scorecardresearch
 

India Today Conclave East: गांगुली बोले- लोग काम निपटाकर देखें मैच, इसलिए लाए डे-नाइट टेस्ट

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट में बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बांग्लादेश के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट के लिए जोर डालने के पीछे की वजह बताई है.

Sourav Ganguly at India Today Conclave East 2019 (Image Credit: Vikram Sharma/India Today) Sourav Ganguly at India Today Conclave East 2019 (Image Credit: Vikram Sharma/India Today)

  • इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट में बोले बोर्ड अध्यक्ष गांगुली
  • गांगुली ने कहा- टेस्ट क्रिकेट की मार्केटिंग जरूरी

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बांग्लादेश के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट के लिए जोर डालने के पीछे की वजह बताई है. उन्होंने कहा कि इसकी एकमात्र वजह 'टाइमिंग' है. क्रिकेट प्रशंसक अपना काम निपटाने के बाद टेस्ट क्रिकेट देखने आ पाएंगे. शुक्रवार को इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट में सौरव गांगुली ने कहा कि बांग्लादेश से ईडन गार्डन्स में पिंक बॉल टेस्ट खेलने का आग्रह करने से पहले उन्होंने विराट कोहली की राय जाननी चाही थी.

भारत डे-नाइट टेस्ट खेलने वाला आखिरी क्रिकेट 'सुपर पावर' रहा. सौरव गांगुली ने बीसीसीआई की कमान संभाली और इसके बाद ही ऐसा संभव हो पाया. पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली ने फैसला किया कि अब समय आ गया है कि विराट ब्रिगेड भी दुनिया की बाकी टीमों की तरह डे-नाइट टेस्ट खेले. गांगुली ने इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट में कहा, 'मुझे लगता है कि विराट कोहली से डे-नाइट टेस्ट पर प्रतिक्रिया हासिल करना बिल्कुल कोई समस्या नहीं थी. वह तुरंत सहमत हो गए थे. वह डे-नाइट टेस्ट के लिए पूरी तरह तैयार थे.'

गांगुली ने कहा, 'टेस्ट क्रिकेट की अच्छी मार्केटिंग जरूरी है. मुझे भी लगता है कि यह समय की मांग है. लोगों के पास सुबह में टेस्ट क्रिकेट देखने का समय नहीं है, यह 'कॉमन सेंस' की बात है.' सौरव गांगुली ने कहा कि उन्हें ईडन गार्डन्स पर बांग्लादेश के खिलाफ हर रोज दर्शकों से भरे स्टैंड की उम्मीद नहीं थी. गांगुली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड जैसी मजबूत टीमों के खिलाफ टेस्ट मैचों के लिए अधिक उत्साह होगा.

उन्होंने यह भी कहा, 'पिंक बॉल टेस्ट पारंपरिक टेस्ट मैचों की जगह नहीं ले सकते, जो सुबह 9.30 बजे शुरू होते हैं.' भारत के खिलाफ सीरीज में ऑस्ट्रेलिया 2 डे-नाइट टेस्ट मैच खेलना चाहता है, इस रिपोर्ट पर भी उन्होंने प्रतिक्रिया जताई. उन्होंने कहा कि 2 गुलाबी गेंद टेस्ट मैच 'थोड़ा ज्यादा' हैं.  गांगुली ने कहा कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से इस बारे में उन्होंने ऐसा कुछ नहीं सुना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें