scorecardresearch
 

हस्तरेखा: आपकी किस्मत में भी है सपनों का आशियाना? हाथ के ये निशान देते हैं संकेत

हस्तरेखा शास्त्र ( Hast Sekha) के अनुसार किसी भी व्यक्ति के हाथ की रेखाओं से पता लगाया जा सकता है कि व्यक्ति का अपना घर यानी सपनों का मकान बनेगा या नहीं. यदि किस्मत में अपना मकान है तो यह स्थिति कब बनेगी. आइए जानते हैं हथेली के कौन से निशानों से अपने घर-मकान के संकेत मिलते हैं.

Palmistry, Hast Rekha Shastra: हस्त रेखा Palmistry, Hast Rekha Shastra: हस्त रेखा

हस्त रेखा विज्ञान (Palmistry Lines or Palm Reading Science): अपना मकान होना हर अमीर और गरीब व्यक्ति का सपना होता है. घर छोटा हो या बड़ा लेकिन अपना होना महत्वपूर्ण है. अपने घर या मकान में व्यक्ति निश्चिंत होकर परिवार के साथ जीवन व्यतीत करता है. एक तरफ अपना मकान होने से जहां बार-बार किराया देने की झंझट से मुक्ति मिलती है तो वहीं अपने अनुसार व्यवस्थित करने की सुविधा भी होती है. 

हस्तरेखा शास्त्र ( Hast Sekha) के अनुसार किसी भी व्यक्ति के हाथ की रेखाओं से पता लगाया जा सकता है कि व्यक्ति का अपना घर यानी सपनों का मकान बनेगा या नहीं. यदि किस्मत में अपना मकान है तो यह स्थिति कब बनेगी. आइए जानते हैं हथेली के कौन से निशानों से अपने घर-मकान के संकेत मिलते हैं.

देखें: आजतक LIVE TV 
 

> भूमि का ग्रह होता है मंगल. हस्तरेखा में मंगल के क्षेत्र से भूमि और भवन का पता चलता है. यदि मंगल का क्षेत्र ऊंचा है तो बड़े घर की प्राप्ति होती है. मंगल और शुक्र पर्वत का क्षेत्र बड़ा होना भवन प्राप्ति का एक बहुत बढ़िया संकेत होता है. 

Hast Rekha Shastra In Hindi

> मंगल और शुक्र के क्षेत्र या पर्वत के ऊपर किसी रेखा के होने से व्यक्ति को अपनी मेहनत द्वारा निर्मित सुख सुविधाओं से युक्त भवन की प्राप्ति होती है.

> मंगल और शुक्र का क्षेत्र या पर्वत मज़बूत हो तो भी व्यक्ति अपने ही पराक्रम और महिला द्वारा अपना ख़ुद का घर बनाता है.

> मंगल और शुक्र का क्षेत्र या पर्वत से कोई रेखा भाग्य रेखा तक जाए तो ऐसे व्यक्ति के पास अपना बंगला या महलनुमा भवन होता है. जिसमें ख़ूबसूरत बगीचा या जलाशय भी होता है. 

> मंगल और शुक्र का क्षेत्रीय पर्वत और चंद्रमा और शनि का क्षेत्र या पर्वत विकसित हो तो ऐसे व्यक्ति का भवन दूसरों से अलग होता है. साज सज्जा से युक्त एवं आकर्षक होता है.

> मंगल और शुक्र का क्षेत्र या पर्वत और चंद्रमा और शनि का क्षेत्र या पर्वत विकसित हो और इनमें से कोई रेखा भाग्य रेखा या जीवन रेखा तक जाए तो ऐसे में निर्मित भवन की प्राप्ति होने के योग होते हैं.

> यदि व्यक्ति की हथेली की कोई रेखा मंगल या चंद्रमा तक जाती है, तो व्यक्ति पैतृक संपत्ति का अधिकारी होता है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें