scorecardresearch
 

टोक्यो ओलंपिक पर संकट के बादल, अब खेल गांव में दो एथलीट कोरोना पॉजिटिव पाए गए

टोक्यो ओलंपिक 2020 की शुरुआत 23 जुलाई से होने वाली है, लेकिन इससे पहले कोरोना वायरस के मामलों ने चिंताएं बढ़ा दी हैं. रविवार को खेल गांव में रह रहे दो एथलीट कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं.

New National Stadium, the main stadium for the Tokyo Olympics (Getty) New National Stadium, the main stadium for the Tokyo Olympics (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टोक्यो ओलंपिक 2020 की शुरुआत 23 जुलाई से होने वाली है
  • खेल गांव में रह रहे दो एथलीट कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं

टोक्यो ओलंपिक 2020 की शुरुआत 23 जुलाई से होने वाली है, लेकिन इससे पहले कोरोना वायरस के मामलों ने चिंताएं बढ़ा दी हैं. रविवार को खेल गांव में रह रहे दो एथलीट कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं. टोक्यो ओलंपिक के आयोजकों ने इस बात की पुष्टि की है. इससे ‌पहले भी शनिवार को इस आयोजन में भाग लेने आए एक अधिकारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे.  

दरअसल, ओलंपिक खेल गांव में रह रहे दो खिलाड़ियों सहित कुल तीन खिलाड़ियों को कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है. यह पहला अवसर है, जब खेल गांव में रह रहे खिलाड़ियों को संक्रमण हुआ है. आयोजकों ने खिलाड़ियों की पहचान उजागर नहीं की है. तीसरा खिलाड़ी खेलों के लिए नामित होटल में ठहरा हुआ है.

आयोजन समिति ने यहां कोविड-19 के पॉजिटिव मामलों की जो सूची जारी की है उसके अनुसार दिन में कुल 10 मामले सामने आए. इनमें खेलों से संबंधित पांच व्यक्ति, एक ठेकेदार और एक पत्रकार भी शामिल है. समिति के रिकॉर्ड के अनुसार खेलों से जुड़े कोविड मामलों की संख्या अब 55 पर पहुंच गई है. आयोजकों ने यह नहीं बताया है कि दोनों संक्रमित खिलाड़ियों को खेल गांव में ही रखा गया है या उन्हें किसी अन्य स्थान पर पृथकवास पर भेजा गया है.

शनिवार को खेल गांव में कोविड-19 के पहला मामला सामने आया था. टोक्यो 2020 के सीईओ तोशीरो मुटो ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा था, 'खेलों के आयोजन में शामिल होने आए एक विदेशी मेहमान की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. संक्रमित मेहमान हवाई अड्डे पर किए गए टेस्ट में उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी, लेकिन शुक्रवार को एथलीट स्थल पर हुए टेस्ट में वह पॉजिटिव पाए गए. कोरोना से संक्रमित इस महेमान को 14 दिनों के लिए आइसोलेट कर दिया है. 

गौरतलब है कि 13 जुलाई को खेल गांव खोला गया था. खेल गांव में खिलाड़ियों की हर दिन कोरोना जांच होगी. ओलंपिक के लिए लगभग 11,000 और 24 अगस्त से शुरू होने वाले पैरालंपिक के लिए लगभग 4,400 एथलीटों के आने की उम्मीद है. कुछ दिनों पहले ही कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते जापान की राजधानी में टोक्यो में आपातकाल लागू कर दिया गया था, जो 22 अगस्त तक लागू रहेगा. 

कोविड-19 महामारी के कारण टोक्यो ओलंपिक बंद दरवाजों के बीच खेला जाएगा. लेकिन दूसरी तरफ इन खेलों को लेकर जापान में विरोध प्रदर्शन भी हो रहे हैं. शनिवार को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC)  के अध्यक्ष थॉमस बाक ने जापानी लोगों से ओलंपिक खेलों के समर्थन की अपील की थी.

बाक ने कहा, 'ओलंपिक खेल हो या कोई और अन्य प्रतियोगिता, कभी भी इनका सौ फीसदी समर्थन नहीं होता. महामारी के दौरान की परिस्थितियों में तो यह चर्चा और ज्यादा अहम तथा और ज्यादा भावनात्मक हो रही है. हम सिर्फ इतना ही कर सकते हैं कि कड़े कोविड उपायों में इन लोगों का भरोसा हासिल करने के लिए इनका ध्यान आकर्षित करने की कोशिश करें.'

इस बीच भारतीय खिलाड़ियों का पहला जत्था भारत से शनिवार को रवाना हुआ और रविवार सुबह टोक्यो पहुंचा. भारत के 90 सदस्यीय दल में तीरंदाज, महिला और पुरुष हॉकी टीम, टेबल टेनिस खिलाड़ी और तैराक भी शामिल हैं. निशानेबाज और मुक्केबाज भी क्रोएशिया और इटली में अपने अभ्यास स्थलों से टोक्यो पहुंच चुके हैं.

ओलंपिक खेल 23 जुलाई से शुरू होंगे, लेकिन इन्हें खाली स्टेडियमों में ही आयोजित किया जाएगा क्योंकि जापान की राजधानी में लगातार वायरस के मामले बढ़ रहे हैं. पिछले कुछ दिनों में यहां प्रतिदिन 1000 से अधिक मामले दर्ज किए जा रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें