scorecardresearch
 

Ram Navami 2022: रामनवमी पर बन रहे त्रिवेणी योग में घर ले आएं ये 5 चीजें, भरे रहेंगे धन के भंडार

रामनवमी पर इस वर्ष 24 घंटे का रवि पुष्य योग रहेगा जो रविवार, 10 अप्रैल को सूर्योदय के साथ शुरू होकर अगले दिन सूर्योदय तक रहेगा. ऐसे में प्रॉपर्टी में निवेश या नई चीजों की खरीदारी बहुत ही शुभ मानी जाती है.

X
Ram Navami 2022: रामनवमी पर बन रहा त्रिवेणी योग में घर ले आएं ये 5 चीजें, भरेंगे धन के खाली भंडार Ram Navami 2022: रामनवमी पर बन रहा त्रिवेणी योग में घर ले आएं ये 5 चीजें, भरेंगे धन के खाली भंडार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रामनवमी पर 24 घंटे का रवि पुष्य योग
  • रामनवमी पर बन रहे त्रिवेणी संयोग में खरीदारी शुभ

राम नवमी पर इस बार रवि पुष्य योग, सर्वार्थसिद्धि योग और रवि योग के निर्माण से त्रिवेणी संयोग बन रहा है. रामनवमी पर इस वर्ष 24 घंटे का रवि पुष्य योग रहेगा जो रविवार, 10 अप्रैल को सूर्योदय के साथ शुरू होकर अगले दिन सूर्योदय तक रहने वाला है. इस अवधि में प्रॉपर्टी में निवेश या नई चीजों की खरीदारी बहुत ही शुभ मानी जाती है. आइए जानते हैं कि रामनवमी पर बन रहे त्रिवेणी योग में कौन सी चीजें खरीदकर घर लाना आपके लिए अच्छा रहेगा.

चांदी का हाथी
रामनवमी पर बन रहे त्रिवेणी योग में घर एक छोटा सा चंदी का हाथी ले आएं. इससे राहु और केतु का बुरा प्रभाव समाप्त होता है. साथ ही व्यक्ति के नौकरी-व्यापार में तरक्की होती है. हाथी रखने से घर में शांति तथा सुख समृद्धि बनी रहती है. 

पीतल या कांसे का कछुआ
इस शुभ मुहूर्त में आप एक धातु का कछुआ भी घर ला सकते हैं. मिट्टी या लकड़ी के कछुए लाकर घर में रखना शुभ नहीं होता है. चांदी, पीतल या कांसे की धातु से बना कछुआ ला सकते हैं. इसे उत्तर दिशा में रखने से नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती है और घर में सुख समृद्धि आती है.

गोमती चक्र
साधारण पत्थर की तरह दिखने वाला गोमती चक्र चमत्कारिक होता है. गोमती नदी में मिलने के कारण इसे गोमती चक्र कहते हैं. गोमती चक्र के घर में होने से व्यक्ति के ऊपर किसी भी प्रकार की शत्रु बाधा नहीं रहती है. इसे सिंदूर की डिब्बी में रखना चाहिए. 11 गोमती चक्र लेकर उसे पीले वस्त्रों में लपेटकर तिजोरी में रखने से बरकत बनी रहती है.

छोटा सा नारियल
आप घर में एक लघु नारियल लाकर इसे तिजोरी या मंदिर में रख सकते हैं. लघु नारियल के अन्य भी कई प्रयोग हैं. इसके घर में रखे होने से धन तथा समृद्धि बरकरार रहती है. 

स्वास्तिक
स्वास्तिक का चित्र घर में रखने से हर मनोकामना पूरी होती है. पुराणों में स्वास्तिक को मां लक्ष्मी और गणपति का प्रतीक माना गया है. स्वास्तिक संस्कृत के 'सु' और 'अस्ति' से मिलकर बना हुआ है, जिसका अर्थ होता है, 'शुभ'. स्वास्तिक से परिवार, धन, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं खत्म होती हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें