जैसे – क्या इस स्मार्टफोन की खासियत है, क्या बुराई है. कहां अच्छा परफॉर्म करता है, कहां ये अपने कंपटीशन में पीछे है वगैरह वगैरह... 

सबसे पहले डिजाइन और बिल्ड क्वॉलिटी की बात कर लें तो मैं पहले भी कह चुका हैं. यहां पर आप कुछ ग्राउंड ब्रेकिंग नोटिस नहीं करेंगे. कैमरा का प्लेसमेंट थोड़ा अलग है, लेकिम मॉड्यूल पहले जैसा ही है. कैमरा मॉड्यूल उभरा हुई है. 

फोन में एल्यूमिनियम का यूज किया गया है और फ्रंट में सिरैमिक शील्ड की प्रोटेक्शन है. फोन को होल्ड करने की फील iPhone 12 जैसी ही है, लेकिन ये थोड़ा इंप्रूव्ड है. ये पहली नजर में आप शायद ही नोटिस कर पाएंगे. यानी अगर पीछे से देखें तो iPhone 12 और iPhone 13 में फर्क आप कैमरा प्लेसमेंट को देख कर ही समझ जाएंगे. 

iPhone 13 के फ्रंट में ऑल स्क्रीन है और नॉच पिछले iPhone के मुकाबले 20% छोटा है. नीचे की तरफ स्पीकर ग्रिल दिए गए हैं. साइड में होम बटन है और दूसरे साइड में वॉल्यूम रॉकर कीज और अलर्ट स्लाइडर. अगर आप पुराना आईफोन यूज कर रहे हैं तो आपको ये बटन्स नए लगेंगे, क्योंकि ये थोड़ा अलग हैं. iPhone 12 के मुकाबले ये ज्यादा अलग नहीं हैं. 

डिस्प्ले की बात करें तो यहां आपको 6.1 इंच की सुपर रेटिना XDR दिया गया है. ये दरअसल ओलेड पैनल है और ये 440ppi की है. 

डिस्प्ले ब्राइट और कलरफुल है और यूज करने में आपको ऐसा लगता है कि आपने जो पैसे दिए हैं उसे जस्टिफाई करता है. हालांकि नॉन ऐपल स्मार्टफोन्स की बात करें तो इस कीमत पर आपको इससे बेहतर डिस्प्ले दूसरे स्मार्टफोन्स में मिल जाते हैं. 

फिट एंड फिनिश से लेकर बिल्ड क्वॉलिटी तक टॉप नॉच है और इसमें कोई दो राय नहीं है. फोन सॉलिड लगता है और मजबूत भी लगता है. ड्रॉप टेस्ट नहीं किया है, इस वजह से ये नहीं बता सकता कि कितनी उंचाई से गिरने पर टूटता है या नहीं टूटता. 

डिस्प्ले स्क्रैच प्रूफ नहीं है, सिरेमैकि शील्ड भले ही है, लेकिन फोन की डिस्प्ले में स्क्रैच पड़ जाते हैं और ये विजिबल भी होते हैं अगर स्क्रीन ऑफ हो तो. ऐसे में सलाह ये है कि आप टेंपर्ड ग्लास लगा कर ही यूज करें. 

डिस्प्ले इनडोर या आउटडोर में भी अच्छा परफॉर्म करता है और धूप में भी आपको कंटेंट पढ़ने में समस्या नहीं होगी. इस बार उम्मीद थी की कंपनी इसमें ऑलवेज ऑन डिस्प्ले देगी, लेकिन ऐसे नहीं है. शायद कंपनी ने ऑलवेज ऑन डिस्प्ले को अलगे साल के लिए रखा है. 

iPhone 13 में A15 Bionic चिपसेट दिया गया है और यही प्रोसेसर iPhone 13 सीरीज के सभी मॉडल्स में दिया गया है. प्रोसेसर फोन को बेहद फास्ट बनाता है और हेवी टास्क भी हैंडल करने के लायक बनाता है. 

iPhone 12 यूज करते हैं तो शायद आप ये नोटिस न कर पाएं कि फोन कितना फास्ट है, लेकिन कुछ दिन बिताने के बाद आप समझ जाएंगे. पुराने आईफोन यूजर्स आराम से नोटिस कर पाएंगे कि फोन काफी फास्ट है और हर तरह के टास्क को बिना किसी लैग या हैंग के हैंडल करता है. 

गेमिंग करते हैं तो यहां भी ये टॉप नॉच परफॉर्म करता है और लगातार गेमिंग कर सकते हैं. दूसरे आम यूज के बारे में बात नहीं करेंगे, क्योंकि आईफोन फास्ट होते हैं और इनका परफॉर्मेंस कमोबेश एक ऐसे लेवल पर है जहां से ये नीचे नहीं जाते हैं. 

भले ही आप एक बार को डिजाइन से बोर हो जाएं, लेकिन परफॉर्मेंस को लेकर आपको इससे कोई शिकायत नहीं होगी. 

परफॉर्मेंस के साथ सॉफ्टवेयर की भी बात करें तो इसमें iOS 15 दिया गया है. iOS 15 में  iOS 14 के मुकाबले ज्यादा  विजुअल चेंज दो देखने को नहीं मिलेगा, लेकिन कुछ खास फीचर्स हैं  जो बड़े काम के हैं. 

फेस आईडी पहले से इंप्रूव्ड और फास्ट बताई जा रही है जो सही भी है. फोन तेजी से अनलॉक होता है, लेकिन शायद iPhone 12 यूजर्स इसे महसूस न कर पाएं. लेकिन फिर से कहूंगा कि पुराने आईफोन यूजर्स इसे महसूस कर पाएंगे. 

iPhone 13 में हालांकि हाई रिफ्रेश रेट का सपोर्ट नहीं दिया गया है जो मुझे लगता है कंपनी को देना चाहिए था. कंपनी ने हाई रिफ्रेश रेट सिर्फ iPhone 13 Pro और iPhone 13 Pro Max में ही दिया है. 

iPhone लॉन्च इवेंट में कंपनी ने कैमरा के बारे में बताने में ज्यादा समय लगताया था. जाहिर हमने भी कैमरे को उसी उम्मीद के साथ टेस्ट किया है. कैमरा में कई बड़े बदलाव किए गए हैं. 

iPhone 13 में दो ही रियर कैमरे दिए गए हैं जैसे iPhone 11 और iPhone 12 में दिए गए थे. लेकिन इस बार लेंस अलग हैं और कुछ हार्डवेयर बेस्ड कैमरा फीचर्स भी हैं जो दिलचस्प हैं. 

सिनेमैटिक मोड फीचर आपको पसंद आएगा. ये एक तरह का बोके इफेक्ट वाला फीचर है जो वीडियो में भी काम करता है. आप कोई वीडियो बना रहे हैं और उसमें कई लोग हैं तो  कैमरा खुद से फोकस शिफ्ट कर लेगा. 

जैसे चार लोग हैं और एक बोल  रहा है तो कैमरा उसपे फोकस करेगा और दूसरे लोग ब्लर हो जाएंगे. इसे देखकर आपको किसी फिल्म के सीन की याद आ सकती है, क्योंकि फिल्मों में इस तरह के फूटेज काफी यूज किए जाते हैं. 

इस फीचर का फायदा आम यूजर्स को तो होगा ही, लेकिन साथ ही फिल्म मेकर्स, कंटेंट क्रिएटर्स या फिर डॉक्यूमेंट्री मेकर्स इसे यूज करके कंटेंट तैयार कर सकते हैं. हालांकि ये उन लोगों के लिए है जो महंगे कैमरे अफोर्ड नहीं कर सकते हैं या फिर ऐसा फोन चाहते हैं जिनमें ये काम हो जाए. 

इसके अलावा कैमरा इंटरफेस के टॉप में स्वाइप करने पर कुछ ऑप्शन्स आएंगे. इमें से मोड चेंज करने का एक ऑप्शन है. यहां चार मोड्स हैं स्टैंडर्ड, रिच कॉन्ट्रास्ट, वाइब्रेंट, वॉर्म और कूल. आप इनमें से एक सेलेक्ट कर सकते हैं. 

सेलेक्ट करने के बाद सभी फोटोज उन्हीं मोड में क्लिक होंगी. ये एक अच्छा फीचर है, क्योंकि इससे आपको फोटोज का रिजल्ट वैसा मिलेगा जैसा आप चाहते हैं. पहले इस तरह का फीचर नहीं था. 

नॉर्मल फोटोज काफी शानदार आती हैं. फोटोज में डिटेल्स की कोई कमी नहीं होती है और कलर्स बिल्कुल वैसे दिखते हैं जैसे वो रियल लाइफ में होते हैं. हालांकि इसके लिए आपको स्टैंडर्ड मोड यूज करना होगा. क्योंकि दूसरे मोड्स पर ट्यूनिंग अलग होती है. 

इनडोर या आउटडोर हर जगह कैमरा अच्छा परफॉर्म करता है. नाइट मोड दिया गया है जो डिसेंट है. कम रौशनी हो तो सिनैमेटिक मोड उतना फाइन रिजल्ट नहीं देगा जितना अच्छी रौशनी में मिलता है. 

वीडियोज की बात करें तो आपको यहां भी कुछ मोड्स मिलते हैं. HD या 4K में वीडियोज रिकॉर्ड कर सकते हैं. कैमरा इंटरफेस से ही आप फ्रेम रेट भी सेलेक्ट कर सकते हैं.  

दोनों कैमरे बड़े हैं और पिछले साल के मुकाबले ज्यादा बेहतर हैं. कैमरे बड़े हैं इस वजह से फोटोज में अच्छी लाइटिंग मिलती है और कॉन्ट्रास्ट भी बैलेंस्ड होता है. शायद यही वजह है कि अब कम रौशनी में भी पहले से बेहतर तस्वीरें क्लिक कर सकते हैं. 

सेल्फी कैमरा में ज्यादा इंप्रूवमेंट नहीं है, क्योंकि यहां पिछले साल वाला ही 12 मेगापिक्सल का लेंस यूज किया गया है. ठीक ठाक सेल्फी क्लिक कर सकते हैं, लेकिन ये बेस्ट इन क्लास तो नहीं ही हैं. 


iPhone 13 की बैटरी लाइफ वाकइ इंप्रूव्ड है. एवरेज यूजर हैं तो इसे फुल चार्ज करके एक दिन आराम से चला सकते हैं. आईफोन यूजर्स की शिकायत होती है कि बैटरी बैकअप नहीं मिलता और ये शिकायत आगे भी रहेगी. क्योंकि इससे आप दो तीन दिन की बैटरी बैकअप नहीं निकाल पाएंगे. 

बैटरी का बॉटम लाइन ये है कि आप iPhone 13 को सुबह चार्ज करते  हैं और पूरे दिन अपना एवरेज यूज करते हैं तो रात को चार्ज करना होगा. अगर नहीं भी करते हैं तो ये सुबह तक चल जाएगा, लेकिन फिर आपको सुबह चार्ज करना होगा. ऐसा नहीं है कि सुबह फोन लेकर  निकल गए. क्योंकि तब बैटरी शायद 5% बची होगी. 

iPhone 13 - बॉटम लाइन 

iPhone 12 यूज करते हैं तो ये आपके लिए स्मार्ट अपग्रेड नहीं है. दूसरी बात ये कि भले ही डिजाइन में कुछ नया न हो, लेकिन परफॉर्मेंस और कैमरा के लिहाज से ये अच्छा फोन है. यहां तक iPhone 13 सीरीज के चारों स्मार्टफोन में ये वाला मॉडल वैल्यू फॉर मनी है. 

Pro मॉडल्स की कुछ चीजों को हटा दें तो कमोबेश वो सबकुछ इसमें दिया गया है जो प्रो मॉडल में है. इसलिए अगर पुराना आईफोन यूज करते हैं और अपग्रेड करना चाहते हैं तो कर सकते हैं.  

आज तक रेटिंग - 8.5/10

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें