scorecardresearch
 

ऑस्ट्रेलिया के होप से होगा विजेंदर सिंह का अगला मुकाबला

भारत के पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह विश्व मुक्केबाजी संगठन (डब्ल्यूबीओ) के एशिया सुपर मिडिलवेट चैम्पियनशिपके मुकाबले में 16 जुलाई को ऑस्ट्रेलिया के कैरी होप के खिलाफ रिंग में उतरेंगे.

भारत के पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह विश्व मुक्केबाजी संगठन (डब्ल्यूबीओ) के एशिया सुपर मिडिलवेट चैम्पियनशिपके मुकाबले में 16 जुलाई को ऑस्ट्रेलिया के कैरी होप के खिलाफ रिंग में उतरेंगे. इस बात की घोषणा सोमवार को की गई. 30 वर्षीय विजेंदर अब तक सभी पेशेवर मुकाबलों में जीत हासिल कर चुके हैं. यह मुकाबला पहले 11 जून को होना था, लेकिन संसाधन संबंध कुछ वजहों से इसे टाल कर 16 जुलाई को कराने का फैसला किया गया. मुकाबला त्यागराज स्टेडियम में होगा.

पूर्व वर्ल्ड नंबर वन बॉक्सर, 2008 ओलम्पिक के कांस्य पदक विजेता और 2009 में वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीतने वाले विजेंदर सिंह के पेशेवर करयिर का यह अभी तक का सबसे कड़ा मुकाबला होगा. उन्हें ललकारने वाले बॉक्सर ऑस्ट्रेलिया के होप के पास 12 साल का बड़ा अनुभव है.

विजेंदर ने कहा, ‘मैं भारत में मुकाबले के लिए उत्साहित हूं. अपने घर में अपने लोगों के सामने रिंग में उतरना मेरे लिए खास मौका होगा. इसलिए मैं आराम नहीं कर रहा हूं और लगतार अभ्यास कर रहा हूं क्योंकि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहता हूं.’

वेल्स में पैदा हुए होप पूर्व मिडिलवेट यूरोपियन चैम्पियन हैं और उन्होंने अपने 30 मुकाबलों में से 23 में जीत हासिल की है. उनके पास 183 राउंड का अनुभव है जोकि विजेंदर से कहीं ज्यादा है. होप ने कहा, ‘वह (विजेंदर) पेशेवर मुक्केबाजी में पिछले एक साल से हैं. इससे पहले उन्होंने ओलम्पिक में पदक भी हासिल किया था और वह विश्व चैम्पियनशिप में भी विजेता रहे थे, लेकिन मैं यह सब पहले से देख चुका हूं. मेरे पास 12 सालों का अनुभव है. मैं जानता हूं कि उन्हें लोगों का समर्थन मिलेगा, लेकिन मुझे मुकाबले में कमजोर बताया जाना पसंद है. दबाव उन पर है, उन्हें ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है.’

होप ने कहा, ‘मैं वर्ल्ड नंबर तीन रह चुका हूं. मैंने उनकी उपलब्धियों के बारे में सुना है, लेकिन वह एम्चेयोर रहते हुए हासिल की गई थीं. पेशेवर मुक्केबाजी में मेरे पास काफी अनुभव है.’

मुकाबले से पहले विजेंदर ने कहा, ‘मैंने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है. मुझे पेशेवर मुक्केबाजी में आए हुए 12 महीने हो गए हैं, इसलिए मेरे पास अनुभव है. समय बताएगा कि 16 जुलाई को क्या होगा, इंतजार कीजिए.’

मुकाबले की प्रायोजक कंपनी भारत की इनफिनिटी ओपटिमल सोल्यूशन (आईओएस) और ब्रिटेन की क्वींसबेरी प्रमोशन ने इस मौके पर कहा कि मुकाबले के टिकटों बिक्री मंगलवार से शुरू हो जाएगी. आईओएस के निर्देशक नीरव तोमर ने कहा, ‘हमें स्टेडियम खचाखच भरा होने की उम्मीद है. टिकट की कीमत 1000 से 15,000 रुपये तक है. यह भारतीय मुक्केबाजी इतिहास में शायद सबसे बड़ा पल है.’ इस मुकाबले का पहला टिकट भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज और विजेंदर के दोस्त वीरेंद्र सहवाग को दिया गया. सहवाग ने मुकाबले के लिए दोनों खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें