scorecardresearch
 

Tokyo Olympics: 'आखिर तक की जीत की कोशिश', देखें हार के बाद और क्या बोलीं बॉक्सर लवलीना

Tokyo Olympics: 'आखिर तक की जीत की कोशिश', देखें हार के बाद और क्या बोलीं बॉक्सर लवलीना

टोक्यो ओलंपिक में आज भारतीय महिला बॉक्सर लवलीना को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा. लवलीना ने आजतक के संवाददाता से खास बातचीत में कहा कि जितना सोचा था उतना तो नहीं हो पाया, लेकिन हां मैं खुश हूं कि एक मेडल मिला. मैं आगे और अच्छे से कोशिश करूंगी कि इंडिया को और मेडल दिला सकूं. आगे लवलीना ने कहा कि जब से मैंने ओलंपिक के बारे में जाना है तब से मैंने बस गोल्ड ही जीतने का मन में ठान लिया था कि मैं टोक्यो ओलंपिक में आऊं और गोल्ड ही जीतूं. मेरी आखिर तक बस यही कोशिश रही कि मैं तुर्की की खिलाड़ी को मारूं और जीतूं. लवलीना ने अपने सफर के बारे में बताया जो बहुत कठिन रहा, कहा कि लोग गांव में बोलते थे कि ये लड़की है तो मेरे मां-बाप ने कुछ गलती की होगी और मैं जब बॉक्सिंग में आई तो भी लोग बहुत बात करते थे. उसके बाद भी मैंने अपनी जिंदगी में बहुत सैक्रिफाइस किया. देखें आगे क्या बोलीं लवलीना.

In the Tokyo Olympics today, Indian women's boxer Lovlina Borgohain lost to Turkey in the semi-final match and bagged a bronze medal. In a special conversation with Aaj Tak correspondent, Lovlina told it did not happen as much as I thought, but yes I am happy that I have secured a bronze medal. I will try my best to give more medals to India. Further, Lovlina said that ever since I came to know about the Olympics, I had decided to win only a gold medal. My only attempt till the end was to beat the turkey player and win the gold. Lovlina told about her journey which was very difficult, said that people used to say in the village that if she is a girl, then her parents must have done some mistake and even when it came to boxing, people used to talk a lot. Even after that, I did a lot of sacrifices in my life. Watch this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें