scorecardresearch
 

हरियाणा की सम्मी का कमाल, खेल कोटे से सीधे CMP में मिली नियुक्ति

सम्मी को रेलवे में क्लर्क की नौकरी के लिए चयनित किया गया था, लेकिन उन्होंने सीएमपी में सिपाही की नौकरी को चुना. सम्मी ओलंपिक में पदक जीत कर देश का नाम रोशन करना चाहती हैं.

X
Summy Summy
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हिसार की रहने वाली सम्मी ने रचा इतिहास
  • ओलंपिक में मेडल जीतना चाहती हैं सम्मी

हिसार जिले के डाटा गांव की रहने वाली सम्मी ने बड़ी उपलब्घि हासिल की है. सम्मी खेल कोटे से कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस (CMP) में सीधे चयनित होने वाली पहली महिला बन गई हैं. सम्मी ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करना चाहती हैं, जिसके लिए उन्होंने सेना को चुना है. सम्मी ने 21 अप्रैल 2022 को कोर आफ मिलिट्री पुलिस ज्वाइन की.

सम्मी की प्रारंभिक शिक्षा अपने डाटा गांव में हुई. वह शाम को स्थानीय मैदान में दौड़ का भी अभ्यास करती थीं. बाद में रोहतक के एमडीयू यूनिवर्सिटी में खेल का अभ्यास किया. सम्मी इस समय एशियन चैम्पिनशिप की तैयारी में व्यस्त हैं. सम्मी ने अपनी बहन को देखकर साल 2015 में एथलेटिक्स को चुना. खेल के मैदान में कोच नसीब ने सम्मी से कड़ी मेहतन करवाई. सम्मी का सपना है कि वह आगे चलकर ओलंपिक पदक जीत कर देश और राज्य का नाम रोशन करे.

सम्मी के पिता किसान हैं, जबकि मां हाउस वाइफ हैं. सम्मी दो भाई और दो बहनों में तीसरे स्थान पर है. सम्मी की घर की आर्थिक स्थिति उतनी ठीक नहीं है. सम्मी के पिता कुलदीप ने बताया कि उनकी बेटी ने दूध, दही और चूरमाने खाकर शारीरिक रूप से खुद को मजबूत किया और खेलो में अव्वल स्थान हासिल किया.

Sammi Family

उन्होंने कहा, 'सम्मी पंजाब की लवली यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई कर रही है. उसने ओलंपियन नीरज चोपड़ा से प्रेरित होकर उसने आर्मी को चुना ताकि उसे बेहतर खेल सुविधाए मिलें और वह ओलपिक में देश के लिए पदक लाए, जिसके लिए वह लगातार प्रैक्टिस कर रही है.' सम्मी को रेलवे में क्लर्क की नौकरी के लिए चयनित किया गया था, लेकिन उन्होंने सीएमपी में सिपाही की नौकरी को चुना है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें