scorecardresearch
 

Surya Grahan 2022: इस खास नक्षत्र में लगने जा रहा है साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें

Surya Grahan 2022: सूर्य ग्रहण का हिंदू धर्म में विशेष महत्व माना गया है. हालाँकि सूर्य ग्रहण को शुभ नहीं माना जाता है. आज सूर्य ग्रहण के साथ ही शनि अमावस्या भी है.

X
Solar Eclipse April 2022 Solar Eclipse April 2022
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत में नहीं दिखाई देगा साल का पहला सूर्य ग्रहण
  • यह सूर्य ग्रहण आंशिक होगा
  • भारत में मान्य नहीं होगा सूतक काल

Surya Grahan 2022: आज साल का पहला सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है. किसी भी तरह के ग्रहण को धार्मिक और वैज्ञानिक रूप से काफी खास माना जाता है. धार्मिक दृष्टि से ग्रहण को अशुभ माना जाता है. इसका प्रभाव सभी लोगों पर नकारात्मक रूप से पड़ता है. बता दें कि आज लगने वाला यह सूर्य ग्रहण आंशिक होगा. सूर्य ग्रहण के साथ ही आज शनि अमावस्या भी है. यह सूर्य ग्रहण 30 अप्रैल 2022 यानी आज मध्य रात्रि 12 बजकर 15 मिनट से शुरू होगा और 1 मई 2022 को सुबह 4 बजकर 7 मिनट पर खत्म होगा. यह सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका, पश्चिमी अमेरिका, अटलांटिक पेसिफिक और अंटार्कटिका में दिखाई देगा. भारत में इस सूर्य ग्रहण का सूतक काल मान्य नहीं होगा.

किस राशि और नक्षत्र में लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण

ग्रहों और नक्षत्रों का किसी भी व्यक्ति के जीवन में काफी महत्व होता है. ग्रहों और नक्षत्रों में परिवर्तन से ही किसी व्यक्ति के जीवन में परिवर्तन आता है. सूर्य ग्रहण जैसी बड़ी घटना का किसी विशेष नक्षत्र में घटित होना, उस नक्षत्र के लोगों के लिए बहुत महत्व रखता है. हिन्दू पंचांग के अनुसार,  पहला सूर्य ग्रहण वैशाख अमावस्या में मेष राशि और भरणी नक्षत्र में लगेगा.  ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह आंशिक सूर्य ग्रहण होगा. 

आइए जानते हैं भरणी नक्षत्र से जुड़ी कुछ रोचक बातें

- भरणी नक्षत्र के स्वामी शुक्र ग्रह है.

- यमराज को इस नक्षत्र का देवता माना जाता है.

- इस नक्षत्र में जन्मे लोगों का स्वभाव और व्यक्तित्व काफी आकर्षक होता है. 

- इस नक्षत्र में जन्मे लोग काफी साहसी, रोमांचक और जोखिम उठाने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. 

- इस नक्षत्र में जन्मे लोगों को  सामाजिक प्रतिष्ठा और अपने मान-सम्मान की काफी चिंता होती है. 

- इस नक्षत्र में जन्मे लोगों का स्वभाव व्यवहारिक और मिलनसार होता है, जिसकी मदद से ये लोगों के बीच काफी लोकप्रिय होते हैं. 

सूर्य ग्रहण पर बच्चे जरूर बरतें ये सावधानी

- सूर्य ग्रहण को कभी भी नंगी आंखों से नहीं देखना चाहिए. इसे देखने के लिए चश्मे या दूरबीन का इस्तेमाल करें. 

- माता-पिता और बड़े बुजुर्गों को बच्चों को ग्रहण का महत्व और उनका हमारे स्वास्थ्य और आंखों पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में समझाना चाहिए. 

- अगर आपका बच्चा सूर्य ग्रहण देखने की जिद कर रहा है तो इसके लिए यूवी फिल्टर वाले चश्मे का ही इस्तेमाल करें. 
 

सूर्य ग्रहण 2022 का स्वास्थ्य पर पड़ने वाला असर

माना जाता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान आपकी सेहत पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है, आइए जानते हैं उन प्रभावों के बारे में- 

थकान और सुस्ती- आध्यात्मिक मान्यताओं के अनुसार, सूर्य ग्रहण के दौरान व्यक्ति को काफी थकान और सुस्ती महसूस होती है. इस दौरान व्यक्ति के मूड पर बुरा असर पड़ता है. ऐसे में कोई भी बड़ा निर्णय लेने से बचना चाहिए. 

गर्भवती महिलाओं पर प्रभाव- माना जाता है कि सूर्य ग्रहण का प्रभाव गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ता है. ऐसे में गर्भवती महिलाओं को सूर्य ग्रहण को देखने या ग्रहण के दौरान बाहर निकलने से मना किया जाता है. माना जाता है कि इससे बच्चे को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. 

आंखों की समस्या- सूर्य ग्रहण को कभी भी नंगी आंखों से नहीं देखना चाहिए वरना इसका आपकी आंखों पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है. ग्रहण को देखते समय हमेशा खास चश्मे का इस्तेमाल करना चाहिए. 

बता दें कि  इन सभी तथ्यों का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें