scorecardresearch
 

IND vs SA, Cape Town Test: 'कोहली-पुजारा बन सकते हैं सिरदर्द...' इस अफ्रीकी क्रिकेटर का बयान

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच केपटाउन में खेला जा रहा है. पहली पारी में 223 रनों पर ढेर होने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने शानदार बॉलिंग कर अपनी टीम की वापसी कराई.

Pujara-Kohli (getty) Pujara-Kohli (getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दूसरी पारी में भारत का लक्ष्य बड़ा स्कोर करने पर 
  • नाबाद बल्लेबाजों कोहली-पुजारा पर होगी जिम्मेदारी 

IND vs SA, Cape Town Test: भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच केपटाउन में खेला जा रहा है. पहली पारी में 223 रनों पर ढेर होने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने शानदार बॉलिंग कर अपनी टीम की वापसी कराई. अब गुरुवार को विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की तिकड़ी पर भारत को बड़े स्कोर तक ले जाने की जिम्मेदारी होगी.

साउथ अफ्रीका के लिए पहली पारी में कीगन पीटरसन ने 166 गेंदों पर 72 रनों की शानदार पारी खेली थी. जिसकी बदौलत ही साउथ अफ्रीकी टीम  210 रन बना पाई. अब पीटरसन ने मैच में साउथ अफ्रीका की संभावनाओं पर बड़ा बयान दिया है. पीटरसन का मानना है कि पुजारा और विराट कोहली तीसरे दिन मेजबान टीम के लिए सिरदर्द बन सकते हैं.

पीटरसन ने दूसरे दिन की समाप्ति के बाद कहा, तीसरे दिन सुबह कुछ जल्दी विकेट लेना काफी अहम रहेगा. जो दो खिलाड़ी क्रीज पर मौजूद हैं, उन्होंने पिछली कुछ पारियों में हमारे लिए सिरदर्द बन गए है. कोहली दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं और उन्होंने बार-बार यह दिखाया है. हां, गुरुवार को अगर हम उनका विकेट जल्दी हासिल कर लेते हैं, तो यह गेम ओपन कर देगा.'

गौरतलब है कि पहली पारी में कोहली ने 201 गेंदों में 79 रनों की बेहतरीन पारी खेली. वहीं पुजारा ने केएल राहुल और मयंक अग्रवाल के जल्दी आउट होने के बाद 77 गेंदों में 43 रनों की पारी खेलकर भारतीय पारी को स्थायित्व प्रदान किया. पीटरसन ने कहा, 'अगर हम भारत की बढ़त को खत्म कर देते और थोड़ी-सी बढ़त हासिल कर लेते तो हमें खुशी होती. हमारा दूसरे दिन के खेल में यही प्लान था.'

भारतीय बॉलर्स की तारीफ करते हुए पीटरसन ने कहा,  'यह भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण बेहद चुनौतीपूर्ण है. यह मेरे पूरे करियर में सबसे चुनौतीपूर्ण है. आपको हर समय अपने मार्क पर फोकस करना होता है, नहीं तो वे आपको एक्सपोज कर देंगे. वे रन बनाने को लेकर आपकी परीक्षा लेते हैं और स्कोरिंग के अधिक अवसर नहीं देते हैं.'

पीटरसन ने आगे बताया, 'उन्होंने हमें बहुत कुछ नहीं दिया है. वे यकीनन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी यूनिट में से एक हैं. हम सीरीज की शुरुआत से पहले ही यह जानते थे कि यह चुनौतीपूर्ण होने जा रहा है, हमें बस इससे निपटने का मौका मिला.'

सीरीज में दूसरी बार शतक से चूकने पर उन्होंने कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो यह कोशिश में कमी नहीं है. यह इस समय बस मुझसे दूर है. हां, मैं करीब आ गया लेकिन वहां नहीं पहुंचकर टीम का मनोबल गिरया. लेकिन मुझे लगता है कि एक दिन जरूर आएगा.' 


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×