scorecardresearch
 
साइंस न्यूज़

चीन में मिली 'ड्रैगन मैन' की खोपड़ी, क्या बदल जाएगी इंसानों के विकास की परिभाषा?

Dragon Man China
  • 1/8

चीन में इंसानों का एक नया पूर्वज मिला है. वैज्ञानिक इसका नाम ड्रैगन मैन (Dragon Man) बता रहे हैं. कहा जा रहा है कि इजरायल में मिलने वाले जीवाश्म और ड्रैगन मैन के मिलने के बाद वैज्ञानिकों को इंसानों के क्रमानुगत विकास यानी इवोल्यूशन को फिर से देखना होगा. इन दोनों पूर्वजों को उसमें शामिल करना होगा. ताकि इंसानों की प्रजाति के वंशवृक्ष यानी वंशावली की शाखाओं में ये कहीं जुड़ सकें.  (फोटोःयूरेकाअलर्ट.ओआरजी)

Dragon Man China
  • 2/8

इजरायल के नेशहर रामला में मिले इंसानों के पूर्वजों की खोज के बाद बाद चीन के उत्तर-पूर्वी इलाके में 1.46 लाख साल पुरानी इंसानी खोपड़ी मिली है. इस प्रजाति को होमो लोंगी (Homo Longi) नाम दिया गया है. वैसे इसे ड्रैगन मैन बुलाया जा रहा है. इसकी खोज ने इंसानों की वंशावली में एक नए पूर्वज को जोड़ दिया है. ड्रैगन मैन भी निएंडरथल मानव (Neanderthals) से संबंधित बताया जा रहा है.  (फोटोःगेटी)

Dragon Man China
  • 3/8

ड्रैगन मैन (Dragon Man) की खोपड़ी को चीन के हार्बिन इलाके में खोजा गया है. हार्बिन हर साल अपने यहां होने वाले इंटरनेशनल आइस फेस्टिवल के लिए जाना जाता है. प्लीस्टियोसीन काल (Pleistocene Period) के समय के होमो सैपियंस के साथ ही इन इंसानों का संबंध रहा है. इसे लेकर हाल ही में Cell जर्नल में रिसर्च रिपोर्ट प्रकाशित हुई है.  (फोटोःगेटी)

Dragon Man China
  • 4/8

वैज्ञानिकों का मानना है कि ये अब तक का सबसे सुरक्षित इंसानी जीवाश्म है. इसकी बदौलत वैज्ञानिक 1.46 लाख साल पहले के माहौल को समझ पाएंगे. यह खोपड़ी 23 सेंटीमीटर लंबी और 15 सेंटीमीटर चौड़ी है. यह आधुनिक इंसानों की खोपड़ी से काफी बड़ी है. इसमें इंसानी दिमाग रखने के लिए ज्यादा जगह है. वैज्ञानिकों का मानना है कि यह किसी 50 वर्षीय ड्रैगन मैन की खोपड़ी रही होगी.  (फोटोःगेटी)

Dragon Man China
  • 5/8

इसकी खोपड़ी से शरीर का अंदाजा लगाना भी आसान था. वैज्ञानिकों को लगता है कि यह काफी मजबूत कद-काठी का ड्रैगन मैन रहगा होगा जो भयानक सर्दियों में भी खुद को सर्वाइव कर लेता था. क्योंकि चीन के इस इलाके में लगभग साल भर बर्फ जमी रहती है. ड्रैगन मैन (Dragon Man) के गाल की हड्डियां छोटी थी. इसका मुंह बहुत बड़ा था. जबकि निचला जबड़ा गायब था.  (फोटोःगेटी)
 

Dragon Man China
  • 6/8

हेबेई जियो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और इस खोपड़ी को खोजने वाले साइंटिस्ट जी कियांग कहते हैं कि इसकी खोपड़ी में आधुनिक और प्राचीन इंसानों के मिश्रण है. यह होमो सैपियंस की किसी अन्य बिरादरी का लगता है. लेकिन इसका संबंध निएंडरथल मानव से भी रहा है. जी कियांग ने इसकी खोपड़ी को 95 अन्य प्राचीन खोपड़ियों से मिलाया. डेटा का विश्लेषण किया. इसके बाद कहा कि यह इंसानी वंशावली की नई शाखा है. यानी इंसानों का नया पूर्वज है.  (फोटोःगेटी)

Dragon Man China
  • 7/8

चीन का हार्बिन इलाका 1933 में जापानियों के कब्जे में था. यहां पर बहने वाली सोगहुआ नदी पर ब्रिज बन रहा था. उस समय चीनी मजदूरों ने इस खोपड़ी को जापानियों के हाथ से बचाने के लिए एक कुएं में दफन कर दिया. जो कि 90 साल तक उसी में पड़ा रहा. इस खोपड़ी के बारे में लोगों को तब पता चला जब 2018 में उन मजदूरों में से जीवित एक शख्स ने अपने पोते को यह कहानी सुनाई.  (फोटोःगेटी)

Dragon Man China
  • 8/8

इसके बाद पोते ने कुएं की खुदाई की. उसमें से खोपड़ी निकाल कर हेबेई जियो यूनिवर्सिटी के जियोसाइंस म्यूजियम में दान कर दिया. इसके बाद जी कियांग की टीम ने इस खोपड़ी का जियोकेमिकल एनालिसिस किया. तब पता चला कि यह 1.46 लाख साल पुरानी है. हालांकि यह पता नहीं पाया है कि ड्रैगन मैन (Dragon Man) चीन के किस इलाके में रहता था. (फोटोःगेटी)