scorecardresearch
 

Shani Asta 2022: अस्त हुए शनि, 33 दिन फूंक-फूककर कदम रखें इन 3 राशियों के लोग

जब भी कोई भी ग्रह अस्त होता है तो जीवन में बड़े बदलाव होते हैं. अस्त होने वाले ग्रह का प्रभाव जातक की कुंडली की स्थिति पर निर्भर करता है. ज्योतिर्विद प्रवीण मिश्र के मुताबिक, अस्त शनि से कन्या, तुला और धनु राशि के जातकों को सबसे ज्यादा संभलकर रहने की जरूरत है.

X
Shani Asta 2022: अस्त हुए शनि, 33 दिन फूंक-फूककर कदम रखें इन 3 राशियों के लोग Shani Asta 2022: अस्त हुए शनि, 33 दिन फूंक-फूककर कदम रखें इन 3 राशियों के लोग
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शनि पूरे 33 दिन तक अस्त रहने वाले हैं
  • तीन राशि वालों को बहुत ज्यादा संभलकर रहने की सलाह

सूर्य पुत्र शनि 22 जनवरी 2022 को अस्त हो चुके हैं और 24 फरवरी 2022 तक अस्त रहेंगे. शनि पूरे 33 दिन तक अस्त रहने वाले हैं. जब भी कोई भी ग्रह अस्त होता है तो जीवन में बड़े बदलाव होते हैं. अस्त होने वाले ग्रह का प्रभाव जातक की कुंडली की स्थिति पर निर्भर करता है. ज्योतिर्विद प्रवीण मिश्र के मुताबिक, अस्त शनि से कन्या, तुला और धनु राशि के जातकों को सबसे ज्यादा संभलकर रहने की जरूरत है. आइए जानते हैं कि शनि के अस्त होने से सभी राशियों पर कैसा प्रभाव पड़ेगा.

मेष- शनि देव मेष राशि से 10वें घर में विराजमान हैं. मेष राशि वालों के लिए 10वां घर कर्म स्थान है. शनि के अस्त होने से जिन लोगों के कार्य तेजी से हो रहे थे, उनकी गति अब कम हो जाएगी. इस राशि के जातकों को धैर्य रखना होगा और पूरी मेहनत व लगन के साथ कार्य करने होंगे. हालांकि परिवार से सहयोग और तरक्की के अवसर प्राप्त होंगे.

वृष- शनि देव वृष राशि से नौवें घर में विराजमान हैं. 9वें घर में सूर्य, बुध और राहु भी साथ में विराजमान हैं. हालांकि वृषभ राशि वालों को राहु परेशान नहीं करेंगे. टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में सफलता मिलेगी. कार्यों की गति पर ब्रेक लगेगा, लेकिन सभी काम पूरे होंगे. हालांकि कोई बड़ा समझौता करने में इस राशि के जातकों को अंजान लोगों से सावधान रहना है.

मिथुन- शनि देव मिथुन राशि से आठवें घर में बैठे हुए हैं. दोस्तों-रिश्तेदारों के साथ संबंध ना बिगाड़ें. विवादों में पड़ने से कार्यों में रुकावट आ सकती है. करियर की स्थिति अच्छी रहेगी. मेहनत का फल मिलता रहेगा. प्रत्येक बुधवार के दिन गाय को हरा घास या चारा खिलाने से लाभ होगा.

कर्क- कर्क राशि से सातवें घर में शनिदेव बैठे हुए हैं. सातवें घर में अस्त शनि साझेदारी के व्यापार को प्रभावित कर सकता है. व्यापार में मिल रहे लाभ में कमी आ सकती है. रूद्राक्ष की माला से प्रतिदिन 'ओम नम: शिवाय'  मंत्र का जाप करने से आपको बहुत लाभ होगा. शनि भगवान शिव के परम भक्त थे, इसलिए ऐसा करने से आपकी चिंताएं कम हो सकती हैं.

सिंह- सिंह राशि से छठे घर में शनि विराजमान हैं. सिंह राशि वालों पर शनि के अस्त होने का कोई खास प्रभाव नहीं पड़ेगा. रोग दूर होंगे. अधूरे पड़े कार्य भी पूरे होंगे. सरकारी कार्य पूरे होंगे. लीडरशिप क्वालिटी में निखार आएगा. सूर्य देव का नियमित पूजन को अधिक लाभ देगा. प्रतिदिन स्नान के बाद भगवान सूर्य नारायण को अर्घ्य दें.

कन्या- कन्या राशि से पांचवें स्थान पर शनि अस्त हो चुके हैं. आपकी योजनाएं लड़खड़ा सकती हैं. हालांकि घबराने की बजाए अपने कार्यों को धैर्य के साथ करते रहें. शॉर्टकट से धन कमाने वालों की दिक्कत बढ़ सकती है. बच्चों के साथ व्यवहार और शिक्षा को लेकर चिंता में पड़ सकते हैं. बुधवार के दिन 8 गरीबों को हरे रंग के फल का दान करने से लाभ होगा.

तुला- तुला राशि से चौथे भाव में शनि देव अस्त हुए हैं. घर-परिवार में कलह बुरे परिणाम देगा. जल्दबाजी से नुकसान हो सकता है. वाणी दोष से संभलकर रहना होगा. हालांकि कार्यक्षेत्र में सफलता के योग भी होंगे. शुक्रवार के दिन 8 गरीबों को खीर का दान करने से लाभ मिलेगा.

वृश्चिक- तुला राशि से तीसरे भाव में शनि विराजमाम हैं. इस राशि के जातकों का पराक्रम बढ़ेगा. कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी. अधिक सक्रिय रहकर काम करने की आवश्यकता है. बड़े मामलों में सोच-समझकर ही फैसला लें. लड़ाई-झगड़े या कोर्ट-कचहरी के मामलों में संभलकर रहने की आवश्यकता है. स्वास्थ्य पर भी थोड़ा ध्यान देना होगा. मंगलवार के दिन हनुमान को लाल रंग के प्रसाद का भोग लगाएं.

धनु- धनु राशि से दूसरे घर में शनि विराजमान हैं. धनु राशि के जातकों को इस दौरान प्रॉपर्टी के मामलें में कोई बड़ा फैसला नहीं लेना चाहिए. 24 फरवरी के बाद ही किसी प्रॉपर्टी संबंधी मामलों में कदम रखें. वाहन खरीदने के लिए भी समय सही नहीं है. महंगे सौदों से बचें. अहंकार करने से नुकसान उठाना पड़ सकता है. मेहनत से किए कार्यों में सफलता मिलेगी. प्रतिदिन 'ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः' का तुलसी की माला से 108 बार जाप करने से लाभ होगा.

मकर- शनि इस वक्त मकर राशि में ही बैठे हुए हैं. इस राशि के जातकों को अपने कार्य सोच-समझकर आगे बढ़ाने होंगे. जल्दबाजी करने से बचें और धैर्य रखें. स्वास्थ्य का ख्याल रखें. आर्थिक मामलों में बड़ा निर्णय लेने से पहले कुछ दिन रुक जाएं. शनिवार के दिन सुंदर कांड का पाठ करें और 8 गरीबों में भोजन दान करें.

कुंभ- कुंभ राशि वालों को अस्त शनि से परेशान होने की बिल्कुल जरूरत नहीं है. हालांकि व्यापारिक मामलों में बड़े निर्णय लेने से बचना है. शुभचिंतकों की सलाह लेने के बाद ही कोई बड़ा फैसला करें. नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करने से आपकी चिंताएं कम हो सकती हैं.

मीन- मीन राशि वाले अपने खर्चों पर नियंत्रण रखें. इस अवधि में कोई शुभ समाचार भी प्राप्त हो सकता है. मान-सम्मान भी बढ़ेगा. आमदनी बढ़ेगी. स्वास्थ्य पर ध्यान देने की जरूरत है. शनि की स्थिति आपके लिए पहले जैसी ही रहेगी. इसलिए बहुत घबराने की जरूरत नहीं है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें